Jagran Josh Logo

SSC CGL 2018 Tier-1 परीक्षा: तैयारी की युक्तियाँ और रणनीति

Sep 4, 2018 13:25 IST
  • Read in English

कर्मचारी चयन आयोग (SSC) द्वारा  संयुक्त स्नातक स्तरीय (CGL) परीक्षा प्रतिवर्ष चार चरणों में आयोजित की जाती है जहां अलग-अलग चरणों को अलग पदों की आवश्यकतानुसार पास करना होता है। SSC CGL 2018 परीक्षा चार स्तरों यानी टीयर - I, टीयर - II, टीयर - III और टीयर IV में आयोजित की जाएगी जैसा कि नीचे तालिका में दर्शाया गया हैं-

टीयर

प्रश्न-पत्र का प्रकार

मोड

टीयर - I

बहुविकल्पीय

कंप्यूटर आधारित (ऑनलाइन)

टीयर II

बहुविकल्पीय

कंप्यूटर आधारित (ऑनलाइन)

टीयर - III

अंग्रेजी या हिन्दी में वर्णनात्मक पेपर

पेन और कागज मोड (ऑफ़लाइन)

टीयर - IV

स्किल्स टेस्ट: डाटा एंट्री गति परीक्षण (DEST) / कंप्यूटर प्रवीणता टेस्ट (सीपीटी)

जहां लागू हो- (सभी पद के लिए आवश्यक)

दस्तावेज़ सत्यापन

सभी के लिए लागू

नीचे दिए गए कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं पर  ध्यान दें-

  • टीयर-I ऑब्जेक्टिव टाइप (बहुपिकल्पीय आधारित) परीक्षा ऑनलाइन मोड में 60 मिनट की अवधि की होगी
  • टीयर II ऑब्जेक्टिव टाइप (बहुपिकल्पीय आधारित) परीक्षा  में 4 पेपर्स होंगे और प्रत्येक पेपर ऑनलाइन मोड में 60 मिनट की अवधि का होगा।
  • टीयर - III वर्णनात्मक परीक्षा पेन और पेपर मोड में 60 मिनट की अवधि का होगा।
  • उपरोक्त परीक्षाओं में किसी में भी कोई अनुभागीय कट ऑफ नहीं होगा।
  • SSC CGL टीयर IV परीक्षा में कुछ स्किल्स परीक्षण होंगे जो सिर्फ कुछ सरकारी पदों के लिए आवश्यक हैं और उसके बाद सबसे अंत में दस्तावेज़ सत्यापन की प्रक्रिया होगी

SSC CGL 2018 परीक्षा के सभी चारों चरणों के परीक्षा पैटर्न का अच्छी तरह से अध्ययन करने के बाद अगला कदम SSC CGL टियर-I  परीक्षा के विस्तृत पाठ्यक्रम को समझना है। इस आर्टिकल में, हम SSC CGL टियर-I परीक्षा में उच्च स्कोरिंग के लिए विभिन्न रणनीतियों और इसके पाठ्यक्रम पर विस्तृत चर्चा करेंगे तो आइये- SSC CGL टियर-I परीक्षा  के परीक्षा पैटर्न पर एक नज़र डालते हैं-

SSC CGL परीक्षा को 30 दिनों में उत्तीर्ण करने हेतु विस्तृत स्टडी-प्लान

 

SSC CGL 2018 टीयर - I परीक्षा पैटर्न

SSC CGL 2018 टियर-I परीक्षा एक ऑब्जेक्टिव टाइप परीक्षा है जो ऑनलाइन आयोजित की जाएगी। परीक्षा 200 अंक (प्रत्येक अनुभाग में अधिकतम 50 अंक) की होगी और इसमें प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.5 अंक का नकारात्मक अंकन होगा और इस परीक्षा के चारों वर्गों में कुल 100 प्रश्न (प्रत्येक अनुभाग में 25 प्रश्न) होंगे टीयर -1 परीक्षा की समय अवधि 60 मिनट की होगी

