Search

ये है इंजीनियरिंग में career के लिए सबसे आधुनिक और ऑफबीट स्पेशलाइजेशन

Popular इंजीनियरिंग courses जैसेकी मैकेनिकल इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग, कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, केमिकल इंजीनियरिंग आदि के अलावा भी कई अच्छे इंजीनियरिंग courses है जिनमे career स्कोप बहुत ही अच्छा है| यहाँ पढ़िए और जानिए कौन-से है ये इंजीनियरिंग courses जो स्टूडेंट्स सबसे अलग और अच्छी career opportunities दिलवा सकते है|

Jan 4, 2018 11:02 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Top 5 offbeat specializations in Engineering
Top 5 offbeat specializations in Engineering

जब भी कभी इंजीनियरिंग में career बनाने की बात आती है तो सभी स्टूडेंट्स popular इंजीनियरिंग courses में से ही चुनकर अपनी पढ़ाई करते है| निश्चित ही इन popular इंजीनियरिंग courses में काफ़ी demand है और अगर ये courses प्रमुख इंजीनियरिंग संस्थान से किया जाये जैसेकी IITs, NITs, IIITs, CFTIs etc. लेकिन इन popular इंजीनियरिंग courses जैसेकी मैकेनिकल इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग, कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, केमिकल इंजीनियरिंग आदि के अलावा भी कई अच्छे इंजीनियरिंग courses है जिनमे career स्कोप बहुत ही अच्छा है| हालाँकि, ये courses बाकी इंजीनियरिंग courses की तरह इंजीनियरिंग उम्मीदवारों/स्टूडेंट्स में उतने popular नहीं है लेकिन ऐसे स्टूडेंट्स की इंजीनियरिंग इंडस्ट्री में बहुत demand है जो यहाँ बताए गए इंजीनियरिंग courses में विशेषज्ञता प्राप्त करना चाहते या करते है| और क्यूंकि बहुत ही कम स्टूडेंट्स ऐसे इंजीनियरिंग courses में specialisation करते है तो उनको इंजीनियरिंग इंडस्ट्री से काफ़ी अच्छे अवसर मिलते है|

यहाँ पढ़िए और जानिए कौन-से है ये इंजीनियरिंग courses जो स्टूडेंट्स सबसे अलग और अच्छी career opportunities दिलवा सकते है – 

1. Ethical Hacking Course (एथिकल हैकिंग इंजीनियरिंग कोर्स): एथिकल हैकर किसी भी कंप्यूटर या नेटवर्क के सिक्यूरिटी सिस्टम को हैक करके सिक्यूरिटी की कमज़ोर कड़ियों का पता लगाते है जिससे उन्हें सिस्टम या नेटवर्क सिक्यूरिटी के खतरों का पता चल जाता है और वो Malicious हैकर से बचा सकते है| आजकल एथिकल hackers की हर इंडस्ट्री में demand है जैसेकी सबसे महत्वपूर्ण बैंकिंग और इंश्योरेंस सेक्टर, डिफेंस सेक्टर, वेब सिक्यूरिटी, फॉरेंसिक लैब्स, आदि में|

एथिकल hackers को इन गतिविधियों की परमिशन मिली होती है और काफ़ी ऐसे अच्छे इंजीनियरिंग संस्थान है जो इस क्षेत्र में higher एजुकेशन courses पढ़ाते है जैसेकी –

  • IIIT Allahabad
  • IIIT Hyderabad
  • IIIT Delhi
  • IIT Guwahati
  • NIT Bhopal
  • JNTU Hyderabad

एक बार में crack करना है JEE तो ज़रूर पढ़ें ये लेख

2. Naval Architecture and Ocean Engineering (नौसेना वास्तुकला और महासागर इंजीनियरिंग): इंजीनियरिंग की इस stream में स्टूडेंट्स ऐसी तकनीक सीखते है जिससे पानी के जहाजों, submarines, नौकाओ आदि को नौसेना के लिए सबसे कुशल, सुरक्षित और पर्यावरण-अनुकूल साधनों बनाया जाता है। इसके अलावा, सागर ऊर्जा के क्षेत्र में आवश्यक संरचनाओं को विकसित और डिजाइन भी किया जाता है। महासागर इंजीनियर यह सुनिश्चित करते हैं कि समुद्र पर हर एक जहाज सुरक्षित रूप से अपने गंतव्य तक पहुंच सके।

इस पाठ्यक्रम के पूरा होने के बाद स्टूडेंट्स युद्धपोतों, पनडुब्बियों, होवरक्राफ्ट, हाइड्रोफ़ोइल और व्यापारी जहाजों को डिजाइन और विकसित करने की क्षमता रख सकेंगे|

