Search

SSC सब इंस्पेक्टर (SI) केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल और दिल्ली पुलिस: जॉब प्रोफाइल, वेतन और प्रमोशनस

इस लेख में, हम आपको दिल्ली पुलिस में केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) और सब-इंस्पेक्टर (कार्यकारी) में सब-इंस्पेक्टर (जीडी) से संबंधित सभी जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। आइए सब इंस्पेक्टर की जॉब प्रोफाइल, वेतन संरचना और संवर्धन नीति के विवरण को देखें।

Sep 18, 2019 15:36 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
SSC CPO Sub-Inspector in CAPF & Delhi Police: Job Profile, Payscale & Promotion Policy
SSC CPO Sub-Inspector in CAPF & Delhi Police: Job Profile, Payscale & Promotion Policy

कर्मचारी चयन आयोग (SSC) द्वारा जारी नवीनतम अधिसूचना के अनुसार, इस वर्ष SSC केंद्रीय पुलिस संगठन (सीपीओ) में 1223 रिक्तियों हेतु भर्ती करने की घोषणा की हैं। इस भर्ती प्रक्रिया के अंतर्गत, आप केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल में सब इंस्पेक्टर (GD) और दिल्ली पुलिस में सब इंस्पेक्टर और सी०आई० एस० एफ० (केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा सेना) में असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर के पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं। प्रारंभिक ऑनलाइन पेपर-I परीक्षा (Prelims) का आयोजन 12 मार्च 2019 से 16 मार्च 2019 तक किया जाएगा. इस लेख में, हम आपको केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (CAPF) में सब इंस्पेक्टर (GD),  दिल्ली पुलिस में सब इंस्पेक्टर (कार्यकारी) और असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर से संबंधित सभी जानकारी जैसे जॉब प्रोफाइल, पोस्टिंग्स, वेतनमान और प्रमोशन पॉलिसीस इत्यादि प्रदान करने जा रहे हैं। सब इंस्पेक्टर (GD) और सब इंस्पेक्टर (Executive) के काम व् जिम्मेदारियों का विश्लेषण करने से पहले, आइये SSC द्वारा 2018 की घोषणा में इन पदों के लिए रिक्तियों की संख्या पर एक नज़र डालते हैं।

केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (CAPF) विभाग में रिक्त पद

 

SSC CAPF recruitment

केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (CAPF) गृह मंत्रालय के अधिकार के तहत भारत में सात सुरक्षा बलों के नामकरण को दर्शाता है। जो निम्न हैं-

SSC परीक्षाओं में पूछे जाने वाली महत्वपूर्ण सरकारी योजनायें

 

  1. सीमा सुरक्षा बल (बी०एस०एफ०),
  2. केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सी०आर०पी०एफ०),
  3. केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सी० आई० एस० एफ०),
  4. भारत और तिब्बती सीमा पुलिस (आई०टी०बी०पी०),
  5. सशस्त्र  सीमा बल (एस०एस०बी०),
  6. असम राइफल्स (ए०आर०), और
  7. राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एन०एस०जी०)

सात केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (बी०एस०एफ०, सी०आर०पी०एफ०, आई० टी० बी० पी०, सी० आई एस० एफ०, एस० एस० बी०, ए० आर० और एन०एस०जी०) के प्रत्येक अधिकारी का अपना कैडर है, लेकिन इनकी अध्यक्षता  भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी द्वारा की जाती हैं।

आइये  SSC द्वारा इस साल विभिन्न केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल विभागों में सब इंस्पेक्टर (GD) के पद की भर्ती के लिए घोषित की गयी रिक्तियों की संख्या पर नज़र डालते हैं-

Vacancies in CAPF

दिल्ली पुलिस विभाग में रिक्त पद

SSC Delhi police Recruitment

  • दिल्ली पुलिस (डी०पी०) दिल्ली (एन०सी०टी०)  व् राष्ट्रीय राजधानी सीमा के लिए कानून प्रवर्तन एजेंसी है। इसके पास राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के आसपास के क्षेत्रों में कानूनन हस्तक्षेप करने के लिए अनुमत नहीं है।
  • दिल्ली पुलिस विभाग के प्रमुख को दिल्ली के गृह मंत्री के रूप में पदांकित किया जाता है।
  • इस विभाग के सभी अधिकारी गृह मंत्रालय (एम०एच०ए०) भारत सरकार के अधिकार क्षेत्र में आते है न कि दिल्ली सरकार के अधीन हैं।
  • 2017 में, दिल्ली पुलिस 6 रेंज, 13 पुलिस जिलें, 184 पुलिस स्टेशन और 5 विशेष अपराध यूनिट पुलिस थाने आते थे जिनमें आर्थिक अपराध विंग, अपराध शाखा, विशेष सेल, महिलाओं और बच्चों के लिए विशेष पुलिस व् विजिलेंस इकाई इत्यादि सम्मिलित हैं