इस परीक्षा का अनुभाग-वार विवरण नीचे सारणी में दिया गया है--

अनुभाग

प्रश्नों की संख्या

अंक

समयावधि

क्वांटिटेटिव एप्टीट्युड

25

50

60 मिनट (कुल)

इंग्लिश लैंग्वेज और कॉम्प्रिहेंशन

25

50

जनरल इंटेलिजेंस और रीजनिंग

25

50

सामान्य जागरूकता

25

50

कुल अंक

100

200

याद रखने योग्य बिंदु:

SSC CGL 2018 टीयर 1 परीक्षा में 0.5 अंक का नकारात्मक अंकन है और परीक्षा के किसी भी वर्ग से प्रत्येक गलत उत्तर के लिए कुल प्राप्तांकों में से 0.5 अंक को काट लिया जायेगा।

  • उम्मीदवार, जो नेत्रहीन और सेरेब्रल पाल्सी से पीड़ित हैं उनके लिए परीक्षा की अवधि 80 मिनट होगी।

SSC CGL 2018 परीक्षा के ऊपर उल्लेखित परीक्षा पैटर्न का अध्ययन करने के बाद,  अगला कदम अध्ययन की योजना बनाना हैं और उस पर काम करना है। अध्ययन की योजना बनाने के लिए, आपको  SSC CGL टियर-I परीक्षा के सभी चारों वर्गों में शामिल टॉपिक्स का विश्लेषण करना होगा।

क्वांटिटेटिव एप्टीट्युड अनुभाग

क्वांटिटेटिव एप्टीट्युड अनुभाग, किसी भी उम्मीदवार के लिए SSC CGL परीक्षा की मेरिट सूची में स्थान प्राप्त करने वाले निर्णयाक क्षेत्रों में से एक है। इसलिए, यदि आप बुनियादी अवधारणाओं और गणित के सूत्रों के अनुप्रयोगों को स्पष्ट रूप से समझते हैं, तो यह खंड परीक्षा में आपकी ताकत बन सकता है।

क्वांटिटेटिव एप्टीट्युड अनुभाग के टॉपिक्स

 

SSC CGL Quant

 

ऊपर दिए गए पाई-चार्ट से स्पष्ट रूप से यह पता चलता है कि परीक्षा में इस अनुभाग का अधिकतम भाग, यानी 48%  अंकगणित विषय से लिया जाता हैं। इसलिए इस श्रेणी में अच्छे अंक स्कोर करने के लिए, उम्मीदवारों को पहले गणित की बुनियादी अवधारणाओं पर काम शुरू करना चाहिए।

डाटा इंटरप्रिटेशन खंड परीक्षा का 20% हिस्सा कवर करता है जोकि अगला स्कोरिंग अनुभाग है। इसमें भी अनुपात और प्रतिशत की अवधारणा का उपयोग होता हैं। ज्यामिति, क्षेत्रमिति (8%) और त्रिकोणमिति (16%) टॉपिक्स से प्रश्नों को हल करने के लिए सभी प्रासंगिक सूत्रों और मेथड्स के गहन ज्ञान का होना आवश्यक हैं बीजगणित से रेखीय समीकरणों के ग्राफ और Elementary Surds जैसे विषय पूछे जाते हैं व यह परीक्षा के इस विषय के प्रश्नों का केवल 8% हिस्सा है

क्वांटिटेटिव एप्टीट्युड अनुभाग की टिप्स

आइये- कुछ टिप्स के बारे में जानते है जिसके माध्यम से आप  SSC CGL 2018 परीक्षा के क्वांटिटेटिव एप्टीट्युड अनुभाग को तेज़ी से हल करने में सक्षम हो जायेंगे।

