Search

प्लेसमेंट के दौरान कॉलेज स्टूडेंट्स भूलकर भी न पूछें ऐसे प्रश्न

जब इंटरव्यू के आखिर में इंटरव्यूअर कैंडिडेट्स से पूछते हैं कि क्या आप कुछ पूछना चाहते हैं?...तो अधिकांश स्टूडेंट्स ऐसे प्रश्न पूछ बैठते हैं जो उन्हें अपने इंटरव्यू के दौरान कभी भी अपने इंटरव्यूअर से नहीं पूछने चाहिये. इसलिये, इस आर्टिकल में हमने आपके सामने कुछ ऐसे प्रश्नों का विवरण पेश किया है जो आपको कभी भी अपने प्लेसमेंट इंटरव्यू के दौरान नहीं पूछने चाहिए.

Mar 28, 2018 14:39 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Questions You Should Never Ask In An Interview
Questions You Should Never Ask In An Interview

आजकल कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए इंटरव्यू देना कोई नई बात नहीं रही. कॉलेज में प्लेसमेंट सीजन से पहले ही कॉलेज स्टूडेंट्स को इंटरव्यू देने की अच्छी प्रैक्टिस हो जाती है क्योंकि अच्छी इंटर्नशिप प्राप्त करने के लिए भी उन्हें इंटरव्यू देने पड़ते हैं. कॉलेज स्टूडेंट्स को इंटरव्यू के लिए ड्रेस कोड, शारीरिक हाव-भाव, रिज्यूम और ऐसी कई बातों का बहुत अच्छी तरह पता होता है. इंटरव्यू के दौरान अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों जैसे, ‘आपकी ताकतें और कमजोरियां कौन-कौन सी हैं ?’ ...का जवाब भी वे बहुत अच्छी तरह दे सकते हैं.

यद्यपि, जब इंटरव्यू के आखिर में इंटरव्यूअर कैंडिडेट्स से पूछते हैं कि क्या आप कुछ पूछना चाहते हैं?...तो अधिकांश स्टूडेंट्स ऐसे प्रश्न पूछ बैठते हैं जो उन्हें अपने इंटरव्यू के दौरान कभी भी अपने इंटरव्यूअर से नहीं पूछने चाहिये. बहुत बार कोई गलत प्रश्न पूछ बैठने से उम्मीदवार एक अच्छी नौकरी प्राप्त करने का मौका खो देते हैं. अगर आपको कोई प्रश्न पूछने का अवसर मिल ही जाए तो आप कंपनी, कंपनी के वर्क कल्चर और अपने भावी कार्यों और जिम्मेदारियों आदि के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. लेकिन आप यह बात कभी न भूलें कि अभी आपका इंटरव्यू चल रहा है और इंटरव्यूअर आपको जज कर रहे हैं. इसलिये, इंटरव्यू के दौरान आप बहुत सोच-समझ कर ही अपने प्रश्न पूछें.

जानिये टेलीफोनिक इंटरव्यू में कैसे करें अपने इंटरव्यूअर को इम्प्रेस ?

इस आर्टिकल में हमने आपके सामने कुछ ऐसे प्रश्नों का विवरण पेश किया है जो आपको कभी भी अपने प्लेसमेंट इंटरव्यू के दौरान नहीं पूछने चाहिए.

आप अपने इंटरव्यू में भूलकर भी न पूछें ये प्रश्न:

कब मिलेगी मुझे तरक्की?

