बैंकिंग उम्मीदवार ऑनलाइन कोर्स ज्वाइन करते समय इन बातों का रखें ध्यान

बैंकिंग क्षेत्र में नौकरी की इच्छा रखने वाले कई उम्मीदवार अभी भी इस बारे में फैसला नहीं कर पा रहे हैं कि सही ऑनलाइन बैंकिंग जॉब कोचिंग कोर्स को चुनते समय उन्हें किन बातों का ध्यान रखना चाहिए l उनकी मदद के लिए हमने बैंकिंग की नौकरी की तैयारी हेतु ऑनलाइन कोर्स करते समय ध्यान रखने योग्य कुछ जरुरी बातों की एक सूची तैयार की है–

Created On: May 2, 2018 12:46 IST
What does a Banking aspirant expect from online courses?
What does a Banking aspirant expect from online courses?

हाल ही में कई संस्थाओ ने बैंकिंग भर्ती परीक्षाओ की तैयारी के लिए ऑनलाइन कोर्सेज लांच किये हैं l करीब– करीब सभी परंपरागत कोचिंग संस्थान और कई ऑनलाइन प्लेयर्स ने भी बैंकिंग परीक्षाओ के उम्मीदवारों के लिए ऑनलाइन कोचिंग कोर्सेज कराना शुरु कर दिया है l SBI जैसे सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों और HDFC, ICICI जैसे प्राइवेट क्षेत्र के बैंकों में भर्ती संबंधी गतिविधियों में हुई बढ़ोतरी के साथ बैंक की नौकरी की तैयारी के लिए बैंकिंग के उम्मीदवारों का ऑनलाइन कोर्सेज पर भरोसा बढ़ रहा है l आसान उपलब्धता, सस्ती पठन सामग्री और विभिन्न प्लेटफॉर्म्स और उपकरणों की उल्लेखनीय पहुंच ने बैंक भर्ती परीक्षाओ की तैयारी के लिए ऑनलाइन कोर्सेज को एक महत्वपूर्ण माध्यम बना दिया है l

हालांकि बैंक की नौकरी की तैयारी के लिए ऑनलाइन कोर्सेज अभी भी विकासशील दौर में हैं l अपने शुरुआती चरण के दौरान इन्हें अपने ऑफलाइन संसाधनों से प्रतिस्पर्धा करने के लिए निश्चित रूप से तेजी से विकास किया है लेकिन इससे उनको ज्यादा फायदा नहीं हुआ है l बैंकिंग क्षेत्र में नौकरी की इच्छा रखने वाले कई उम्मीदवार अभी भी इस बारे में फैसला नहीं कर पा रहे हैं कि सही ऑनलाइन बैंकिंग जॉब कोचिंग कोर्स को चुनते समय उन्हें किन बातों का ध्यान रखना चाहिए l उनकी मदद के लिए हमने बैंकिंग की नौकरी की तैयारी हेतु ऑनलाइन कोर्स करते समय ध्यान रखने योग्य कुछ जरुरी बातों की एक सूची तैयार की है–

नेचुरल लर्निंग कर्व

किसी भी प्रकार के अध्यन या अभ्यास के लिए, चाहे वह अकादमिक (academic) उद्देश्यों के लिए हो या बैंक भर्ती परीक्षाओ को क्रैक करने के लिए हो, नेचुरल लर्निंग कर्व (Natural Learning Curve) का पालन करना चाहिए l ऐसा करने के लिए, ऑनलाइन बैंक जॉब प्रिपरेशन कोर्सेज करने वाले संस्थाओ को फ़ॉर्मूला बेस्ड लर्निंग तकनीक अपनाने से बचना चाहिए l नेचुरल लर्निंग कर्व से छात्रों को कॉन्सेप्ट्स को समझने में आसानी होगीl ऑनलाइन कोर्सेज में कुछ ऐसी चीज़े सम्मिलित करनी चाहिए जो पढाये जाने वाले विषय में छात्रों की रूचि को बढ़ाएl इन कोर्सेज में बैंकिंग भर्ती परीक्षाओ में सफल होने के लिए जरूरी कॉन्सेप्ट्स ही नहीं कवर किया जाना चाहिए बल्कि उनमें अतिरिक्त सब-टॉपिक्स भी होने चाहिए जो कॉन्सेप्ट्स को समझने में छात्रों की सहायता करें l