  • बेसिक्स पर काम करें: यदि आप अपनी तैयारी शुरू कर रहे हैं तो पहले ही शॉर्टकट विधियों का प्रयास न करें सभी विषयों की मूल बातें जानें और इनका गहराई से ज्ञान प्राप्त करें। एक बार जब आप इन विषयों पर कमांड विकसित कर लेंगे तब आप शॉर्टकट या त्वरित गणना के तरीकों पर स्विच कर सकते हैं।
  • समय प्रबंधन: लक्ष्य प्राप्त करने के लिए, परीक्षा में शामिल महत्वपूर्ण विषयों के लिए उचित समय आवंटित करने की आवश्यकता है। सबसे पहले आप कमजोर क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करें और उन्हें सुधारने में अपना अधिक से अधिक समय बिताने की कोशिश करें। उन विषयों में जिनमें आप समर्थ हैं उनके अभ्यास में थोड़ा कम समय आवंटित करें। इस प्रकार के प्रश्नों को सुलझाने में एक मिनट से अधिक समय न दें
  • शॉर्टकट मेथड्स सीखें: गणना की गति बढ़ाने के लिए छात्रों को शॉर्टकट  तरीकों और चालों पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए जिससे परीक्षा में कठिन प्रश्नों को हल करने में समय की बचत करने में मदद मिलेगी सटीकता और गति पाने के लिए ट्रिक्स का अभ्यास और पहाड़ों, क्यूब्स, वर्गों, वर्गमूलों आदि को याद करने की कोशिश करें.
  • जटिल शॉर्टकट का उपयोग करें: यदि आप किसी भी शॉर्टकट या ट्रिक के साथ अच्छी तरह से वाकिफ नहीं हैं तो  इनका प्रयोग न करें क्योंकि इससे भ्रमित और गलत जवाब प्राप्त हो सकता है

SSC CGL 2018 क्वांटिटेटिव एपटीट्युड की तैयारी की नीति: अध्यायवार और वर्षवार विस्तृत विश्लेषण

 

इंग्लिश लैंग्वेज और कॉम्प्रिहेंशन अनुभाग

इस खंड में प्रश्नों को उम्मीदवार के अंग्रेजी भाषा के ज्ञान और समझ का परीक्षण करने के लिए डिज़ाइन किया जाता है अंग्रेजी भाषा व कॉम्प्रिहेंशन के सवालों का जवाब देने में अन्य अनुभागों की तुलना में कम समय लगता है। इसलिए, यदि आपकी अंग्रेजी व्याकरण के नियमों, शब्दावली के उपयोग पर अच्छी समझ के साथ अच्छी पकड़ है तो SSC CGL 2018 परीक्षा में यह खंड आपका मज़बूत क्षेत्र हो सकता है।

इंग्लिश लैंग्वेज और कॉम्प्रिहेंशन अनुभाग के टॉपिक्स

आइये- SSC CGL टियर-I में इस खंड से विभिन्न विषयों के प्रतिशत वितरण पर एक नजर डालते हैं-

SSC CGL English comprehension

अगर हम उपरोक्त पाइ चार्ट को देखें तो यह समझा जा सकता है कि SSC CGL टियर-I परीक्षा में इंग्लिश शब्दावली (48%) और ग्रामर (32%) सेक्शन का एक बड़ा हिस्सा है जबकि रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन (20%) का इंग्लिश लैंग्वेज और कॉम्प्रिहेंशन अनुभाग में एक छोटा भाग है।

आम तौर पर, इस खंड में पूछे जाने वाले प्रश्न प्रत्यक्ष और काफी आसान होते है। इसलिए, उम्मीदवार इस खंड में वास्तव में अच्छा स्कोर कर सकते हैं।

इंग्लिश लैंग्वेज और कॉम्प्रिहेंशन अनुभाग की टिप्स

आइये- कुछ तरीको के बारे में जानते है जिसके माध्यम से आप  SSC CGL 2018 परीक्षा के इंग्लिश लैंग्वेज और कॉम्प्रिहेंशन अनुभाग को तेज़ी से हल करने में सक्षम हो जायेंगे।