आइये SSC द्वारा इस साल केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल के इस विभाग में सब इंस्पेक्टर के पद की भर्ती के लिए घोषित की गयी रिक्तियों की संख्या पर नज़र डालते हैं-

Vacancies in Delhi Police

आइये- अब उप निरीक्षक (सब-इंस्पेक्टर) की नौकरी प्रोफाइल, वेतन संरचना और प्रमोशन पोलिसी के विवरण पर नजर डालते हैं।

Job Profile, Payscale and Promotion in CAPF and Delhi Police

 केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल विभाग में सब इंस्पेक्टर की नौकरी प्रोफ़ाइल

उप निरीक्षकों (सब-इंस्पेक्टर) की जॉब प्रोफाइल काफी साहसी होती है और आपको इस पद के तहत भारत में विभिन्न स्थानों पर तैनात किया जाएगा और आपको एक चुनौतीपूर्ण काम का माहौल मिलेगा

Work Profile of Sub inspector in CAPF and Delhi Police

SSC तैयारी के दौरान की जाने वाली 8 सामान्य गलतियां

केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल विभाग में सब इंस्पेक्टर की प्रमुख भूमिकाओं और जिम्मेदारियों को नीचे विवरण में बताया गया है-

  • सीमा सुरक्षा बल (बी०एस०एफ०): बी०एस०एफ० को काफी हद तक आंतरिक सुरक्षा की ड्यूटी और राज्य सरकार की मांग पर अन्य कानून-व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए तैनात किया जाता है। केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल होने के नाते, इसको दिए गए आदेश से अलग किसी भी स्थान पर पुलिस के कर्तव्यों को सौंपा जाता है, जिसका इस बल को वहन करना होता हैं। इस विभाग के तहत, सब-इंस्पेक्टर्स की प्रमुख भूमिका व् कार्य निम्न है-
    • भारत-पाकिस्तान और भारत-बांग्लादेश सीमा की सुरक्षा
    • सीमावर्ती क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के बीच सुरक्षा की भावना को सुनिश्चित करना व बढ़ावा देना ।
    • ट्रांस-सीमा अपराधोंभारत के राज्यक्षेत्र से में अनाधिकृत प्रवेश या निकासी को रोकना।
    • सीमा पर तस्करी और किसी भी अन्य अवैध गतिविधियों को रोकना।
    • घुसपैठ को रोकना।
    • ट्रांस-सीमा की खुफिया जानकारियों को इकट्ठा करना।
  • सेंट्रल सुरक्षित पुलिस बल (सी०आर०पी०एफ०):सी०आर०पी०एफ० देश का सबसे बड़ा अर्द्धसैनिक संगठन है और सक्रिय रूप से भारत के हर हिस्से की आंतरिक सुरक्षा की देखभाल करता है और इसके अलावा, यह संगठन विदेश में भारतीय शांति सेना (आई०पी०के०एफ०) और संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन के एक हिस्से के रूप में भी काम कर रहा हैं। यह कई अन्य प्रकार के कार्यों को करने के लिए भी उत्तरदायी है जिसमें वीआईपी सुरक्षा से लेकर चुनावों के दौरान तैनाती भी सम्मिलित है. इस प्रकार की ड्यूटी में इन्हें इलेक्शन बूथ के इंस्टालेशन व् उनकी सुरक्षा से लेकर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों को हैंडल करना इत्यादि सभी सम्मिलित हैं.
  • भारत और तिब्बती सीमा पुलिस:आईटी०बीपी० एक बहु-आयामी शक्ति है जो मुख्य रूप से पाँच कार्य करती है-
    • भारत और चीन के बीच सीमा की सुरक्षा (लद्दाख से अरूणाचल प्रदेश तक)
    • उत्तरी सीमाओं की निगरानी, सीमा के उल्लंघन की रोकथाम व् इसका पता लगाना और स्थानीय आबादी के बीच सुरक्षा की भावना को बढ़ावा देना
    • अवैध इमीग्रेशन और ट्रांस-सीमा तस्करी की जाँच करना।
    • संवेदनशील स्थापनाओं और  वीआईपी को बाह्य धमकियों से सुरक्षा प्रदान करना।
    • किसी भी क्षेत्र में अशांति की स्थिति को बहाल करना और पूर्ववत बनाए रखना।
    • शांति बनाए रखना
  • सशस्त्र सीमा बल: एस०एस०बी० द्वारा निम्न प्रमुख भूमिकायें निभायी जाती है-
    • नेपाल और भारत - भूटान की सीमाओं पर भारत की सुरक्षा करना।
    • सीमा पार से अपराधों, तस्करी और अन्य राष्ट्रीय विरोधी गतिविधियों को रोकना।
  • केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल: सी०आई०एस०एफ० द्वारा निम्न प्रमुख भूमिकायें निभायी जाती है-
    • विभिन्न पी०एस०यू० के साथ अन्य महत्वपूर्ण आधारभूत संरचनाओं को सुरक्षा प्रदान करना।
    • सरकारी बुनियादी स्ट्रक्चरल परियोजनाओं और औद्योगिक इकाइयों की सुरक्षा करना
    • सीआई०एस०एफ० भारत में सभी वाणिज्यिक हवाई अड्डों पर सुरक्षा के लिए प्रभारी है
    • दिल्ली मेट्रो पर सुरक्षा, केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएस०एफ०) द्वारा नियंत्रित की जाती हैं.
    • औद्योगिक उपक्रम / इंस्टालेशनस को सुरक्षा प्रदान करने के अलावा, सीआई०एस०एफ० को आग के खतरों से भी सुरक्षा प्रदान करना होता है।
    • विशेष सुरक्षा समूह (एस०एस०जी०) गृह मंत्रालय द्वारा नामित व्यक्तियों को सुरक्षा कवर प्रदान करता है.

