Search

UP बोर्ड परीक्षा 2018: पेपर चेकिंग से जुड़े 10 नए निर्देश

UP Board की परीक्षाएं खत्म हो चुकी हैं अर्थात 16 मार्च से पेपर चेक होने भी शुरू हो जाएंगे. इसी बीच उप-मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने पेपर चेकिंग की प्रक्रिया शुरू होने से पहले कुछ खास निर्देश दिए हैं. पूरी जानकारी के लिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें.

Mar 15, 2018 18:47 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Rules to check the UP Board exam copies
Rules to check the UP Board exam copies

UP Board की परीक्षाएं खत्म हो चुकी हैं अर्थात 16 मार्च से पेपर चेक होने भी शुरू हो जाएंगे. इसी बीच उप-मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने पेपर चेकिंग की प्रक्रिया शुरू होने से पहले कुछ खास निर्देश दिए हैं, जोकि कुछ इस प्रकार हैं-

1. उप-मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने अपने पहले निर्देश में बताया कि 15 जून तक सभी परीक्षा परिणाम घोषित कर दिए जाएं.

2. उप-मुख्यमंत्री ने जिलों के अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेसिंग कर UP Board परीक्षाओं के मूल्यांकन सीसीटीवी की निगरानी में ही करने के आदेश दिए हैं.

3. उप-मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि अनुचित प्रयासों को रोकने के लिए एसटीएफ व एलआईयू की मदद ली जाए.

4. उन्होंने कहा कि 12वीं की पढ़ाई में Skill Development से संबंधित पठन-पाठन को भी शामिल करेंगे ताकि पढ़ाई को रोजगार से जोड़ा जा सके.

5. उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित दिया कि जिस तरह बोड परीक्षाओं में अधिकारी निरीक्षण करते रहे, उसी तरह मूल्यांकन के दौरान भी करें.

6. बोर्ड परीक्षाओं में स्पष्टता का ख्याल रखा गया, उसी तरह मूल्यांकन में भी इसका ध्यान रखा जाएगा. यदि इस पर उंगली उठी तो सारी मेहनत व्यर्थ जाएगी.

7. उन्होंने नए सेशन की शुरुआत से ही पढ़ाई में गुणवत्ता बरकरार रखने के निर्देश भी दिए और कहा कि मान्यताओं के प्रकरण (case) इससे पहले निपटा लिए जाए. फर्जी मान्यता वाले स्कूलों को बंद किया जाए.

8. इसके अलावा उन्होंने NCERT की पुस्तकों के समय से बाजार में आने पर नजर रखने के भी निर्देश दिए.

9. डॉ. शर्मा ने कहा कि नए शैक्षिक सत्र से 148 डॉ दीनदयाल मॉडल स्कूल चलाए जाएंगे. इसकी पूरी तैयारी कर ली जाए. अभी पर्याप्त शिक्षक उपलब्ध नहीं है इस लिए रिटायर शिक्षकों को मानदेय पर या अन्य स्कूलों के शिक्षकों को Allied कर स्कूल शुरू किए जाएं.

10. इस बार टॉप 20 मेधावियों की कॉपियां भी ऑनलाइन की जाएंगी.

 

ऊपर बताएं निर्देशों के अनुसार कक्षा 10वीं तथा 12वीं का आने वाला का रिजल्ट पहले की तुलना में छात्रों के हित में तथा उनके भविष्य के करियर प्लानिंग में एक नई नीव रखेगी. यदि इन निर्देशों का UP Board में सही तरीके से पालन किया जाए तो वह दिन दूर नहीं जब UP Board के छात्रों का भविष्य काफी उज्जवल होगा.

अक्सर परिणाम घोषणा के पश्चात् कई छात्रों की यह समस्या होती है कि उन्होंने किसी विषय में कम अंक प्राप्त किए हैं तो कोई किसी विषय में फेल हुए हैं. ऐसी परिस्तिथि में छात्रों को हताश और परेशान होने की आवश्यकता नहीं, क्यूंकि UP Board द्वारा छात्रों को फिर से एक मौका दिया जाता है जिसके अंतर्गत वे उन विषयों में अच्छे अंक दुबारा प्राप्त कर सकते हैं. UP Board कक्षा 10वीं तथा 12वीं के छात्रों के लिए बोर्ड एग्जाम के बाद इम्प्रूवमेंट तथा कम्पार्टमेंट के एग्जाम संचालित करवाती है जिसके माध्यम से छात्रों को एक और मौका दिया जाता है. इस विषय में अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें:

UP Board कक्षा 10वीं तथा 12वीं के कम्पार्टमेंट तथा इम्प्रूवमेंट फॉर्म 2018

Related Stories