ये हैं भारत में आपके लिए अल्टरनेटिव मेडिसिन के बेहतरीन करियर्स

इन दिनों हमारे देश भारत में भी अल्टरनेटिव मेडिसिन में कई बेहतरीन करियर्स उपलब्ध हैं. आप भी  अल्टरनेटिव मेडिसिन्स में अपनी पसंद का कोई करियर चुनकर काफी कमाई कर सकते हैं.

Created On: Sep 6, 2021 14:56 IST
Best Careers in Alternative Medicine in India for You
Best Careers in Alternative Medicine in India for You

अब भी ‘स्वास्थ्य हजार नियामत’ जैसी कहावतें हमें हमेशा हेल्दी रहने की प्रेरणा देती हैं. लेकिन, कभी मौसम तो कभी गलत खान-पान या फिर, किसी एलर्जी या इन्फेक्शन के कारण बहुत बार हम बीमार हो जाते हैं. इसी तरह, इन दिनों उदासी, बेचैनी, निराशा, तनाव या चिड़चिड़ापन हमारे मानसिक स्वास्थ्य पर काफी बुरा प्रभाव डाल रहे हैं. ऐसे में, शारीरिक या मानसिक रूप से अस्वस्थ होने से पहले ही अगर हम  किसी डॉक्टर से हॉस्पिटल या प्राइवेट क्लिनिक में अपना इलाज करवाने के बजाए, ‘अल्टरनेटिव मेडिसिन’ से स्वस्थ रहने के कुछ तरीके जान लें तो हम शारीरिक और मानसिक तौर पर काफी स्वस्थ रह सकते हैं. भारत के प्रधानमंत्री द्वारा शुरू किया गया ‘फिट इंडिया मूवमेंट’ भी हमें हेल्दी और फिट रहने की प्रेरणा देता है. अगर हम अल्टरनेटिव मेडिसिन में अपना मनचाहा करियर बना लें तो हम खुद स्वस्थ रहने के साथ ही अपने संपर्क में आने वाले अन्य कई लोगों को स्वस्थ रहने के लिए मोटीवेट भी करने के साथ ही काफी बढ़िया कमाई भी कर सकते हैं.

यूं तो अल्टरनेटिव मेडिसिन की फील्ड में आप हेल्थ से जुड़े कई पेशों को शामिल कर सकते हैं लेकिन इस आर्टिकल में हम कुछ खास ऐसे करियर ऑप्शन्स या पेशों की बात कर रहे हैं जो हमरे तन-मन को हेल्दी रखते हैं ताकि न तो हम बीमार पड़ें और न ही हमें डॉक्टर्स की महंगी मेडिसिन्स ही लेनी पड़ें. आप यह भी अच्छी तरह से जानते हैं कि हरेक मेडिसिन के हमारे शरीर पर कुछ नेगेटिव या साइड इफेक्ट्स पड़ते ही हैं. इसलिए, अल्टरनेटिव मेडिसिन की फील्ड के विभिन्न तरीकों का इस्तेमाल करके हम हमेशा हेल्दी रह सकते हैं. अल्टरनेटिव मेडिसिन की फील्ड में मनचाहा करियर शुरू करने के लिए आप इस आर्टिकल से विस्तृत जानकारी हासिल कर लें.

हमारे देश में अल्टरनेटिव मेडिसिन सिस्टम में मुख्य रूप से विभिन्न AYUSH (आयुर्वेद, यूनानी, योग, नेचुरोपैथी, सिद्ध  और होमियोपैथी) स्ट्रीम्स को शामिल किया जाता है. एक अनुमान के मुताबिक भारत में वर्ष 2020 तक AYUSH का कारोबार तकरीबन 15 बिलियन डॉलर तक पहुंच जायेगा. इस डाटा से हम अल्टरनेटिव मेडिसिन की फील्ड में कोई करियर शूरु करने के महत्व को समझ सकते हैं.

भारत में अल्टरनेटिव मेडिसिन से संबंधित प्रमुख करियर्स/ जॉब प्रोफाइल्स

हमारे तन-मन के स्वास्थ्य के लिए अल्टरनेटिव मेडिसिन की फील्ड का महत्व समझने के बाद अब हम इस फील्ड के कुछ प्रमुख करियर ऑप्शन्स की चर्चा कर रहे हैं जिनमें आप अच्छी कमाई करने के साथ ही अच्छी करियर ग्रोथ कर सकते हैं. आइये आगे पढ़ें:

आयुर्वेद

भारत में आयुर्वेद की फील्ड में आपके लिए बेहतरीन करियर स्कोप है और इस फील्ड में अपना करियर शुरू करने के लिए कैंडिडेट्स ने किसी मान्यताप्राप्त एजुकेशनल बोर्ड से अपनी 12वीं क्लास प्रेफरेबली साइंस स्ट्रीम से पास की हो. आयुर्वेद की फील्ड में कोई सूटेबल करियर शुरू करने के लिए या किसी अच्छी जॉब को हासिल करने के लिए आयुर्वेद में डिप्लोमा, अंडरग्रेजुएट कोर्सेज (BAMS/ BSMS), पोस्टग्रेजुएट कोर्सेज (MBA/ MD/ MS - आयुर्वेद) और डॉक्टोरल डिग्री कोर्सेज जैसेकि, MPhil और/ या PHD की डिग्री हासिल की हो. हमारे देश में आप एक आयुर्वेद फिजिशियन, आयुर्वेद कंसलटेंट, फार्मासिस्ट, थेरेपिस्ट/ मसाज थेरेपिस्ट, नर्स/ मिडवाइफ, आयुर्वेद मेडिकल ऑफिसर, साइंटिस्ट, पंचकर्म सेंटर्स में सुपरवाइज़र्स  तौर पर अपना करियर बना सकते हैं. हमारे देश में आयुर्वेद की किसी भी फील्ड में गवर्नमेंट सेक्टर में कंसलटेंट के तौर पर अपनी प्रैक्टिस शुरू करने पर किसी भी व्यक्ति को 25 हजार – 30 हजार रुपये मासिक मिलते हैं. भारत सरकार आयुर्वेद मेडिकल ऑफिसर्स को भी रिक्रूट करती है जिन्हें पे स्केल 15,600 – 39,100 रुपये के साथ 5400 रुपये ग्रेड पे मिलती है. प्राइवेट सेक्टर में किसी भी आयुर्वेदिक प्रैक्टिशनर के टैलेंट, वर्क एक्सपीरियंस और एजुकेशनल क्वालिफिकेशन के मुताबिक सैलरी पैकेज दिया जाता है.

योग

‘योग’ हमारे लिए एक सुपरिचित शब्द होने के साथ-साथ अधिकतर लोगों के दैनिक जीवन का अभिन्न हिस्सा बन चुका है. शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को काफी फायदा देने के कारण योग अब इंटरनेशनल लेवल पर सुप्रसिद्ध एक्टिविटी बन चुका है. यदि आप योग में रुचि रखते हैं तो यह आपको आकर्षक करियर ऑप्शन्स भी प्रदान करेगा. इस फील्ड में करियर की शुरुआत 12वीं के बाद और/ या ग्रेजुएशन के बाद की जा सकती है. हमारे देश में योग में ट्रेनिंग प्राप्त करने के लिए कई डिग्री, डिप्लोमा और सर्टिफिकट कोर्सेज उपलब्ध हैं. बैचलर ऑफ आर्ट्स (योग), मास्टर इन आर्ट्स (योग), पीजी डिप्लोमा इन योग थैरेपी कोर्सेज की आजकल बहुत डिमांड है. योग एक्सपर्ट या नैचूरोपैथ के तौर पर करियर शुरू करने की इच्छा रखने वाले कैंडिडेट्स 5 साल और 6 महीने का बैचलर ऑफ नैचुरोपैथी एंड योगिक साइंसेज (BNYS) कोर्स कर सकते हैं. योग की डिग्री लेकर अपना कारोबार भी खोला जा सकता है. विश्व में कई ऐसे एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स हैं जहां योग ट्रेनर्स की बहुत जरूरत है. अब जब भारत सहित दुनिया-भर के देशों में योग के बारे में अधिकतर लोग सचेत हैं और इसमें गहरी दिलचस्पी दिखा रहे हैं तो आप एक ‘योग ट्रेनर’ का करियर अपनाकर आप खुद को हेल्दी रखते हुए पूरी दुनिया को योग सिखाकर अच्छी कमाई करने के साथ-साथ सुकून की जिन्दगी जी सकते हैं. शुरू के दिनों में ये पेशेवर एवरेज 25 हजार रूपये मासिक कमाते हैं लेकिन इस फील्ड में पीएचडी डिग्री होल्डर 1 लाख रुपये मासिक तक भी कमा सकता है.    

