Positive India: हैदराबाद की यह IAS अफसर ग्रीन गवर्नेंस के तहत पूरे जिले में ला रहीं हैं क्रांति - जानें IAS हरि चांदना और उनकी उपलब्धियों के बारे में

नारायणपेट की कलेक्टर हरि चांदना दसारी को प्रतिष्ठित प्रधानमंत्री लोक प्रशासन उत्कृष्टता 2020 पुरस्कार के लिए चुना गया है। 2010 बैच की इन IAS अफसर को एक ऐसे अधिकारी के रूप में जाना जाता है जो अपने काम के साथ रचनात्मकता का मिश्रण कर समाज में प्रभावशाली सुधार ला रहीं हैं। 

Jan 4, 2021 17:13 IST
Success story of IAS Hari Chandana in hindi
Success story of IAS Hari Chandana in hindi

IAS अफसर बनना देश के अधिकांश युवाओं का सपना होता है। इसमें से कुछ युवा IAS या IPS बन कर देश के लाखों युवाओं के लिए प्रेरणा बनते हैं। वहीं कुछ IAS अपने काम और कर्मनिष्ठा से पूरे समाज के लिए प्रेरणास्त्रोत बनते हैं। कुछ ऐसा ही कर दिखाया है नारायणपेट की कलेक्टर हरि चांदना दसारी ने। हरि 2010 बैच की IAS अफसर हैं और तेलंगाना कैडर में पोस्टेड हैं। उनकी अध्यक्षता में GHMC वेस्ट जोन पहला ISO : 14001:2015 सर्टिफाइड सरकारी कार्यालय बना। यहीं नहीं श्रीमती हरि चांदना ने समाज कल्याण के लिए कई योजनाओं की शुरुआत की जिसमे एकाकृत पेट पार्क एंड कैफ़े, बच्चों के लिए पंचतंत्र थीम पार्क, प्लास्टिक रीसाइक्लिंग एवं पुन: उपयोग इत्यादि शामिल है। उन्हें इन योजनाओं के लिए कई बार पुरुस्कृत किया गया है। आइये जानते हैं इन प्रतिभाशाली IAS अफसर के बारे में। 

तीन बार हुई UPSC प्रीलिम्स में फेल, चौथे एटेम्पट में हासिल की 40वीं रैंक - जानें डॉ अस्वथि श्रीनिवास की कहानी

पिता IAS और पति हैं IRS अफसर 

श्रीमती हरि चांदना के पिता भी एक IAS अफसर रहे हैं। इसी का नतीजा रहा कि पिता के तबादले के चलते उन्होंने अपनी शुरूआती पढ़ाई तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के 14 अलग-अलग स्कूलों से की। इसके बाद हरि ने हैदराबाद के सेंट ऐंस कॉलेज से ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की और हैदराबाद विश्विद्यालय से पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की। यहीं नहीं हरि ने लंदन स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स से पर्यावरण अर्थशास्त्र में M.Sc की डिग्री भी प्राप्त की है। उन्होंने 2010 में अपने दूसरे प्रयास में UPSC  सिविल सेवा परीक्षा पास की। आपको बता दें कि हरि के पति IRS अफसर हैं। 

समाज कल्याण और सुधार के लिए उठाये कई महत्वपूर्ण कदम 

श्रीमती हरि ने MA और UD विभाग में GHMC के विभिन्न क्षेत्रों में काम किया हैं। वह उत्तर क्षेत्र, मध्य क्षेत्र और पश्चिम क्षेत्र के आयुक्त के रूप में काम कर चुकी हैं। इसी दौरान उन्होंने समाज कल्याण और सुविधा के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए। 

गिव एंड शेयर कियोस्क - यह कियोस्क पूरी तरह से पुनर्नवीनीकरण प्लास्टिक से बना है। यह मंच जरूरतमंदों को दानकर्ता से जोड़ता है। वह यहाँ आ कर  इस्तेमाल किए गए कपड़े और किताबें एकत्र कर सकते हैं।