जब आप फ्रेश कॉलेज ग्रेजुएट होने के बाद पहली बार फुल टाइम जॉब के लिए इंटरव्यू देने जाते हैं तो आपके पास एक या एक से अधिक इंटर्नशिप के अनुभव के साथ ही थोड़ा-बहुत कार्य अनुभव भी होता है. ऐसे में जब आपको अभी अपने पेशे में बहुत कुछ सीखना है, आप अभी सिर्फ किसी कंपनी में इंटरव्यू देने के लिए ही आये हैं और अभी कंपनी आपके जॉब प्रोफाइल पर केवल विचार कर रही है कि आपको जॉब दें या नहीं.... फिर भी अगर आप अपने इंटरव्यू के दौरान ही अपनी तरक्की के बारे में पूछ बैठते हैं तो यह आपकी बहुत गलत छाप छोड़ता है. अगर आप यह सोच रहे हैं कि इस प्रश्न से आपके काम करने के जोश का पता चलता है तो यह भी सरासर गलत ही है क्योंकि अभी तो आपने अपना काम करना भी शुरू नहीं किया है और एक फ्रेशर के तौर पर आप इंटरव्यू देते समय ही अगर अपनी तरक्की के बारे में कोई प्रश्न पूछेंगे तो इंटरव्यूअर को यह प्रश्न काफी बेतुका लगेगा.

इस नौकरी के लिए आप कितनी सैलरी देते हैं?

अक्सर अपने इंटरव्यू के दौरान ही फ्रेशर अपनी जॉब के लिए मिलने वाली सैलरी के बारे में प्रश्न पूछकर बड़ी गलत कर देते हैं. बेशक किसी भी नौकरी के लिए मिलने वाली सैलरी काफी महत्वपूर्ण होती है लेकिन, एक फ्रेशर के तौर पर आपके लिए अपने इंटरव्यू के समय सैलरी के बारे में पूछना उचित नहीं है. अच्छा वेतन प्राप्त करना हरेक कॉलेज स्टूडेंट का सपना होता है जिसके लिए वे अपने कॉलेज के दिनों में दिन-रात खूब मेहनत करते हैं. लेकिन, हमारे कहने का मतलब है कि एक फ्रेशर के तौर पर इंटरव्यू देते समय आप यह प्रश्न कदापि न पूछें तो आपके लिए बेहतर रहेगा. जब कंपनी से आपको एक बार ऑफर लेटर मिल जाए तो आप अपनी जॉब, सैलरी और अन्य कर्मचारी भत्तों के बारे में कंपनी के संबद्ध कर्मचारियों से खुलकर बात कर सकते हैं और जितने चाहें, उतने प्रश्न पूछ सकते हैं.

कब बढ़ेगी मेरी सैलरी ?

यह प्रश्न सैलरी के पिछले प्रश्न से तकरीबन सम्बद्ध प्रश्न है. जबकि ऑफर लेटर मिलने के बाद आप अपनी सैलरी के संबंध में तो प्रश्न पूछ सकते हैं लेकिन, किसी नौकरी के लिए इंटरव्यू देते समय आप सैलरी बढ़ाये जाने के विषय में कोई बात न ही करें तो ही अच्छा रहेगा. इसका कारण यह है कि अभी तो आपका इंटरव्यू ही चल रहा है और आपको अभी कंपनी से ऑफर लेटर नहीं मिला है, न ही अभी तक कंपनी ने आपके सैलरी पैकेज के बारे में आपसे कोई बात ही की है. ऐसी किसी स्थिति में सैलरी बढ़ाने के बारे में कुछ भी पूछने से ऐसा प्रतीत होगा कि आपमें धैर्य की काफी कमी है और इससे इंटरव्यूअर पर आपका नेगेटिव प्रभाव पड़ेगा.

आपकी कंपनी में रोजाना काम करने के घंटे कितने हैं ?

अगर आप अपने इंटरव्यू के दौरान ही इंटरव्यूअर से उक्त प्रश्न पूछ लें तो उन्हें ऐसा लगता है कि आपको कंपनी में काम करने के बजाय कंपनी के छुट्टी होने के टाइम में ज्यादा रूचि है. एम्पलॉयर को लगेगा कि आप मन लगाकर अपना काम नहीं कर पायेंगे और शायद आप एक भरोसेमंद और जिम्मेदार कर्मचारी के स्थान पर काम से बचने वाले आलसी इंसान हैं. कुछ ग्रेजुएट्स अपने इंटरव्यू के दौरान ही फ्लेक्सिबल टाइमिंग्स के बारे में भी प्रश्न पूछ बैठते हैं. यह भी एक ऐसा प्रश्न है जो आपको अपने इंटरव्यूअर से कभी नहीं पूछना चाहिए. अगर आपकी कंपनी में फ्लेक्सिबल टाइमिंग्स की सुविधा होगी तो ऑफर लेटर देते समय वे आपको इस बारे में जरुर बतायेंगे.