·         शब्दावली को सुधारें: आइये- कुछ संसाधनों पर नजर डालते हैं, जिनके माध्यम से आप अपनी शब्दावली में सुधार कर सकते है-

  •  
    • थिसॉरस: यह शब्दों का अध्ययन और उन्हें याद करने का एक आसान तरीका है। ऑनलाइन बहुत-सी थिसॉरस उपलब्ध हैं जिसमे हर एक शब्द और इसके विपरीत शब्द को एक ही स्थान पर देखा जा सकता है।
    • शब्द-सूची: अपने पास एक पॉकेट नोटबुक रखें जिसमें आप हर दिन कुछ शब्द लिख सकें, मानें 10-20 शब्द सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आपको इस सूची के माध्यम से बार-बार अभ्यास करना चाहिए।
    • ऑनलाइन साधन:यदि आप एक मोबाइल/टेबलेट का उपयोग कर रहें है तो आप फ्री-फ़्लैश कार्ड को डाउनलोड कर सकते हैं इससे आपको नए शब्दों को याद करने में मदद मिलेगी।
  • अंग्रेजी व्याकरण में सुधार करें: व्याकरण का उचित उपयोग और समझ 'इंग्लिश लैंग्वेज और कॉम्प्रिहेंशन' खंड के प्रश्नों का प्रयास करने के लिए आवश्यक है। इस प्रकार के प्रश्न सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में बहुत आम हैं और ज्यादातर 'Spotting the errors’  के रूप में पूछे जाते हैं। किसी वाक्य में त्रुटि ढूँढना एक स्टेप-बाई-स्टेप प्रक्रिया है। छात्रों को व्याकरण के नियमों का पालन करते हुए इन सवालों को सुलझाना चाहिए।
  • रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन स्किल्स में सुधार: रीडिंग स्किल्स  को मात्र एक रात में पड़कर नहीं समझा जा सकता है इसे समय के साथ स्वाभाविक रूप से विकसित किया जाता है। रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन को क्लियर करने और इसे पढ़ने की स्किल्स को विकसित करने के लिए, यह बहुत ज़रूरी है कि आप हर दिन पढ़ने की आदत विकसित करें अखबार पढना एक अच्छा विकल्प है लेकिन हमेशा कठिन तथ्यों की जानकारियों को ही पढ़ने से हर दिन आपकी पढ़ने की स्किल्स का विकास निर्धारित सीमा से ऊपर नहीं हो सकता। इसलिए बेहतर यह है कि आप फीचर कहानियों, संपादकीय, व्यापार पत्रिकाओं आदि को पढना पसंद करें इससे आपकी कॉम्प्रिहेंशन रीडिंग स्किल्स में भी तेजी से सुधार होगा

SSC परीक्षा में सामान्य जागरूकता की तैयारी हेतु विश्वसनीय स्त्रोत

 

जनरल इंटेलिजेंस और रीजनिंग अनुभाग

इस अनुभाग में उम्मीदवार की सोचने की क्षमता और समस्या को सुलझाने के स्किल्स  का परीक्षण होता है। इस अनुभाग से पूछे गए प्रश्न मुख्य रूप से ब्रेन टीज़र प्रकार के होते हैं और कभी कभी इनका जवाब देना काफी मुश्किल होता है।

जनरल इंटेलिजेंस और रीजनिंग अनुभाग के टॉपिक्स

General Intelligence and Reasoning SSC CGL

वर्बल रीजनिंग खंड से आमतौर पर जनरल इंटेलिजेंस व रीजनिंग में 66% भाग शामिल हैं और इसमें से प्रश्न प्राय:   Series, Ranks, Direction, Arrangement, Coding, Decoding, Analogy and Classification/Odd Pair, Syllogism and Statement Conclusion इत्यादि टॉपिक्स से पूछे जाते है।