 दिल्ली पुलिस में सब इंस्पेक्टर (कार्यकारी) का जॉब प्रोफाइल

पुलिस में सब इंस्पेक्टर का पद सबसे शक्तिशाली पदों में से एक माना जाता है, क्योंकि इसको अथॉरिटी भारत की दंड प्रक्रिया संहिता मिली है

Job Profile of Sub Inspector in Delhi police

भारत के दंड प्रक्रिया संहिता के अनुसार, एक सब इंस्पेक्टर की अथॉरिटी में निम्नलिखित पावर्स निहित है-

  • वारंट के साथ या बिना गिरफ्तारी
  • किसी व्यक्ति की / उसके वाहन या / उसके परिसर में सर्च ऑपरेशन करना।
  • एक सब इंस्पेक्टर आपको जांच के दौरान आवश्यक दस्तावेजों को पेश करने का नोटिस दे सकता हैं, जिसका आपको पालन करना होगा।
  • किसी अपराधी व्यक्ति के खिलाफ एक एफ०आई०आर० रजिस्टर करना।
  • भारतीय दंड कोड के तहत सभी मामले, संसद द्वारा पारित विशेष कानूनों और राज्यों के स्थानीय  कानूनों को उप निरीक्षकों और निरीक्षकों द्वारा ही जांच कराया जाता हैं।
  • कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए, एक सब इंस्पेक्टर अनियंत्रित भीड़ को अलग करने का आदेश दे सकता हैं और इसे सुनिश्चित करने के लिए बल का प्रयोग भी कर सकता हैं।

दिल्ली पुलिस में एक सब इंस्पेक्टर की मुख्य जिम्मेदारी  ऊपर बताई गयी जिम्मेदारियों का उपयोग करके आधिकारिक तौर पर कानून और दिल्ली में व्यवस्था बनाए रखना है।

केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सी आई एस एफ) में सहायक उप निरीक्षक (ASI) की वेतन संरचना

केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बलों में सब इंस्पेक्टर (GD):

यह पोस्ट लेवल -6 (Rs.35400-112400 / -) के वेतनमान में आती है और ग्रुप 'बी' (अराजपत्रित), गैर-मंत्रिस्तरीय के रूप में वर्गीकृत की गयी है।