ऑनलाइन कोर्स की सही गति

ऑनलाइन बैंक जॉब प्रिपरेशन कोर्सेज का एक और महत्वपूर्ण पहलू है उनकी पेसिंग (गति) l ऑनलाइन कोर्स जिन चुनौतियों का सामना करते हैं उनमें सबसे बड़ी चुनौती में से एक है ऐसी सामान्य गति विकसित करना जिससे टॉप रैंक वाले उम्मीदवारों के साथ– साथ नए उम्मीदवारों को भी सहजता महसूस हो सके l इसलिए, एक ऑनलाइन कोर्स की पेसिंग विषय/टॉपिक की अच्छी जानकारी रखने वाले उम्मीदवार जो आपके ऑनलाइन कोर्स का उपयोग सिर्फ उस रिविजन के लिए कर रहा हो, के लिए  आदर्श होनी चाहिए l दूसरी तरफ, नए उम्मीदवार, जो विषय को समझने के लिए पर्याप्त समय लगाना चाहते हैं, के लिए भी सहज होना चाहिए l

जानें SBI PO की नयी सैलरी,भत्ते और अन्य सुविधाए

थीम बेस्ड कोर्स

बैंकिंग जॉब एग्जाम्स के लिए एक ऑनलाइन कोर्स में कई विषयों को कवर करना या बहुत अधिक सामग्री को शामिल करना प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है l इसलिए, बैंकिंग जॉब रिक्रूटमेंट एग्जाम्स के लिए थीम– बेस्ड ऑनलाइन कोर्सेज ज्वाइन करना चाहिए l थीम परीक्षा के किसी टॉपिक/सेक्शन को कवर कर सकती हैl थीम– बेस्ड ऑनलाइन कोर्स उम्मीदवारों को टॉपिक्स और उससे संबंधित सभी अवधारणाओं अर्थात् कॉन्सेप्ट्स को एक ही बार में को कवर करने में मदद करेगा l

व्यक्तिगत रूचियों और जरूरतों को पूरा करे

पेसिंग के जैसे ही बैंक जॉब एग्जाम प्रीपरेशन कोर्सेज के लिए व्यक्तिगत रूचियों को कवर करना बहुत महत्वपूर्ण है l उदाहरण के लिए, यदि कोई क्वांटिटेटिव सेक्शन में अच्छा है लेकिन सामान्य ज्ञान सेक्शन में उसे अधिक मेहनत करने की जरूरत है, तो कोर्स में उम्मीदवार की इस जरूरत को पूरा करने की पर्याप्त गुंजाइशन होनी चाहिए l इसके अलावा, सीखने की शैली और प्रारूप के माध्यम से भी रूचियों को कवर किया जा सकता है l यदि कोई एक विषय को समझने के लिए लंबे पाठ्य पैराग्राफ को पसंद करता है तो उन्हें वही मिलना चाहिए न कि सिर्फ जटिल गणितीय सूत्र l इसलिए बैंक रिक्रूटमेंट एग्जाम्स की तैयारी की बात हो तो डायनमिक ऑनलाइन कोर्सेज इस समय की मांग हैं l