नॉन-वर्बल रीजनिंग खंड से आमतौर पर जनरल इंटेलिजेंस व् रीजनिंग 34% भाग शामिल हैं और इसमें से प्रश्न प्राय:   Figure Formation, Dice, Triangle, Rule Detection, Images, Completion of Pattern, Mirror Images, Figure Matrix and Paper Folding इत्यादि टॉपिक्स से पूछे जाते है।

जनरल इंटेलिजेंस और रीजनिंग की टिप्स

आइये- कुछ तरीको के बारे में जानते है जिसके माध्यम से आप  SSC CGL 2018 परीक्षा के जनरल इंटेलिजेंस और रीजनिंग अनुभाग को तेज़ी से हल करने में सक्षम हो जायेंगे।

  • लॉजिकल स्किल्स को सुधारें:  जैसेकि यह खंड उम्मीदवारों की सोचने और समस्या को सुलझाने की स्किल्स  क्षमता का परिक्षण करता है इसलिए छात्रों को उनकी तार्किक और विश्लेषणात्मक स्किल्स पर जोर देने की आवश्यकता है।
  • अवधारणाओं पर कमांड:  उम्मीदवार को वर्बल और नॉन-वर्बल दोनों प्रकार की रीजनिंग के कॉन्सेप्ट्स पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। प्रश्नों से सम्बंधित दिशा-निर्देश की समझ सटीक होनी चाहिए अर्थात पश्चिम, उत्तर, पूर्व और दक्षिण किस दिशा में है इत्यादि। ‘Series’ भी सबसे महत्वपूर्ण विषयों में से एक है लेकिन इसमें महारथ हासिल करना बहुत मुश्किल है। आपको हर एक टॉपिक्स का अच्छी तरह से अभ्यास करना चाहिए और सभी विषयों को पढने की जल्दी नहीं करनी चाहिए।
  • एक समय पर एक ही विषय पर ध्यान दें: एक निश्चित समय पर एक टॉपिक को ही लें क्योंकि रीजनिंग में आपको एक निश्चित तरीके से सोचने की आवश्यकता होती है. अत: 2-3 विभिन्न प्रकार के टॉपिक्स को एक ही बार में हल करने की कोशिश न करें
  • अनावश्यक मान्यताये न बनायें: हमेशा यह याद रखें कि दिया गया सवाल केवल दिए गए आंकड़ों से हल किया जा सकता है अत: प्रश्नों को हल करते समय अनावश्यक मान्यताएं और परिणाम न बनायें। किसी भी समस्या को हल करने के लिए स्मार्ट और उचित ट्रिक्स व विधियों का ही उपयोग करें।
  • वर्णमाला के क्रम को याद रखें: हमेशा अक्षर यानी जो वर्णमाला में आते है  कि कौन से वर्ण वर्णमाला में विशेष वर्ण से पहले आते है और आपको उनकी वर्णमाला में संख्यात्मक स्थिति को  यानि 1-26 में ये वर्ण कहाँ आते है को भी याद रखना चाहिए।

जनरल अवेयरनेस (GA) और सामान्य ज्ञान (GK) अनुभाग

इस अनुभाग को SSC CGL परीक्षा के उच्च स्कोरिंग हिस्सों में से एक माना जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य उम्मीदवार के सामान्य जागरूकता और दुनिया भर व भारत में हो रहे मौजूदा मामलों के ज्ञान का परीक्षण करना है।

जी०ए० और जी०के अनुभाग के टॉपिक्स

GA and GK SSC CGL

 

ऊपर दिए गए पाई-चार्ट का विश्लेषण करके यह पता चलता है कि सामान्य विज्ञान और स्टेटिक जी०के० SSC CGL टियर-I परीक्षा  के जी०ए० अनुभाग के  बड़े  हिस्से को दर्शाता है। आइये- जी०ए० और जी०के० अनुभाग  विभिन्न मदों के तहत शामिल विषयों पर विस्तार से नजर डालते हैं।

