Search

कॉलेज स्टूडेंट्स कैसे करें रेंट कम करवाने के लिए बातचीत?

क्या आप कोई कमरा किराये पर लेना चाहते हैं? किराया कम करवाने के लिए बातचीत करने में सहायक कुछ महत्वपूर्ण टिप्स और ट्रिक्स देखें इस आर्टिकल में.

Dec 5, 2017 18:54 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Tips and tricks for negotiating rent for college students
Tips and tricks for negotiating rent for college students

अधिकांश स्टूडेंट्स के लिए कॉलेज लाइफ का मतलब अपने घर-परिवार से दूर किसी अन्य शहर में रहना है. इसका मतलब अपने रहने के लिए किसी उपयुक्त जगह या आवास की तलाश करना भी है. अधिकांश स्टूडेंट्स PG और हॉस्टल्स में रहना पसंद करते हैं. लेकिन, कुछ स्टूडेंट्स अपने लिए किराये पर कोई  कमरा या फ्लैट लेना चाहते हैं. अब, जो सबसे बड़ी समस्या छात्रों के सामने आती है, वह है अत्यधिक किराये की मांग. हॉस्टल और PG से निजी आवास कहीं ज्यादा महंगे होते हैं. PG और हॉस्टल में कुछ हद तक तो आप मोल-भाव कर सकते हैं लेकिन अक्सर इनके किराये पहले से ही तय होते हैं. यहां क्योंकि काफी छात्र एक साथ रहते हैं, इसलिये प्रत्येक छात्र के लिए अलग किराया या कीमत तय नहीं किये जा सकते हैं. लेकिन, जब किराया तय करते वक्त सौदेबाजी का मुद्दा उठे तो निजी आवास में मोल-भाव की कुछ ज्यादा गुंजाइश रहती है. हालांकि, बारगेनिंग/ सौदेबाजी या मोल-भाव करना एक कला है और अपने बजट के मुताबिक किराया देने के लिए आपको कुछ टिप्स और ट्रिक्स की जानकारी होनी चाहिए. छात्रों को बहुत बार इन टिप्स और ट्रिक्स की जानकारी नहीं होती है. इसलिये, इस आर्टिकल में हम आपकी सहूलियत के लिए कुछ बढ़िया टिप्स और ट्रिक्स प्रस्तुत कर रहे हैं ताकि आप भी अपने रेंट तय करते समय प्रभावी बातचीत कर सकें और कम रेंट पर बढ़िया रिहाइश प्राप्त कर सकें.

आस-पास के क्षेत्र की अच्छी तरह रिसर्च करें

किसी जगह पर आवास की तलाश करने से पहले आप यह सुनिश्चित कर लें कि आपको कुछ मूलभूत बातों की अच्छी जानकारी पहले से ही हो जैसेकि, किसी एरिया की औसत रेंट कीमत. इसका सबसे सरल तरीका यह है कि आप प्रॉपर्टी वेबसाइट्स पर ऑनलाइन कीमतें देखें अन्यथा आप किसी स्थान की रेंट कीमतों की जानकारी पास-पड़ोस के प्रॉपर्टी ब्रोकर्स से भी प्राप्त कर सकते हैं. यह आपके लिए बहुत जरुरी है क्योंकि जब आप किसी जगह किराये के कमरे की तलाश करेंगे तो आपको पहले ही से उस स्थान की औसत कीमत की जानकारी होगी और आप उसके अनुसार ही अपने किराये को लेकर बातचीत कर सकेंगे. आपको पता होना चाहिए कि किसी स्थान विशेष में प्रॉपर्टी की क्या कीमत है ताकि आपको जरूरत से ज्यादा किराया न देना पड़े. 

ब्रोकर के बजाय आवास के मालिक से सीधे करें बातचीत

अगर संभव हो तो प्रॉपर्टी ऑनर या आवास के मालिक से सीधे बातचीत करें. ब्रोकर्स से कोई संपर्क न करें क्योंकि वे बहुत अधिक कमीशन लेते हैं जो आपको अपनी जेब से भरना पड़ेगा. इसके अलावा, अगर आप आवास के मालिक से सीधे बात करेंगे तो वे ज्यादा खुलकर किराये के संबंध में आपसे बातचीत करेंगे और फिर शायद आप कुछ अधिक रूपये अपने किराये में कम करवा लें. अगर आप कुछ महीनों का अग्रिम किराया दे सकते हैं तो शायद आपको किराये के भुगतान में कुछ ज्यादा छूट मिल जाए क्योंकि कुछ महीनों का अग्रिम किराया मिलने पर आवास के मालिक अपनी मर्जी से आपको किराये में कुछ अधिक छूट देंगे.