मल्टीमीडिया का उपयोग

ऑनलाइन बैंकिंग कोर्स का सबसे बड़ा हथियार होता है मल्टीमीडिया घटक l परंपरागत कलम और   कागज माध्यम वाले कोर्सेज के विपरीत ऑनलाइन कोर्स मल्टीमीडिया कंटेंट का समर्थन करने वाले प्लेटफॉर्म पर कराए जाते हैं l इसलिए, बैंकिंग भर्ती परीक्षाओ की तैयारी के लिए ऑनलाइन कोर्सेज उपलब्ध करने वाले संस्थानों को इस क्षमता का पूरी तरह इस्तेमाल करना चाहिए l कठिन कोसप्ट्स चित्रों या ग्राफ़िक्स के जरिए बहुत आसानी से एक्सप्लेन किये जा सकते है l इसी प्रकार, वीडियो ट्यूटोरियल जो छात्रों को ऑफलाइन क्लास का अनुभव प्रदान करता है, की मदद से भी सीखाया जा सकता है l छात्र इन ट्यूटोरियल को कांसेप्ट क्लियर होने तक कितनी भी बार देख सकते हैं l इसके अलावा, मल्टीमीडिया पर कई नई तकनीकों ने ऑनलाइन कोर्सेज को परंपरागत कोर्सेज की तुलना में काफी व्यावहारिक और प्रभावी बना दिया है l

नेविगेशन बहुत महत्वपूर्ण है

बैंक रिक्रूटमेंट एग्जाम की तैयारी के लिए ऑनलाइन कोर्स करने वाले छात्रों के लिए सबसे बड़ी बाधाओं में से एक है कोर्स मटेरियल का कंफ्यूजिंग नेविगेशन l यह मायने नहीं रखता कि ऑनलाइन कोर्स कितनी अच्छी तरीके से तैयार किया गया है जब तक कि छात्र विषय और संसाधनों को आसानी से नहीं ढूढ पाते , उसकी प्रभावकारिता सीमित हो जाती  है l ऑनलाइन कोर्स का नेविगेशन डिजाइन यहां बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है l नेविगेशन छात्रों को एक सेक्शन से दूसरे सेक्शन में आसानी और उनकी सहजता के अनुसार जाने में मदद करता है l वे जिन विषयों और अवधारणाओं को पढ़ना चाहते  हैं, में भी यह मदद करता है l इसके अलावा, यह ऑनलाइन कोर्स में लॉजिकल फ्लो (तार्किक प्रवाह) विकसित करने में भी मदद करता है जिससे प्रश्नों में विषय को अधिक व्यवस्थित तरीके से कवर करने में मदद मिलती है l

कम्युनिटी लर्निंग

बैंक भर्ती परीक्षाओ की तैयारी के लिए ऑनलाइन कोर्सज कराने वाले वर्तमान प्लेयर्स द्वारा एक्सप्लोर किया जाने वाला संभवतः यह सबसे बड़ा लाभ है l कम्युनिटी लर्निंग क्लासरूम टीचिंग के साथ– साथ ऑनलाइन कोर्सज का भी बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा है l यह छात्रों को उनके ज्ञान को शिक्षकों के साथ– साथ उनके सहपाठियों के साथ साझा करने और पढ़ाए जाने वाले टॉपिक के विभिन्न पहलुओं को समझने में मदद करता है l आमतौर पर ऑनलाइन कोर्सेज  टू –वे कम्युनिकेशन के तौर पर डिजाइन किया जाता है जहां छात्र स्क्रीन पर डिस्प्ले होने वाले पठन सामग्री से सीखते हैं और वे लाइव सेशन में ट्यूटर से प्रश्न व डाउट भी पूछ सकते है l इसके साथ अन्य अभ्यर्थियों से भी बातचीत कर सकते हैl इसलिए, ऑनलाइन कोर्सेज को ऑनलाइन कम्युनिटी लर्निंग इंवायरमेंट बनाने का प्रयास करना चाहिए जहां छात्र अपनी डाउट को आसानी से दूर कर सके एवं विषय पर अपनी जानकारी एक दूसरे से शेयर कर सकें l

SBI PO 2018 की तैयारी में इन सामान्य गलतियों से बचे

जानिए क्यों RBI Grade ‘B’ की जॉब अन्य बैंक नौकरियों से अलग और विशेष है ?

Comment ()

Related Categories

    Post Comment

    6 + 1 =
    Post

    Comments