  • सामान्य विज्ञान:इस टॉपिक से जी०ए० अनुभाग के लगभग 40% प्रश्न सम्मिलित हैं और सवालों को जीव विज्ञान, भौतिकी, रसायन विज्ञान, दैनिक रूप में उपयोगी वैज्ञानिक सिद्धांत आदि मुख्य टॉपिक्स से पूछा जाता है.
  • स्टेटिक जी०के०: इस टॉपिक से जी०ए० अनुभाग के लगभग 40% प्रश्न सम्मिलित हैं और सवालों को मुख्य रूप से भारतीय राजनीति, इतिहास और संस्कृति, अर्थव्यवस्था, भूगोल आदि जैसे स्थिर विषयों से पूछा जाता है.
  • सामयिकी: इस टॉपिक से जी०ए० अनुभाग के लगभग 10% प्रश्न सम्मिलित हैं और सवालों को मुख्य रूप से खेल, पुरस्कार, राजनीति, वित्त और बैंकिंग क्षेत्र, अंतर्राष्ट्रीय आदि व करंट अफेयर्स जैसे विषयों से पूछा जाता है.
  • विविध: इस टॉपिक से जी०ए० अनुभाग के लगभग 10% प्रश्न सम्मिलित हैं और सवालों को मुख्य रूप से राष्ट्रीय योजनाएं, कंप्यूटर, बुक के नाम और लेखक, तार्किक विश्लेषण, महत्वपूर्ण दिन आदि जैसे विषयों से पूछा जाता है.

SSC CGL 2018 को क्रैक करने के लिए 5 दैनिक रूटीन प्रैक्टिसेज

 

जी०ए० और जी०के० अनुभाग की टिप्स

आइये- कुछ तरीको के बारे में जानते है जिसके माध्यम से आप  SSC CGL 2018 परीक्षा के जी०ए० और जी०के० अनुभाग को तेज़ी से हल करने में सक्षम हो जायेंगे।

  • ज्ञान को बढ़ाने के लिए पढ़ें: ऑनलाइन पत्रिकायें, समाचार पत्र, साप्ताहिक जीके० ब्लॉग पढ़ें और SSC परीक्षा हेतु सामान्य ज्ञान के लिए समाचार चैनलों को देखें।
  • हमेशा नोट्स बनायें: यह, आपको सभी टॉपिक्स जिसके तहत आपने मुख्य रूप से करंट अफेयर्स, स्टेटिक जी०के०, संस्कृति, भारतीय इतिहास, भूगोल (भारत + विश्व), पर्यावरण, अर्थव्यवस्था और राजनीति से संबंधित जानकारियों को कवर किया है को दोहराना में आपकी मदद करेगा. आंख मूंदकर मन में पढने के बजाय नोट्स  बनायें और तथ्यों व घटनाओं को याद करने के लिए माइंड मैप का उपयोग करें, कारण और प्रभाव, तथ्यों को उनके सामायिक क्रम में याद करने का प्रयास करें.
  • नोट्स को दोहराए: दोहराना- इस खंड में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। एक बार पढ़ना आपको अधिक लाभ नहीं दें सकता। आपको  इन बातों को याद  रखने के लिए बार-बार दोहराना चाहिए
  • महत्वपूर्ण विषयों पर पहले ध्यान दें: परीक्षा में आमतौर पर करंट अफेयर्स से ज्यादा प्रश्न स्टेटिक जी०के० से पूछे जाते है। इसलिए स्टैटिक जी०के० पर अधिक ध्यान केंद्रित करें और साथ ही करंट अफेयर्स के भी संपर्क में रहें इसके अलावा, विषयों को प्राथमिकता के निम्न क्रम में  तैयार करने का प्रयास करें-