एनर्जी हीलिंग

यह भी अल्टरनेटिव मेडिसिन की एक विशेष फील्ड है जिसमें हमारा नेचुरल एनर्जी लेवल बढ़ाकर कई शारीरिक और मानसिक बीमारियों का इलाज किया जाता है. इस फील्ड में रेकी, लाइट थेरेपी और मैग्नेटिक थेरेपी और प्राणिक हीलिंग को शामिल किया जाता है. इस पेशे में अपना करियर शुरू करने के लिए पेशेवरों के पास लाइसेंस और/ या सर्टिफिकेट जरुर होना चाहिए. इस फील्ड में पेशेवर हरेक सेशन का एवरेज चार्ज 500 – 1500 रूपये तक लेते हैं. ये चार्जेज पेशेवर की प्रोफेशनल क्वालिफिकेशन और वर्क एक्सपीरियंस के आधार पर निर्धारित किये जाते हैं.

लाइफ कोचिंग

भारत में अभी यह कुछ नया करियर ऑप्शन है लेकिन दुनिया में 1980 के दशक से ये पेशेवर लोगों को उनके निजी और प्रोफेशनल जीवन में अच्छा संतुलन कायम करने में सहायता कर रहे हैं. इस फील्ड के पेशेवरों का प्रमुख काम अपने मोटिवेशन के जरिये लोगों के व्यक्तिगत और प्रोफेशनल जीवन में संतुलन लाना है ताकि इनके क्लाइंट्स अपने जीवन के हरेक क्षेत्र में कामयाब हो सकें. ये पेशेवर लोगों का आत्मविश्वास बढ़ाकर उनके दैनिक जीवन में ख़ुशी और जोश का संचार करते हैं ताकि लोग अपने व्यक्तिगत और प्रोफेशनल जीवन की सभी परेशानियों और चुनौतियों का डटकर सामना कर सकें और शारीरिक तथा मानसिक तौर पर बिलकुल स्वस्थ रहें. एक लाइफ कोच गाइडेंस, बिहेवियर इम्प्रूवमेंट और एम्पॉवरमेंट के जरिये अपने क्लाइंट्स का जीवन सही दिशा में मोड़ देता है. ये पेशेवर अपने हरेक सेशन के लिए एवरेज 1000-2500 रूपये तक चार्ज करते हैं. इनकी फीस अपने क्लाइंट्स की संख्या और हैसियत और वर्क एक्सपीरियंस के मुताबिक बढ़ती जाती है.

एक्यूपंक्चर

यह भारत के लोगों के लिए कुछ नया या अलग करियर ऑप्शन हो सकता है क्योंकि वास्तव में एक्यूपंक्चर हमारे पड़ोसी देश चीन की काफी पुरानी लेकिन कारगर चिकित्सा पद्धति है जिसका प्रयोग शरीर के विभिन्न हिस्सों में होने वाले दर्द, माइग्रेन, दिल से जुड़े रोगों और डाइजेशन की प्रॉब्लम्स को ठीक करने के लिए किया जाता है. इसमें पेशेंट का इलाज छोटी-छोटी नीडल्स के माध्यम से किया जाता है. आप इंडियन एकेडेमी ऑफ़ एक्यूपंक्चर साइंस से इस फील्ड में कोर्स करके अपना करियर शुरू कर सकते हैं. ये पेशेवर लगभग 200 रूपये प्रति घंटा के हिसाब से अपनी फीस लेते हैं. अनुभवी पेशेवरों की फीस भी बढ़ती जाती है.

मसाज/ स्पा

इस फील्ड से जुड़े पेशेवर बॉडी पेन, स्ट्रेस, स्पोर्ट्स इंजरीज़ आदि को ठीक करने के लिए कई किस्म के मेडिकेटिड और एरोमेटिक ऑयल्स/ क्रीम्स/ लोशंस/ जेल्स और स्टोंस का इस्तेमाल करके बॉडी मसाज या स्पा ट्रीटमेंट के माध्यम से अपने पेशेंट्स और/ या क्लाइंट्स का इलाज करते हैं. हमारे देश के कई एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स मसाज/ स्पा थेरेपी में प्रोफेशनल कोर्सेज करवाते हैं और सफल कैंडिडेट्स को सर्टिफिकेट प्रदान करते हैं. इन पेशेवरों को शुरू में एवरेज 20 – 25 हजार रूपये मासिक सैलरी मिलती है. मैनेजमेंट के लेवल पर इन पेशेवरों को एवरेज 70 – 80 हजार रुपये तक मासिक सैलरी भी मिलती है. ये पेशेवर अपना क्लिनिक या स्पा सेंटर खोलकर काफी अच्छी कमाई कर सकते हैं.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

भारत में मेडिसिन की फील्ड में करियर प्रोस्पेक्ट्स और स्कोप

भारत में मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव के लिए जरुरी क्वालिफिकेशन्स और करियर स्कोप

नर्स बनकर बनाएं अपनी सेवा भावना को अपना प्रोफेशन

 

 

Related Categories

    Comment (0)

    Post Comment

    1 + 7 =
    Post
    Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.