Search

ये 3 कोर्स स्ट्रीम्स दिला सकते हैं आपको सूटेबल जॉब

अगर आपने अपनी इंटर पास कर ली है और अब आपको यह समझ में नहीं आ रहा है कि आगे क्या करें?.....तो इस आर्टिकल में हम आपके लिए ऐसे 3 कोर्स स्ट्रीम की चर्चा कर रहे हैं जो आपको एक सूटेबल जॉब दिलवाने में सहायता करेंगे.

Mar 27, 2020 16:43 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Top 3 Courses which provide you job after Intermediate
Top 3 Courses which provide you job after Intermediate

हमारे देश में अपनी 12वीं क्लास या इंटरमीडिएट पास करने के बाद अक्सर स्टूडेंट्स काफी कंफ्यूज़ हो जाते हैं कि आगे अपनी पढ़ाई जारी रखें या फिर कोई पार्ट टाइम जॉब या अन्य सूटेबल जॉब ज्वाइन कर लें. इन स्टूडेंट्स के पेरेंट्स, दोस्त और रिश्तेदार भी इनसे भविष्य के बारे में ऐसे कई सवाल पूछते हैं जिनसे इन स्टूडेंट्स का कंफ्यूजन और बढ़ जाता है. आखिर यह स्टूडेंट्स के जीवन का एक ऐसा फेज होता है जिसमें लिया गया निर्णय उनके पूरे जीवन और करियर को प्रभावित करता है. इन स्टूडेंट्स के  इसी निर्णय पर इनका भावी सामाजिक और आर्थिक स्तर या विकास निर्भर करता है. इसलिए इन स्टूडेंट्स का कंफ्यूजन हमें जायज मालूम होता है. स्टूडेंट्स की अपने भविष्य को लेकर ऐसी सभी परेशानियों और कंफ्यूजन को दूर करने के लिए हम यहां कुछ ऐसे कोर्सेज की चर्चा कर रहे हैं जो इन इंटरमीडिएट पास स्टूडेंट्स को सूटेबल जॉब दिलवा सकते हैं या फिर, स्टूडेंट्स कोई नौकरी या पार्ट टाइम जॉब करने के साथ ही अपनी पढ़ाई भी आगे जारी रख सकते हैं. इस बारे में सटीक जानकारी हासिल करने के लिए आइये आगे पढ़ें यह आर्टिकल:

अनेक करियर ऑप्शन्स: आपको मिलेगा फायदा या नुकसान

आजकल पूरी दुनिया में बेशुमार करियर्स और जॉब ऑप्शन्स ऑफर किये हैं. बहुत-सी जॉब प्रोफाइल्स तो ऐसी हैं जिनके लिए आपके पास ग्रेजुएशन या पोस्टग्रेजुएशन की डिग्रियां होना भी आजकल जरुरी नहीं है. आजकल जॉब मार्केट में विभिन्न कोर्सेज और जॉब ऑप्शन्स की भरमार होने के कारण ही स्टूडेंट्स का कंफ्यूज हो जाना बिलकुल स्वाभाविक ही है कि, इन ढेरों करियर ऑप्शन्स के हमें  फायदे होंगे या नुकसान? वास्तव में कई बार स्टूडेंट्स अपने पैशन के कारण कोई ऐसा कोर्स चुन लेते हैं जो उनके टैलेंट और स्किल लेवल के अनुकूल नहीं होता है या फिर, वे कोई ऐसा कोर्स करना चाहते हैं जो उन्हें काफी आसान लगता है लेकिन बाद में उन स्टूडेंट्स को महसूस होता है कि उनके पसंदीदा करियर के लिए उनका स्टडी-कोर्स उपयुक्त नहीं है. लेकिन अगर स्टूडेंट्स अपनी रूचि, योग्यता, स्किल्स, टैलेंट और क्वालिफिकेशन के मुताबिक अपना करियर ऑप्शन या स्टडी कोर्स चुनें तो भविष्य में स्टूडेंट्स अपनी मनचाही वर्क फील्ड में शानदार करियर बना सकते हैं जहां उन्हें अपने पेशे में सफलता मिलने के साथ ही काफी बढ़िया सैलरी पैकेज भी मिलेगा और वे सुकून से अपने पेशे से संबद्ध कार्य करेंगे. कैसे?? आइये पढ़ें:

भारत में इंटरमीडिएट स्टडी: ये हैं प्रमुख स्ट्रीम्स

हमारे देश में किसी मान्यताप्राप्त बोर्ड से अपनी सेकेंडरी एजुकेशन या 10 वीं क्लास पास करने के बाद स्टूडेंट्स अपनी इंटरमीडिएट की पढ़ाई के लिए साइंस, कॉमर्स या आर्ट्स में से कोई एक मुख्य स्ट्रीम चुनकर ही उस स्ट्रीम से संबद्ध विषय लेते हैं जैसेकि:

  • साइंस स्ट्रीम:मुख्य विषय – बायोलॉजी, फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथमेटिक्स.
  • कॉमर्स स्ट्रीम:मुख्य विषय – इकोनॉमिक्स, बिजनेस स्टडीज, एकाउंट्स, मैथ्स.
  • आर्ट्स स्ट्रीम:मुख्य विषय – पोलिटिकल साइंस, हिस्ट्री, इकोनॉमिक्स, जियोग्राफी, सोशियोलॉजी.