कुछ प्रमुख इंस्टिट्यूट जो नौसेना वास्तुकला और महासागर इंजीनियरिंग में courses करवाते है –

  • International Maritime Academy,
  • Chennai, Cochin University of Science & Technology
  • Institute of Shipbuilding Technology, Goa

3. Agriculture and Food Engineering (कृषि और खाद्य इंजीनियरिंग): यह इंजीनियरिंग की शाखा स्टूडेंट्स को ऐसी इंजीनियरिंग कौशल और टेक्नोलॉजी का उपयोग करना सीखाती है जिससे वे कृषि उत्पादन में वृद्धि और कपटपूर्णता को कम करने में मदद करता है|

भारत जैसे देशों में इंजीनियरिंग की यह शाखा बढ़ती जा रही है जहां 70% आबादी कृषि पर निर्भर है। इस पाठ्यक्रम का उद्देश्य खेती के मशीनीकरण, मूल्य वृद्धि और उत्पादन में ऊर्जा प्रबंधन और फसल के बाद काम करने के बाद इंजीनियरिंग के व्यवधान से कृषि को स्थायी, लाभदायक और प्रतिस्पर्धी उद्यम बनाना है।

कुछ प्रमुख इंस्टिट्यूट जहां यह कोर्स उपलब्ध है –

  • Allahabad Agriculture Institute,
  • Marathwada Krishi Vishwavidyalaya
  • Mahatma Phule Krishi Vishwavidyalaya
  • College of Agricultural Engineering and Post-Harvest Technology (CAEPHT)

जानें कितने घंटे पढ़ना है ज़रूरी अगर क्लियर करना है IIT JEE?

4. Sound Engineering (ध्वनि इंजीनियरिंग): यह एक ऐसी इंजीनियरिंग शाखा है जो विभिन्न प्रक्रियाओं (कला प्रदर्शन से संबंधित) के लिए विभिन्न आवाज़ों की रिकॉर्डिंग, संपादन और तकनीकी पहलुओं से जुड़ीं है। ध्वनि इंजीनियर, संचालन और ध्वनि रिकॉर्डिंग या प्रसारण उपकरण को बनाए रखने के लिए जिम्मेदार होते हैं। यह एक उच्च-तकनीकी की नौकरी है जिसमे इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के साथ काम करने में उत्कृष्ट कंप्यूटर कौशल और प्रवीणता की आवश्यकता होती है।

ध्वनि इंजीनियरिंग, इंजीनियरिंग उम्मीदवारों के लिए एक popular कोर्स चॉइस नहीं है, लेकिन क्यूंकि डिजिटल मनोरंजन उद्योग जैसेकी भारतीय सिनेमा में तेजी से बढ़ रही demand के कारण यह स्टूडेंट्स के लिए एक बहुत ही आकर्षक कैरियर विकल्प है।

  • IIT Kharagpur
  • NIFFA Kolkata
  • FTII Pune
  • Asian Academy of Film and Television Delhi
  • Ramoji Academy of Film and Television, Hyderabad

5. Energy Engineering (ऊर्जा इंजीनियरिंग): पारंपरिक ऊर्जा स्रोतों की कमी को पूरा करने के लिए, ऊर्जा के विभिन्न वैकल्पिक स्रोत विकसित किए जाने की आवश्यकता है इसके लिए पिछले दशक में ऊर्जा इंजीनियरिंग की एक नई शाखा विकसित हुई है। ऊर्जा उपयोग या लागत को कम करने के लिए डिज़ाइन किए गए परियोजनाओं पर ऊर्जा इंजीनियर का काम इसमें ऊर्जा प्रणाली या ऊर्जा खरीद के तरीके तैयार करने, निर्माण, मूल्यांकन या रीमोडिंग शामिल हैं| इंजीनियरिंग का यह डोमेन अभी तक लोकप्रिय नहीं है, लेकिन इसका भविष्य बहुत उज्ज्वल है क्योंकि ऊर्जा की मांग रोज़ बढ़ रही है। और साथ ही ऐसे स्टूडेंट्स जो पर्यावरण संरक्षण करना चाहते है वो एनर्जी इंजीनियरिंग कर ऐसी तकनीक बना सकते है जो हमारे एनवायरनमेंट में ऊर्जा को बचाने में मददगार साबित होगी| एनर्जी इंजीनियरिंग कोर्स में शिक्षा प्रदान करने वाले institutes -

  • IIT Bombay
  • IIT Kharagpur

IIT JEE 2018 की परीक्षा में MCQs करने की सफल तकनीक

Related Stories