पूर्व आवास मालिकों से रिकमेन्डेशन्स प्राप्त करें

अगर एक किरायेदार के रूप में आपका ट्रैक रिकॉर्ड बढ़िया है तो अपने पूर्व आवास मालिकों से रिकमेन्डेशन्स प्राप्त करें. आपके समर्थन में उनकी तरफ से कुछ अच्छे शब्द आपको मोल-भाव करने में फायदा पहुंचा सकते हैं. अगर वे आपके समर्थन में यह कह दें कि यह बच्चा हमेशा समय पर अपना किराया देता है, अपने आस-पास सफाई रखता है तो इससे आपके नये आवास मालिक वास्तव में प्रभावित होते हैं और फिर, वे आपको किराये में छूट देने के लिए राज़ी हो सकते हैं. किसी भी मकान मालिक के लिए कम किराये पर एक अच्छा किरायेदार रखना कहीं फायदेमंद रहता है बनिस्पत किसी ऐसे किरायेदार के, जो किराया तो ज्यादा देता है लेकिन अपने मकान मालिक को हर तरह से परेशान करता रहता है. 

एरिया में यातायात और अन्य सुविधायें

आप जिस जगह किराये पर कमरा लेना चाहते हैं, उस जगह यातायात और बाजार जैसी अन्य सुविधाओं के बारे में पहले जांच-पड़ताल करें. अगर सबसे नजदीक का बस स्टॉप या मेट्रो स्टेशन दूर है तो आप इस बात का जिक्र करके अपना किराया कम करवा सकते हैं. अपने मकान मालिक से चर्चा करें कि वे इस बात को अच्छी तरह से समझें कि आप एक छात्र हैं और आपको काफी कम बजट में अपने सभी खर्च उठाने पड़ते हैं. अगर आपको सबसे नजदीक के बस स्टॉप या मेट्रो स्टेशन दूर होने पर भी अधिक किराया देना पड़ेगा तो फिर आप अपने ट्रेवल एक्सपेंस या यातायात के खर्च कैसे उठायेंगे? इस प्वाइंट के मद्देनजर कोई भी समझदार व्यकित आपको किराये में अवश्य कुछ छूट देगा.

न दें गैर-जरुरी सामान हेतु अतिरिक्त किराया

एक छात्र के तौर पर आपको बहुत अधिक ऐशोआराम के सामान की जरूरत नहीं है और आप बहुत से गैर-जरुरी सामान के बिना अपना गुजारा चला सकते हैं. किसी ऐसी रिहाइश की तलाश करें जहां बहुत अधिक सुख-सुविधाएं न हों क्योंकि ऐसा कमरा आपको कम कीमत पर मिल सकता है. किसी सुख-सुविधाओं से सुसज्जित कमरे की कीमत हमेशा ज्यादा होती है. आप अपनी जरूरत के मुताबिक सामान खुद भी खरीद सकते हैं. जरा सोचिये! जिन सुख-सुविधाओं की जरूरत आपको नहीं है, उनकी कीमत आप क्यों चुकायेंगे?

एक्स्ट्रा सर्विसेज के बारे में पहले ही कर लें बातचीत

अगर आपको कोई ऐसी जगह मिले जो रहने के लिए बहुत बढ़िया है लेकिन उस जगह के मालिक किराये को लकर कोई बातचीत नहीं करेंगे. ऐसी स्थिति में आप कुछ एक्स्ट्रा सर्विसेज के बारे में पहले ही बातचीत कर लें. उदाहरण के लिए, क्या आपके मकान मालिक किसी मरम्मत का खर्च स्वयं उठायेंगे? अगर आप कुछ ज्यादा कीमत दे रहे हैं तो आपको कुछ अतिरिक्त लाभ भी तो मिलने चाहियें.

रूममेट्स की तलाश करें

किसी रूममेट की तलाश करें. इससे आपको केवल आधा किराया देना होगा. किराये की कीमतों में कोई फर्क नहीं पड़ेगा फिर चाहे आप किसी कमरे में अकेले रहें या 2-3 अन्य रूममेट्स के साथ अपना कमरा शेयर करें. कोई कमरा एक साथ किराये पर लेने पर आप ज्यादा अच्छा और खुला-खुला कमरा उपयुक्त किराये पर ले सकते हैं.

बातचीत करते समय रखें खुद पर विश्वास

अंत में, यह आपके लिए अत्यावश्यक है कि किराये की बातचीत करते समय आप खुद पर पूरा भरोसा रखें. अगर आपको किसी भी वक्त ऐसा लगे कि कहीं कुछ गड़बड़ है तो फाइनल अग्रीमेंट पर हस्ताक्षर नहीं करें. जब फाइनल एग्रीमेंट का ड्राफ्ट बन जाए तो अवश्य उसे बहुत सावधानीपूर्वक पढ़ें. रेंट एग्रीमेंट पर सिग्नेचर करने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आप रेंट एग्रीमेंट में उल्लिखित प्रत्येक प्वाइंट से सहमत हैं.

क्या आपने यह आर्टिकल पसंद किया है? इसे अपने दोस्तों और सहकर्मियों के साथ अवश्य शेयर करें. ऐसे और अधिक आर्टिकल पढ़ने के लिए  www.jagranjosh.com/college पर विजिट करें. इसके अलावा, आप नीचे दिए गए बॉक्स में अपना ईमेल-आईडी सबमिट करके भी ये आर्टिकल सीधे अपने इनबॉक्स में प्राप्त कर सकते हैं.

Related Stories