Search

कॉलेज स्टूडेंट्स और फ्रेश ग्रेजुएट्स के लिए कुछ असरदार रिज्यूम राइटिंग टिप्स

अगर आप अभी एक कॉलेज स्टूडेंट या फ्रेश ग्रेजुएट हैं तो अपने रिज्यूम में शामिल करने वाले प्वाइंट्स के बारे में पता लगाना आपके लिए काफी चुनौतीपूर्ण हो सकता है. असल में, अधिकांश कॉलेज स्टूडेंट्स की कोई खास बड़ी एम्प्लॉयमेंट हिस्ट्री नहीं होती है.

Sep 19, 2019 16:00 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Tips to make an attractive resume
Tips to make an attractive resume

अगर आप अभी एक कॉलेज स्टूडेंट या फ्रेश ग्रेजुएट हैं तो अपने रिज्यूम में शामिल करने वाले प्वाइंट्स के बारे में पता लगाना आपके लिए काफी चुनौतीपूर्ण हो सकता है. असल में, अधिकांश कॉलेज स्टूडेंट्स की कोई खास बड़ी एम्प्लॉयमेंट हिस्ट्री नहीं होती है. हालांकि, इस संबंध में आपको ज्यादा परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि अधिकांश एम्पलॉयर्स आपकी इस परेशानी को अच्छी तरह समझते हैं. इसलिये, उन्हें इस बात की आशा नहीं होती है कि आपके पास महत्वपूर्ण वर्क एक्सपीरियंस होगा. भले ही अभी आप अपना करियर शुरू कर रहे हों, तो भी कई ऐसे प्वाइंट्स हैं जो आप अपने रिज्यूम में शामिल कर सकते हैं. आप ऐसा कभी न सोचें कि आपके पास अपने रिज्यूम में शामिल करने के लिए कोई विशेष उपलब्धियां नहीं हैं. अपने रिज्यूम को आकर्षक बनाने के लिए, आप वोलंटरी कार्य, समर जॉब्स, इंटर्नशिप्स (पेड और अनपेड, दोनों), कोर्सवर्क और यहां तक कि अपने स्कूल में प्राप्त किन्हीं खास उपलब्धियों जैसे डिबेट पुरुस्कार आदि का विवरण भी दे सकते हैं. एक कॉलेज स्टूडेंट्स या फ्रेश ग्रेजुएट के तौर पर अपना बढ़िया रिज्यूम तैयार करने के लिए उपयोगी विभिन्न टिप्स के बारे में जानने के लिए इस आर्टिकल को आगे पढ़ें.

अपने रिज्यूम में क्या करें शामिल?

अपना रिज्यूम तैयार करते समय अपने सभी पहले के कार्य अनुभवों जैसेकि, कार्य से संबद्ध पोजीशन्स, वोलंटरी कार्य, एकेडेमिक अनुभव, कैंपस लीडरशिप पोजीशन्स, एक्स्ट्रा-करीकुलर एक्टिविटीज, इंटर्नशिप्स और अपने स्कूल या कॉलेज में प्राप्त अवार्ड्स और पुरुस्कारों के बारे विवरण दे सकते हैं.

जब आप अपने कार्यों, प्रोजेक्ट्स एवं पुराने अनुभवों से संबद्ध उक्त लिस्ट बना लें तो उसके बाद आप जिन जॉब्स के लिए अप्लाई कर रहे हैं, उन जॉब्स की लिस्ट के साथ अपनी कार्य और अनुभव संबंधी लिस्ट की तुलना करें और फिर, अपनी टारगेट जॉब से संबद्ध स्किल्स और अनुभवों को छांट लें. ये स्किल्स एवं अनुभव आपकी टार्गेटेड जॉब के लिए सबसे अधिक उपयुक्त हैं, इसलिये इन्हें अपने रिज्यूम में जरुर शामिल करें. आप इन स्किल्स और अनुभवों के बारे में 2-3 लाइन्स में ज्यादा ब्यौरा दे सकते हैं. 

आपकी शिक्षा आपकी सबसे बड़ी ताकत है

अगर आपके पास सीमित कार्य और एक्स्ट्रा-करीकुलर अनुभव है तो आप अपनी एकेडेमिक हिस्ट्री का विस्तार से विवरण दे सकते हैं. ‘एजुकेशन सेक्शन’ को अपने रिज्यूम में टॉप पर रखें ताकि इंटरव्यूअर्स इसे सबसे पहले देखें. अपने स्कूल, कॉलेज का नाम, डिग्री, रिजल्ट परसेंटेज और अन्य किसी एकेडेमिक अवार्ड के बारे में अपने रिज्यूम के इस हिस्से में लिखें. अगर आपने अपनी टारगेट जॉब से संबद्ध कोर्सेज किये हैं या उक्त जॉब के लिए जरुरी स्किल्स से संबद्ध स्कूली और कॉलेज कम्पटीशन्स में हिस्सा लिया है, तो उनका विवरण भी अपने रिज्यूम में जरुर शामिल करें.  

जानिये, अपने रिज्यूम में क्या नहीं करें शामिल ?

अपने रिज्यूम को कैसे करें ऑर्गनाइज़?