इंडियन यूनिवर्सिटीज़ से करें ये दिलचस्प ऑफ बीट कोर्सेज

अब हम आपकी सहूलियत के लिए इन 3 मुख्य इंटरमीडिएट स्टडी स्ट्रीम्स से जुड़े करियर्स का विवरण पेश कर रहे हैं:

इंटरमीडिएट में साइंस स्ट्रीम: अगर आपने अपनी इंटरमीडिएट साइंस विषय में पास की है तो आप नीचे पेश की जा रही 3 प्रमुख फ़ील्ड्स में जॉब कर सकते हैं या फिर, अपनी पढ़ाई आगे जारी रख सकते हैं:

  • मेडिसिन:यदि आप लोगों को बीमारियों से बचाना चाहते हैं तो यह आपके लिए एक सूटेबल फील्ड है. मेडिसिन में कोर्स करने के लिए आपको फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी विषय सहित अपनी इंटरमीडिएट पास करनी होगी. एनईईटी, एआईआईएमएस और एएफएमसी जैसे कई एंट्रेंस एग्जाम्स पास करने के बाद आप देश के विभिन्न मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन ले सकते हैं.
  • फार्मेसी:नई ड्रग्स तैयार करके या फिर, ड्रग्स में सुधार करके आप लाखों लोगों का जीवन बचा सकते हैं. फार्मेसी कोर्स करने के लिए आपको फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी विषय सहित अपनी 12 वीं क्लास पास करनी होगी. बीआईटीएसएटी, एमयूओईटी और राज्यों के सीईटी एग्जाम्स जैसे एंट्रेंस एग्जाम्स पास करने के बाद आप देश के विविध फार्मा कॉलेजों में एडमिशन प्राप्त कर सकते हैं.
  • इंजीनियरिंग:इंजीनियर्स कमर्शियल इस्तेमाल के लिए साइंटिफिक और मैथमेटिकल प्रिंसिपल्स को अप्लाई करके भविष्य बदल सकते हैं. इंजीनियरिंग से संबद्ध विभिन्न कोर्सेज करने के लिए आपको फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स (पीसीएम) विषयों में अपनी इंटरमीडिएट का एग्जाम पास करना होगा. जेईई मेन्स, जेईई एडवांस्ड, बीआईटीएसएटी, राज्यों के सीईटी एग्जाम्स और वीआईटीजेईई जैसे विभिन्न एंट्रेंस एग्जाम्स पास करने के बाद ही आप देश के विभिन्न इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन प्राप्त कर सकते हैं.

इंटरमीडिएट में कॉमर्स स्ट्रीम: अगर आप किसी कंपनी में महत्वपूर्ण जॉब प्रोफाइल हासिल करना चाहते हैं तो आप नीचे दी गई 5 प्रमुख फ़ील्ड्स में जॉब करने के साथ ही अपनी स्टडी भी जारी रख सकते हैं.

  • चार्टर्ड अकाउंटेंट:ये लोग कंपनियों की टैक्सेशन, ऑडिट्स, मर्जर सहित सभी आर्थिक मामलों में सहायता  करते हैं. सीए प्रोग्राम 3 सेक्शन्स में बंटा होता है जैसेकि, कॉमन प्रोफिशिएंसी टेस्ट (सीपीटी), इंटीग्रेटेड प्रोफेशनल कम्पीटेंस कोर्स (आईपीसीसी) और फाइनल कोर्स.
  • कंपनी सेक्रेटरी:ये लोग कंपनियों के डायरेक्टर्स और टॉप मैनेजमेंट को कंपनी रूल्स के मुताबिक अपना काम करने के लिए मोटीवेट करते हैं. इस कोर्स के 3 लेवल होते हैं – फाउंडेशन प्रोग्राम, एग्जीक्यूटिव प्रोग्राम और प्रोफेशनल प्रोग्राम.
  • मैनेजमेंट:मैनेजर्स विभिन्न किस्म की मार्केट्स के लिए काम करते हैं और ऑपरेशन टीम से डेवलपर्स तक सभी को डायरेक्शन्स देते हैं. इस फील्ड के लिए आपके पास  बीकॉम या बीएमएस की डिग्री होनी चाहिए.
  • एक्चुरियल साइंस:ये प्रोफेशनल्स कंपनियों को भावी फाइनेंशल रिस्क्स के बारे में बताते हैं. अपनी 12वीं क्लास या इंटरमीडिएट पास करने के बाद आप एक्चुरियल कॉमन एंट्रेंस टेस्ट (एसीईटी) पास करके ही  विषय में डिग्री प्राप्त करने के लिए इंस्टिट्यूट ऑफ़ एक्चुअरीज ऑफ़ इंडिया में एडमिशन ले सकते हैं.
  • बैंकिंग एंड फाइनेंस:बैंकिंग प्रोफेशनल्स को तरक्की के बहुत से अवसर प्रदान करती है. इस फील्ड में करियर शुरू करने के लिए आपको बीएएफ या बीएफएम कोर्स करना होगा.