क्या मैंने बढ़िया इंटरव्यू दिया है?

अगर आप अपने इंटरव्यू के आखिर में अपने इंटरव्यूअर से यह प्रश्न पूछ बैठते हैं तो उन्हें ऐसा लगेगा कि आपमें आत्मविश्वास की कमी है. आप इंटरव्यू देने के आखिरी पल तक शांत रहें क्योंकि अगर आपका इंटरव्यू काफी अच्छा हुआ है तो आपको कंपनी ऑफर लेटर जरुर देगी, अन्यथा आप समझ ही लेंगे कि अभी आपको कोई अच्छी जॉब प्राप्त करने के लिए और अधिक मेहनत करनी पड़ेगी. एम्पलॉयर को कुछ समय दें कि वे आपके व्यक्तित्व और आपकी जॉब प्रोफाइल को लेकर कुछ सोच-विचार कर सकें. इस बीच वे आपके वर्क सैंपल्स और पोर्टफोलियो को अच्छी तरह देख सकते हैं. कई बार आपके इंटरव्यू की परफॉरमेंस पर अन्य कैंडिडेट्स की इंटरव्यू परफॉरमेंस का भी असर पड़ता है.

कोई प्रश्न न पूछने से भी पड़ता है आपका नेगेटिव प्रभाव

बहुत से स्टूडेंट्स यह मानते हैं कि उन्हें कोई भी प्रश्न नहीं पूछना चाहिए, भले ही इंटरव्यूअर स्वयं इंटरव्यू के आखिर में उन्हें कुछ भी पूछने का मौका दें. यह विचार कोई गलत प्रश्न पूछने से बचने के लिए भले ही एक कारगर तरीका क्यों न हो लेकिन, हायरिंग मैनेजर पर इसका नेगेटिव इम्प्रैशन पड़ सकता है. अगर आप कोई भी प्रश्न नहीं करते तो ऐसा लगेगा कि आपको इस जॉब में कोई रूचि नहीं है. बहुत बार ऐसा भी होता है कि कुछ इंटरव्यूअर यह मान लेते हैं कि इस उम्मीदवार को नौकरी की बहुत अधिक जरूरत है और इसलिये, हम इसे कम सैलरी और मनमानी शर्तों पर जॉब दे सकते हैं. इंटरव्यू पर कभी भी अपनी ऐसी छाप न छोड़ें क्योंकि इससे आपकी विश्वसनीयता कम होती है.

जॉब इंटरव्यू में जाएं, तो पहने इस तरह के कपड़े

आखिर में, आप कोई ऐसा प्रश्न भी न पूछें जिससे यह लगे कि आपने इंटरव्यूअर की बातों पर कोई ध्यान नहीं दिया है. इसमें वे सभी बातें आती हैं जिनकी चर्चा इंटरव्यूअर पहले ही कर चुके हैं. अगर आपको किसी बात पर संदेह है तो भी आप बड़ी बुद्धिमानी से अपने प्रश्न पूछ सकते हैं. लेकिन, इंटरव्यूअर को किसी भी हालत में कभी ऐसा न लगे कि आपने इंटरव्यू के दौरान उनकी बातें ध्यानपूर्वक नहीं सुनी हैं. आशा है कि इन टिप्स को ध्यान में रखकर ही आप अपना अगला इंटरव्यू देंगे. ऐसे और अधिक आर्टिकल पढ़ने के लिए www.jagranjosh.com/college पर विजिट करें. आप नीचे दिए गए बॉक्स में अपना ईमेल-आईडी सबमिट करके भी ये आर्टिकल सीधे अपने इनबॉक्स में प्राप्त कर सकते हैं.

Related Stories