JEE Main की परीक्षा में OMR sheet भरते समय अधिकतर विद्यार्थी करते हैं ये गलतियाँ

इस लेख में हम आपको बताने जा रहें हैं कि स्टूडेंट्स कैसे Offline इंजीनियरिंग परीक्षा जैसे JEE Main, UPSEE/ UPTU, WBJEE में OMR Sheet में bubbles भरने के लिए किन तरीकों को अपना सकतें हैं | छात्र इन तरीकों को अपना कर Offline इंजीनियरिंग परीक्षा में OMR Sheet में bubbles भरने में कोई गलती नहीं करंगे|

Created On: Apr 2, 2018 16:31 IST
Modified On: Oct 16, 2018 10:40 IST
Common Mistakes made while filling JEE Main OMR sheet/Answer sheet
Common Mistakes made while filling JEE Main OMR sheet/Answer sheet

अब इंजीनियरिंग परीक्षा 2018 जैसे JEE Main, JEE Advanced, UPSEE/ UPTU, WBJEE, VITEEE, SRMJEE में कुछ ही दिन शेष हैं| इंजीनियरिंग परीक्षा दो तरीकों से होती है Offline Mode और Online Mode

1. Online इंजीनियरिंग परीक्षा में छात्र Computer के माध्यम से परीक्षा देते हैं | Online इंजीनियरिंग परीक्षा में छात्र एक समय में केवल एक ही प्रश्न को अपनी Computer Screen पर देख सकतें हैं और उसके बाद Next Question वाले बटन को दबा कर अगला प्रश्न देख सकतें हैं |

JEE Advanced, VITEEE और SRMJEEE जैसी इंजीनियरिंग परीक्षाएं Online माध्यम से प्रत्येक वर्ष होतीं हैं |

2. Offline इंजीनियरिंग परीक्षा में छात्रों को एक प्रश्न पत्र और OMR Sheet दी जाती है | जिसमे छात्रों को प्रश्न पत्र के प्रश्नों को हल करने के बाद OMR Sheet में प्रत्येक प्रश्न के सामने वाला bubble भरना पड़ता है |

JEE Main, UPSEE और WBJEEE जैसी इंजीनियरिंग परीक्षाएं Offline माध्यम से प्रत्येक वर्ष होतीं हैं |

इस लेख में हम आपको Offline इंजीनियरिंग परीक्षा में छात्रों द्वारा OMR Sheet भरने के लियें अपनाएं जाने वाले तरीकों के बारे में बताने जा रहें हैं | Offline इंजीनियरिंग परीक्षा जैसे JEE Main, UPSEE और WBJEEE में छात्रों द्वारा अपनाई जाने वाली विधियाँ निम्लिखित हैं |

Engineering Entrance Exams 2018: लास्ट 6 महीने में तैयारी करने के सुपर मन्त्र

1. प्रत्येक प्रश्न के बाद OMR Sheet भरना : इस विधि में छात्र प्रत्येक प्रश्न को हल करने के बाद OMR Sheet में bubbles भर सकतें हैं | छात्रों को लगता है ऐसा करने से उनकी Accuracy बनी रहेगी किंतु इससे छात्रों को समय बर्बाद होता हैं और प्रश्न पत्र हल करने की गति (speed) भी कम हो जाती है |

2. पूरा प्रश्न पत्र हल करने के बाद अंतिम में OMR Sheet भरना: इस विधि में छात्र पूरे प्रश्न पत्र को हल करने के बाद OMR Sheet में bubbles भर सकतें हैं | इस विधि में छात्रों का प्रश्न पत्र तो पूरा हल हो जाता है किंतु OMR Sheet में bubbles भरने के लिए समय नहीं मिलता और छात्र जल्दि जल्दि में OMR Sheet में गलत bubble भर देते हैं |

3. किसी एक निश्चित interval के बाद भरना: इस विधि में छात्र एक निश्चित interval के बाद OMR Sheet में bubbles भर सकतें हैं | इस विधि से छात्रों का समय भी बर्बाद नहीं होता और Accuracy भी बनी रहती है| साथ ही साथ छात्रों के दिमाग को थोडा रिलैक्स(Relax) भी मिल जाता हैं|

IIT JEE 2018 : जरूर जाने JEE छात्रों द्वारा अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों के उत्तर

अंतिम विधि में छात्र तीन तरिके अपना सकतें हैं |

1. Approach based on Time: इस विधि में छात्र एक निश्चित समय के बाद OMR Sheet में bubbles भर सकतें हैं |

जैसे कि अगर किसी प्रशन पत्र को हल करने के लिए समय अवधि 3 घटें है तो छात्र अपनी सुविधा के अनुसार 10 या 15 minutes का interval बना सकतें हैं | प्रत्येक interval में प्रश्न हल करने के बाद छात्र OMR Sheet में bubbles भर सकतें हैं | जिससे छात्र 3 घंटों में अधिक से अधिक प्रश्न कर भी पायंगे और सभी प्रश्नों के उत्तर को OMR Sheet में भर भी पायंगे |

2. Approach based on number of questions: इस विधि में छात्र कुछ प्रश्न हल करने के बाद OMR Sheet में bubbles भर सकतें हैं |

जैसे कि अगर किसी प्रशन पत्र में 90 प्रश्न हैं तो छात्र अपनी सुविधा के अनुसार 10 या 15 प्रश्न को हल कर सकतें हैं और उसके बाद उन प्रश्नों के bubbles को OMR Sheet में भर सकतें हैं |

3. Approach based on number of pages of question paper: इस विधि में छात्र प्रशन पत्र के कुछ pages के प्रश्न हल करने के बाद OMR Sheet में bubbles भर सकतें हैं |

अगर किसी प्रशन पत्र में 20 pages हैं तो छात्र अपनी सुविधा के अनुसार 2 या 3 pages के प्रश्न हल करने के बाद OMR Sheet में bubbles भर सकतें हैं |

अगर आप इंजीनियरिंग को चुन रहें हैं अपना करियर, तो ज़रूर जान लें ये खास बातें!

सारांस: Offline इंजीनियरिंग परीक्षा जैसे JEE Main, UPSEE और WBJEEE में छात्रों द्वारा द्वारा OMR Sheet भरने के लियें अपनाई जाने वाली विधियाँ हैं |

1. प्रत्येक प्रश्न के बाद OMR Sheet भरन

2. पूरा प्रश्न पत्र हल करने के बाद अंतिम में OMR Sheet भरना

3. किसी एक निश्चित interval के बाद भरना

हमारे अनुसार छात्रों को तीसरी मतलब किसी एक निश्चित interval के बाद OMR Sheet भरने वाली विधि अपनानी चाहिए| इस विधि से छात्रों का समय भी बर्बाद नहीं होगा और Accuracy भी बनी रहेगी | इसके अलावा छात्रों के दिमाग को थोडा रिलैक्स(Relax) भी मिलेगा |

JEE Main 2018: जानिए एग्जाम के लिए mock tests क्यों हैं ज़रूरी

क्या आप जानते हैं JEE को crack करने के लिए सैंपल पेपर हल करना कितना महत्त्वपूर्ण है?

Comment ()

Related Categories

    Post Comment

    7 + 5 =
    Post

    Comments