दिल्ली विश्वविद्यालय के इन कोर्सेज में एडमिशन लेकर सवारें अपना करियर

इंटरमीडिएट में आर्ट्स स्ट्रीम: अगर आप प्रभावी तरीके से बातचीत करने में माहिर और काफी क्रिएटिव हैं तो यह फील्ड आपके लिए बेहतरीन करियर ऑप्शन साबित होगी. आप इन 5 प्रमुख स्ट्रीम में जॉब करने के साथ ही अपनी पढ़ाई भी आगे जारी रख सकते हैं.

  • ह्यूमैनिटीज:इस कोर्स के जरिये आप सरकारी कामकाज को प्रभावित करने के साथ ही अधिकतर लोगों के जीवन पर असर डाल सकते हैं. उक्त फील्ड के लिए आपको इकोनॉमिक्स, साइकोलॉजी या सोशियोलॉजी में स्पेशलाइजेशन के साथ अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करनी होगी.  
  • लॉ:लॉयर्स व्यक्तियों, कंपनियों और सभी सरकारों का भविष्य बदल सकते हैं. हमारे देश का सेंट्रलाइज्ड कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट पास करने के बाद ही आप लॉ की पढ़ाई करने के लिए भारत की 19 नेशनल लॉ यूनिवर्सिटीज में एडमिशन ले सकते हैं. 
  • मीडिया:मीडिया लाइन से जुड़ने के लिए आपको 3 वर्ष का अंडरग्रेजुएट बैचलर ऑफ़ मास मीडिया कोर्स करना होगा. इस कोर्स में आपको मीन्स ऑफ़ मास कम्युनिकेशन जैसेकि, न्यूज़पेपर्स, मैगजीन्स, सिनेमा फिल्म्स, रेडियो, टेलीविज़न आदि के बारे में काफी व्यापक जानकारी दी जायेगी.
  • डिज़ाइन एवं एनीमेशन:लाइफ-चेंजिंग प्रोडक्ट्स डिज़ाइन करने से लेकर डिजिटल वर्ल्ड में कंटेंट डिजाइनिंग तक यह फील्ड क्रिएटिविटी और लॉजिक का एक मिश्रण है.
  • संबद्ध कोर्सेज:आप अपनी इंटरमीडिएट के बाद विभिन्न प्राइवेट कॉलेजों और सर्टिफिकेशन्स के जरिये  अन्य कई संबद्ध कोर्सेज कर भी सकते हैं जैसेकि, फोटोग्राफी, इवेंट मैनेजमेंट, एक्टिंग, क्रिएटिव आर्ट्स लिटरेचर आदि.

इंटरमीडिएट के बाद प्रोस्पेक्टिव सैलरी:

यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि अगर स्टूडेंट्स अपनी इंटरमीडिएट की पढ़ाई पूरी करने के तुरंत बाद कोई जॉब या पार्ट-टाइम जॉब करते हैं तो अपने करियर के शुरू में उन्हें लगभग रु. 8,000/- से रु. 15,000/- प्रतिमाह तक ही सैलरी मिलती है. उक्त सैलरी उनकी जॉब प्रोफाइल के साथ ही संबद्ध कंपनी की आवश्यकता और कैंडिडेट की क्वालिफिकेशन, स्किल्स और टैलेंट आदि के मुताबिक अलग-अलग हो सकती है. अगर स्टूडेंट्स अपनी इंटरमीडिएट के बाद जॉब करने के साथ ही अपनी पढ़ाई आगे जारी रखते हैं और ग्रेजुएशन/ पोस्ट ग्रेजुएशन या पीएचडी की डिग्री हासिल कर लेते हैं तो फिर, उनकी क्वालिफिकेशन और वर्क एक्सपीरियंस के साथ – साथ उनकी सैलरी भी लगातार बढ़ती रहती है और कुछ वर्ष के बाद वे काफी बढ़िया सैलरी पैकेज कमाने लगते हैं.

भारत में टॉप 5 डिप्लोमा कोर्सेज

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

Related Categories

    Related Stories