Jagran Josh Logo

आई.टी. उद्योग में एक अच्छी सैलरी के लिए जरूरी स्किल्स

Feb 26, 2018 19:03 IST
  • Read in English
Skills that can help you to get maximum salary hike
Skills that can help you to get maximum salary hike

क्या आप 2018 में अधिकतम वेतन वृद्धि की उम्मीद कर रहे हैं लेकिन आपको यह पता नहीं है कि कौन से कौशल आपको आपकी उम्मीदों को सही ठहराने में सहायता करेंगे ? अगर आप किसी तकनीकी क्षेत्र में काम कर रहे हैं तो यह विशिष्ट तकनीकी के कौशल का एक सेट हो सकता है जो आपकी वेतन की अपेक्षा पर खरा उतरने में आपकी मदद करें. एक शोध कंपनी ज़िनोव द्वारा “ हायरिंग ट्रेंड”  पर किए गए एक सर्वेक्षण के मुताबिक, भारत में बहुराष्ट्रीय कंपनियों के आर एंड डी क्षेत्र में काम करने वाले पेशेवरों को सबसे अधिक वेतन वृद्धि दी जाती है.

 इस क्षेत्र में एनालिटिक्स , आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस , रोबोटिक्स, मशीन लर्निंग  और क्लाउड जैसी आला तकनीकी कौशल की मांग है. जिन आईटी विशेषज्ञों के पास ये विशेष कौशल हैं उनके लिए इस क्षेत्र में एक अनुकूल स्थिति रहेगी. इस लेख में, हम यह समझाने जा रहे हैं कि 2018 में आईटी पेशेवर को अधिकतम वेतन बढ़ाने के लिए कौन से कौशल में नि पुण होना चाहिए?

रोबोटिक

निर्माण और सेवा क्षेत्रों की उत्पादकता बढ़ाने की बढ़ती मांग ने रोबोटों की मांग को भी कई गुना बढ़ा दिया है. इस बढ़ती मांग ने, खासकर उन आईटी पेशेवरों के लिए जो रोबोटिक कौशल रखते हैं, इस क्षेत्र में अधिकतम वेतन वृद्धि प्राप्त करने के लिए अनुकूल स्थिति तैयार कर दी है.

यूआई / यूएक्स

सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) उद्योग किसी भी अन्य उद्योग से ज्यादा गति से बढ़ रहे हैं. आजकल प्रत्येक व्यवसाय के लिए ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म पर उपस्थिति आवश्यक हो गई है. यूएक्स / यूआई पेशेवर ऑनलाइन उपस्थिति के लिए एक आधार हैं इसलिए, यूपी / यूएक्स कौशल की मांग बढ़ती जा रही है. इस क्षेत्र में, उन आईटी पेशेवरों को अधिकतम वेतन वृद्धि मिल सकती है जिनके पास यूएक्स / यूआई  के बारे में जानकारी है

मशीन लर्निंग

आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस (ए.आई) और मशीन लर्निंग जैसे उभरते  उद्योगों में निपुण पेशेवरों की मांग में तेजी से हुयी बढ़ोतरी के साथ, भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) उद्योग द्वारा 2018 में 1.50 लाख से अधिक नौकरियों के उत्पादन की उम्मीद है.

 केली सर्विसेज इंडिया के प्रबंध निदेशक बी.एन. तपमिया के अनुसार ,  एआई और मशीन लर्निंग  की मांग 60 प्रतिशत बढ़ेगी. और, 2-4 साल के अनुभव के साथ ए.आई, पेशेवर 15 से 20 लाख रुपये प्रतिवर्ष कम सकता है  जबकि वे पेशेवर जो इस उद्योग  में 4 से 8 साल का अनुभव हासिल कर चुके हैं वो 20 से 50 लाख रुपये प्रति वर्ष कम सकते हैं.

डेटा विश्लेषण

विशेषज्ञों का मानना है कि भारतीय विश्लेषिकी उद्योग इस वर्ष में डाटा विश्लेषिकी पेशेवर की मांग में एक अच्छी वृद्धि देखेगा.  हालांकि ए.आई उद्योग इन सब में प्रमुख रहेगा लेकिन  विश्लेषिकी की मांग भी महत्वपूर्ण वृद्धि देखने को मिलेगी.  इन प्रवृत्तियों के साथ, डाटा विश्लेषिकी पेशेवर की वेतन वृद्धि 2017 और 2016 के दौरान 15 प्रतिशत थी. जो इस साल 15.5 प्रतिशत हो सकती है.

बिग डाटा

भारत में बिग डेटा पेशेवरों का वेतन लगभग हर जगह सामान था. हालांकि, हडूप में विशेषज्ञता वाले बिग डेटा पेशेवरों की मांग इस क्षेत्र में नई ऊंचाइयों को छू सकती है. इसके अलावा, बिग डेटा विशेषज्ञों की मांग भी अभूतपूर्व वृद्धि के साथ बढ़ रही है चेन्नई, मुंबई, हैदराबाद और बेंगलुरु जैसे मेट्रो शहर बिग डेटा में कैरियर बनाने के लिए फ्रेशर और पेशेवरों के लिए बहुत सारे अवसर उपलब्ध करा सकते हैं. इस उद्योग में 2016 से 2017 तक 15 प्रतिशत वेतन वृद्धि दर्ज की गई थी.

 मोबाइल टेक्नोलॉजी

मोबाइल टेक्नोलॉजी में कौशल रखने वाले पेशेवरों के वेतन में 13.5 फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है, जो क्रमशः 2016 में 14 और 2017 में 14.5 फीसदी  थी 

आखिरकार

आई.टी. उद्योग में कार्यबल की मांग में वृद्धि के साथ, आईटी उद्योग उम्मीदवारों को रोज़गार और वित्तीय संतुष्टि देने वाले बहुत अवसर पैदा कर सकता है. यह उन लोगों के लिए भी एक अवसर हो सकता है जो फ्रेशेर्स हैं  और जिन्हें इस उद्योग में कोई अनुभव नहीं है. इस लेख में हमने 2018 में आईटी उद्योग में संभावित वेतन वृद्धि तथा नयी नौकरियों के निर्माण के रुझानों को शेयर किया है, जो आपको इस उद्योग में अधिकतम वेतन वृद्धि प्राप्त करने  या नई नौकरी पाने में मदद कर सकता है.

 

Latest Videos

Register to get FREE updates

    All Fields Mandatory
  • (Ex:9123456789)
  • Please Select Your Interest
  • Please specify

  • By clicking on Submit button, you agree to our terms of use
    ajax-loader
  • A verifcation code has been sent to
    your mobile number

    Please enter the verification code below

Newsletter Signup
Follow us on
X

Register to view Complete PDF