Positive India: SDM बनने का सपना पूरा करने के लिए पंजाब से आई दिल्ली, दूसरे प्रयास में टॉप की UP PCS परीक्षा - जानें टॉपर संचिता शर्मा की सफलता की कहानी

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने सोमवार शाम UPPSC PCS 2020 परीक्षा के परिणाम घोषित किये जिसमें पंजाब की रहने वाली संचिता शर्मा ने टॉप किया। संचिता ने यह सफलता अपने दूसरे प्रयास में हासिल की है। 

Created On: Apr 14, 2021 11:17 IST
UPPSC PCS 2020 topper Sanchita Sharma story in hindi
UPPSC PCS 2020 topper Sanchita Sharma story in hindi

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा घोषित किये गए UPPSC PCS 2020 परीक्षा के परिणाम में महिलाओं ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है। टॉप 10 लिस्ट में पांच होनहार महिलाएँ शामिल हैं जिसमें पंजाब की संचिता शर्मा ने मेरिट लिस्ट टॉप को किया है। संचिता शर्मा ने यह सफलता निरंतर मेहनत और अडिग हौसले से हासिल की है। वह बताती हैं की उनके स्कूल प्रिंसिपल ने उनसे एक बार कहा था कि वह एक दिन संचिता को लाल बत्ती वाली गाड़ी में बैठे देखना चाहते हैं और उनकी यह बात हमेशा संचिता के मन में रही। उनके इसी सपने को पूरा करने के लिए संचिता ने निष्ठुर मेहनत की जिसका नतीजा आज सबके सामने हैं। उनके स्कूल प्रिंसिपल अब इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन संचिता ने उनका सपना पूरा कर दिखाया है। 

जानें कैसे एक किराने की दुकान चलाने वाले की बेटी ने हर मुश्किल का सामना कर क्लियर किया UPSC और बनी IAS

परीक्षा की तैयारी के लिए पंजाब से आई दिल्ली 

संचिता शर्मा मूल रूप से पंजाब के शहीद भगत सिंह नगर (नवां शहर) की रहने वाली हैं। उनके पिता चंद्र शेखर फार्मासिस्ट हैं और माँ लेक्चरर है। उनकी एक बड़ी बहन हैं जो डेंटिस्ट हैं और छोटा भाई वकील है। संचिता ने पंजाब विश्वविद्यालय से बीई केमिकल इंजीनियरिंग एवं फिर एमबीए की पढ़ाई की। इसके बाद वह स्टेट PCS परीक्षा की तैयारी के लिए दिल्ली आई। यहाँ उन्होंने जामिया मिल्लिया इस्लामिया के आवासीय कोचिंग अकादमी के साथ जुड़ कर तैयारी का सफर शुरू किया। 

दूसरे प्रयास में मिली सफलता 

संचिता पिछले दो सालों से जामिया में रह कर ही परीक्षा की तैयारी कर रही हैं। उन्होंने वर्ष 2019 में भी UP PCS परीक्षा दी थी परन्तु सफलता नहीं मिल पाई थी। संचिता अपनी असफलताओं से निराश नहीं हुई और अगले ही वर्ष एक बार फिर परीक्षा के लिए उपस्थित हुई। इस बार उन्होंने परीक्षा की हर स्टेज के लिए खूब मेहनत की और सफलता हासिल भी की। मेरिट लिस्ट में टॉप पर अपना नाम देख कर संचिता को विश्वास ही नहीं हुआ की उनकी कड़ी मेहनत रंग लाई है और उन्होंने परीक्षा में टॉप किया है। 

ऐसे की PCS परीक्षा की तैयारी 

अपनी तैयारी की रणनीति के बारे में संचिता बताती हैं कि उन्होंने कभी अपनी पढ़ाई की घंटे नहीं गिने और एक दिन के लिए निर्धारित किये गए सिलेबस को पढ़ने के लिए उन्हें जितना भी समय लगता था वह उतनी ही देर तक पढ़ती थीं। उनका मानना है कि सफलता का कोई शार्टकट नहीं होता। सिलेबस में दिए गए हर विषय की गहराई से पढ़ाई की जानी चाहिए। संचिता ने कहा कि मेरे परिवार ने हमेशा पूरा सहयोग दिया है। वहीँ जामिया RCA से भी उन्हें पढ़ाई में काफी मदद ली। कड़ी मेहनत और निरंतरता ही उनकी सफलता है राज़ है और वह दूसरे उम्मीदवारों को भी इसी का पालन करने की सलाह देतीं हैं। 

उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग ने सोमवार को पीसीएस परीक्षा-2020 का अंतिम परिणाम जारी कर दिया है। भर्ती के 487 पदों के लिए 476 अभ्यर्थी अंतिम रूप से सफल घोषित हुए हैं। इसमें संचिता ने टॉप किया है, दूसरे स्थान पर इंदिरा नगर लखनऊ की शिवाक्षी दीक्षित व तीसरे पर पलवल हरियाणा के मोहित रावत हैं। इस साल UPPSC PCS  2021 की प्रीलिम्स परीक्षा 13 जून को आयोजित की जाएगी। 

पिता का सपना पूरा करने के लिए छोड़ी 31 लाख के पैकेज की नौकरी, अब UP PCS 2019 में हासिल की 7वीं रैंक - जानें कुंवर सचिन की कहानी


Related Stories