आपके पास जो भी कार्य अनुभव हों, उनके आधार पर आप अपने रिज्यूम को विभिन्न सेक्शन्स में बांट सकते हैं जैसेकि:

वर्क हिस्ट्री

वॉलंटियर एक्सपीरियंस

उपयुक्त कोर्सेज

अगर आपके पास पर्याप्त और उपयुक्त कार्य अनुभव नहीं है तो आप इन सभी सेक्शन्स को एक ही सेक्शन ‘संबद्ध अनुभव’ के तहत शामिल कर सकते हैं.

‘स्किल’ सेक्शन

आप अपने रिज्यूम में ‘स्किल’ सेक्शन को अलग से भी बना सकते हैं ताकि आप अपने उन स्किल्स का विवरण यहां दे सकें जो आपने अपना कार्य अनुभव प्राप्त करते समय अर्जित किये हैं. उदाहरण के लिए, अगर आप किसी कॉपी राइटर की पोस्ट के लिए अप्लाई कर रहे हैं तो आप विभिन्न पब्लिकेशन्स में की हुई अपनी सभी इंटर्नशिप्स के बारे में लिख सकते हैं या फिर, आपने जो असाइनमेंट्स और प्रोजेक्ट्स लिखे हैं, उनका विवरण अपने रिज्यूम में दे सकते हैं. अब, हम आपको ज्यादा विस्तार से बताते हैं कि आप अपने रिज्यूम में क्या शामिल कर सकते हैं और कैसे अपने रिज्यूम को ऑर्गनाइज कर सकते हैं?

कैसे करें अपने रिज्यूम को रिव्यु?

आपके लिए यह हमेशा अच्छा रहेगा यदि आप अपने किसी सीनियर, अपने कैंपस करियर ऑफिस के किसी अधिकारी, पैरेंट, दोस्त या रिश्तेदार से अपना रिज्यूम अच्छी तरह तैयार करने के बाद एक बार रिव्यु करवा लें. वे यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि आपने अपने बारे में अधिकतम जानकारी अपने रिज्यूम में उपयुक्त तरीके से शामिल की है. यह व्यक्ति आपके रिज्यूम को प्रूफरीड करके ग्रामर या स्पेलिंग संबंधी गलतियों के साथ ही फॉर्मेट संबंधी गलतियों के बारे में भी आपको बता देंगे और इस तरह आपका रिज्यूम काफी बढ़िया और प्रभावी बन जाएगा.

रिज्यूम में लिखें अपने वर्क ओब्जेक्टिव्स

आपके रिज्यूम में यह वह सेक्शन है जहां आप अपनी नॉलेज और स्किल्स के बारे में बताते हुए यह स्पष्ट कर सकते हैं कि आप इस जॉब के लिए कैसे एक सबसे सूटेबल कैंडिडेट हैं? इस सेक्शन में आप सिर्फ 3-4 लाइन्स में अपने ऑब्जेक्टिव को प्रभावी ढंग से लिखें. अगर आप एक सामान्य रिज्यूम लिख रहे हैं तो इस सेक्शन को फिलहाल खाली छोड़ दें और हरेक जॉब की रिक्वायरमेंट्स के मुताबिक अपने रिज्यूम में इस सेक्शन में विवरण पेश करें. आप ‘मेहनती’ या ‘समर्पित’ कर्मचारी जैसे अति सामान्य शब्द इस्तेमाल करने से बचें. इसके बजाय, आप यहां अपना कुछ बहुत खास विवरण पेश कर सकते हैं. अपने वैक्तिक गुणों का विवरण पेश करने के बजाय अपने भावी लक्ष्यों पर फोकस करें. आप अपने रिज्यूम में संक्षेप में लेकिन अच्छे तरीके से बताएं कि आप अपनी उक्त टारगेट जॉब से अपने और अपनी कंपनी के विकास के लिए कैसे अपना सहयोग दे सकते हैं?

कॉलेज छात्रों के लिए बढ़िया रिज्यूम राइटिंग के कुछ बुनियादी नियम

सारांश

ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करने के बाद आपके लिए शुरू में पेशेवर दुनिया में कदम रखना काफी चुनौतीपूर्ण हो सकता है. इसके लिए आपको सबसे पहले एक बढ़िया रिज्यूम तैयार करना होगा जिससे आपको अपनी पसंदीदा जॉब प्राप्त करने में आसानी हो. शुरू में आपके लिए अपना रिज्यूम बनाना काफी मुश्किल हो सकता है क्योंकि आपको अपने अब तक के पूरे जीवन में प्राप्त किये गए अनुभवों को केवल 1-2 पेजों में अच्छी तरह समेटना होगा. लेकिन, उक्त टिप्स अपनाकर आप अपने लिए एक काफी बढ़िया रिज्यूम तैयार कर लेंगे.

कॉलेज स्टूडेंट्स, बढ़िया रिज्यूम तैयार करने के टिप्स, जॉब ऑप्शन्स, करियर और कॉलेज लाइफ से संबंधित ऐसे और अधिक आर्टिकल पढ़ने के लिए www.jagranjosh.com/college पर विजिट करें. आप नीचे दिए गए बॉक्स में अपना ईमेल-आईडी सबमिट करके भी ये आर्टिकल सीधे अपने इनबॉक्स में प्राप्त कर सकते हैं. क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? यदि हां ! तो इसे अपने दोस्तों और सहपाठियों के साथ अवश्य शेयर करें.

Related Stories