विज्ञान   राजनीति इतिहास भूगोल अर्थव्यवस्था विविध

SSC CGL टियर-I परीक्षा के लिए तैयारी की रणनीति

आइये- कुछ तरीको के बारे में जानते है जिसके माध्यम से आप  SSC CGL 2018 परीक्षा के इन सभी अनुभागो को तेज़ी से हल करने में सक्षम हो जायेंगे।

  • नियमित अभ्यास: पिछले वर्ष के पेपर्स और मोक पेपर्स का हर दिन अभ्यास करने की आदत डालें इससे आपकी गति और सटीकता में सुधार होगा पिछले वर्षों के पेपर्स को हल करें क्योंकि कई सवाल है जो बार-बार पूछ लिए जाते हैं।
  • एक उचित अध्ययन योजना बनाएँ: एक उचित रणनीति और प्रश्न पत्र के सभी वर्गों के लिए एक समय तालिका का पालन करें।
  • महत्वपूर्ण विषयों का अभ्यास: छात्र ऊपर उल्लेख किये गए अध्याय-वार विश्लेषण को देख सकते है और पहले महत्वपूर्ण विषयों पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं।
  • अपने कमजोर क्षेत्रों पर ध्यान दें:सबसे पहले आप कमजोर क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करें और अधिक समय उन्हें सुधारने के प्रयास में बिताएं अपने कमजोर क्षेत्रों के लिए अधिक समय और अपने मजबूत क्षेत्रों के लिए कम समय समर्पित करें।
  • पहले प्रश्न पूरा पढ़ें: अधूरा सवाल पढ़ने और अंत में गलत उत्तर पर पहुंचने की गलती से बचने के लिए आवश्यक हैं कि छात्र सवाल  को ध्यान से पढ़ें और जाँचे कि प्रश्न में क्या कहा जा रहा है?
  • उन्मूलन के नियम: भ्रामक विकल्पों में उन्मूलन की विधि का उपयोग करें और इसके द्वारा जवाब पाने की कोशिश करें।
  • किसी भी अनुमान से बचें:अनुमान लगाने से आपको गलत जवाब प्राप्त हो सकता हैं और इससे आपके नकारात्मक अंकन में वृद्धि होगी। इसके अलावा, यदि आप किसी उत्तर के लिए आश्वस्त नहीं है तो एक सवाल पर बहुत समय बर्बाद न करें और अगले प्रश्न पर जाएँ।
  • समय प्रबंधन: अधिक समय उन वर्गों को दे जिसमे आप मजबूत हैं इससे यह सुनिश्चित होगा कि आप परीक्षा में समय को प्रभावी ढंग से उपयोग कर सकते हैं।। याद रखें कि परीक्षा में कोई अनुभागीय समय सीमा और कोई अनुभागीय कट-ऑफ नहीं होगा. इसलिए आपका एकमात्र काम कुछ भी करके अपने स्कोर को बढ़ाना है
  • अलग रणनीति की कोशिश करें और बेस्ट का चयन करें: मॉक टेस्ट्स की प्रैक्टिस विभिन्न क्रम में बदल बदल कर करें कभी-कभी पहले इंग्लिश लैंग्वेज व् कॉम्प्रिहेंशन अनुभाग के साथ शुरू करें और कभी क्वांटिटेटिव एप्टीट्युड अनुभाग के साथ या सबसे कठिन अनुभाग  से पहले शुरू करें देखें कि कौन सी रणनीति आपके लिए सबसे अच्छा काम करती है।

यदि आपको “SSC CGL 2018 Tier-1 परीक्षा: तैयारी की युक्तियाँ और रणनीति के बारे में दी गयी जानकारी उपयोगी लगी हो तो SSC परीक्षा 2018 के बारे में इस तरह की अधिक जानकारी के लिए https://www.jagranjosh.com/staff-selection-commission-ssc पर विजिट करें.

DISCLAIMER: JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.

Commented

    Latest Videos

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    Newsletter Signup
    Follow us on
    This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK
    X

    Register to view Complete PDF