VAADA एप: इस मोबाइल एप्लीकेशन की मदद से विकलांग मतदाता तक पहुंचने के लिए टेक्स्ट टू स्पीच फीचर्स का इस्तेमाल किया गया। 

SHE मार्ट: यह मार्ट आजीविका की तलाश में महिलाओं द्वारा सराय के एक छोटे से स्टोर के साथ महिलाओं के लिए एक विशेष शौचालय है।

लक्ज़री टॉयलेट: शहर में विभिन्न स्थानों पर स्थापित किए गए अपने प्रकार के पहले लक्जरी टॉयलेट कैफे (लाओ कैफे) हैं। अब तक लगभग 70 से अधिक यूनिट लगा दिए गए हैं जहां यात्री आसानी से पहुंच सकते हैं।

फीड द नीड कॉन्सेप्ट: यह भारत की पहली और अनूठी अवधारणा है जहां GHMC ने एक NGO ऐप्पल होम के साथ करार किया है जो विभिन्न दाताओं से रेफ्रीजिरेटर प्राप्त करेगा और उन्हें शहर भर में सहूलियत बिंदुओं पर बनाए रखेगा। इस श्रृंखला में, कोई भी अतिरिक्त भोजन का योगदान दे सकता है जो कि गुणवत्ता का है और उसी को रेफ्रिजरेटरों में रखा जाता है। गरीब और जरूरतमंद उन्हें मुफ्त में ले सकते हैं और समान उपभोग कर सकते हैं। अब तक, शहर भर में 40 से अधिक फ्रिज स्थापित हैं। 

पेट पार्क: यह पेट मालिकों और उनके पेट्स के लिए  एक इंटीग्रेटेड पेट कैफे और वॉक एरिया वाला पहला पार्क है। इसका उद्घाटन 2017 में गाचीबोवली में किया गया था।

इसके अलावा डेंगू से निपटने के लिए ड्रोन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल, आर्गेनिक वेस्ट को LPG में बदलने के लिए बायो मीथेन तकनीक का इस्तेमाल, बच्चों के लिए पंचतंत्र थीम पार्क जैसी अहम परियोजनाओं के लिए भी श्रीमती हरि चांदना को जाना जाता है। 

IAS हरि चांदना के नाम हैं कई उपलब्धियाँ 

IAS हरि चांदना ने समाज के हर वर्ग के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाओं का प्रक्षेपण किया है जिसके लिए उन्हें कई बार सम्मानित किया गया है। उन्हें इस वर्ष  प्रधानमंत्री लोक प्रशासन उत्कृष्टता पुरस्कार के लिए भी चुना गया है। इसके अलावा उन्हें राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार 2017, शेखर गुप्ता की प्रिंट मैगज़ीन में शीर्ष चार (4) सफल और गतिशील IAS / IPS अधिकारी, बेटर इंडिया मैगज़ीन में शीर्ष दस (10) नौकरशाह - 2018, इंडियन एक्सप्रेस पॉलिसी - इको वॉरियर्स ऑफ इंडिया आदि सम्मान से भी नवाज़ा गया है। 

IAS हरि चांदना कहती हैं "माता-पिता हमेशा से मेरी प्रेरणा रहे हैं। अब मेरी बेटी भी मेरे लिए प्रेरणा का एक स्रोत है। वह हमें याद दिलाती है कि अगली पीढ़ी के लिए एक बेहतर दुनिया बनाना हमारी उदार सामाजिक जिम्मेदारी है।" IAS हरि चांदना देश के प्रत्येक नागरिक के लिए एक प्रेरणा हैं। वह ना केवल अपना आधिकारिक कर्तव्य निभा रही हैं बल्कि एक कदम आगे बढ़ कर बेहतर कल के लिए नयी सोच के साथ आधुनिक काम कर रही हैं। 

UPSC 2019 में 23वीं रैंक हासिल करने वाली निधि बंसल से जानें उनकी तैयारी का फार्मूला और मेंस के लिए टिप्स

Related Categories