  • दिल्ली पुलिस में सब-इंस्पेक्टर (कार्यकारी) - (पुरुष / महिला):

यह पोस्ट लेवल -6 (Rs.35400-112400 / -) के वेतनमान में आती है और ग्रुप 'सी' (अराजपत्रित), गैर-मंत्रिस्तरीय के रूप में वर्गीकृत की गयी है।

Salary Structure of Sub Inspector in CAPF and Delhi Police

सीआईएसएफ में सहायक उप निरीक्षक: नौकरी प्रोफाइल और पदोन्नति

7वां वेतन आयोग लागू होने के बाद विभिन्न सरकारी पदों की वेतन संरचना को उन्नत किया जायेगा पूर्व संशोधित वेतन बैंड में इस पद की सैलरी रु०9300-34800 और ग्रेड वेतन रु० 4200 का है

7 वें वेतन आयोग के अंतर्गत विभिन्न सरकारी पदों के वेतन की गणना नीचे दिए गए फोर्मुले से की जा सकती है-

नया भुगतान = (1 जनवरी वर्ष 2016 का मूल वेतन* 2.57) + पद के लिए अन्य सभी भत्ते लागू

प्रमोशन नीति - दिल्ली पुलिस में सब इंस्पेक्टर (कार्यकारी) केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल में सब इंस्पेक्टर (जीडी) के लिए विकास के अवसर

Promotion policy of Sub Inspector in CAPF and Delhi Police

केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल में सब इंस्पेक्टर का प्रमोशन बीएसएफ के मानदंडों के ही समान है। बीएसएफ में  विभागीय परीक्षाओं को क्लियर करके आप प्रमोशन पा सकते है। केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल में एक उप निरीक्षक (SI) होने में गर्व की बात यह हैं कि यह दुनिया में सबसे अच्छे अर्धसैनिक बलों में से एक है। हालांकि यह एक फील्ड जॉब है और इसमें अन्य केन्द्रीय सरकार नौकरी के तरह कई लाभ निहित नहीं है, लेकिन आपको इसमें बहुत सम्मान  और एक अच्छा वेतन मिलता हैं और आप भारत के सबसे प्रतिष्ठित सैन्य संगठनों में से एक के साथ एक सब इंस्पेक्टर के रूप में काम कर रहे हैं। एक बार आप SSC सी०पी०ओ० परीक्षा के माध्यम से केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल में शामिल होते है तो आपको भारत में कहीं भी पोस्ट किया जा सकता है।

दिल्ली पुलिस में सब इंस्पेक्टर का प्रमोशन मुख्य रूप से व्यक्ति के कैरियर रिकॉर्ड, उसके काम के प्रदर्शन और सेवा के दौरान व्यवहार आचरणपर निर्भर करता है। सब इंस्पेक्टर को पहले इंस्पेक्टर के पद पर एक साफ़-सुथरे  सर्विस रिकॉर्ड के साथ पदोन्नत किया जाता हैं जो सामान्य रूप से 15-18 साल की सेवा के बाद प्रदान किया जाता  है और उसके  12-15 वर्ष के बाद ए०सी०पी० के पद के लिए आगे पदोन्नत किया जाता है. इसके अलावा एक SI को आउट ऑफ़ टर्न (OTP) पर भी पदोन्नत किया जा सकता है अगर वह सेवा में असाधारण योगदान देता हैं जिसमें किसी आतंकवादी को पकड़ना, अपराधियों के गिरोह का पर्दाफाश करना और अन्य अभूतपूर्व स्थिति से निपटना जैसे एनकाउंटर करना इत्यादि सम्मिलित है.

SSC CPO 2018 परीक्षा: पेपर-I, पेपर-II, फिजिकल और मेडिकल टेस्ट का विस्तृत परीक्षा पैटर्न

 

यदि आपको “SSC सब इंस्पेक्टर (SI) केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल और दिल्ली पुलिस: नौकरी प्रोफाइल, वेतन और प्रमोशनसपर जानकारी उपयोगी लगी हो तो आप SSC CGL परीक्षा 2018 के बारे में अधिक जानकारी के लिए www.jagranjosh.com/staff-selection-commission-ssc पर आते रहें.

Related Stories