Search

10 वें द्विपक्षीय वेतन समझौते के बाद एक बैंक क्लर्क का वेतन कितना होगा?

इस लेख में, 10 वें द्विपक्षीय वेतन समझौते के बाद बैंक क्लेर्कों के वेतन वृद्धि के बारें में सम्पूर्ण जानकारी दी गयी हैं-

Oct 24, 2018 16:53 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Bank clerk salary after Bipartite agreement
Bank clerk salary after Bipartite agreement

पूरे देश में, राष्ट्रीयकृत बैंकों में क्लर्क कैडर में भर्ती वर्तमान में सबसे ज्यादा पेश की जाने वाली नौकरियों के अवसरों में से एक है. बैंकिंग क्षेत्र में शामिल होने के इच्छुक हजारों उम्मीदवार इस नौकरी को पाने के लिए हर साल क्लर्क परीक्षाओं में भाग लेते हैं। हालांकि जब तक 10 वां द्विपक्षीय समझौता नहीं हुआ था, बैंक क्लर्क का वेतन पहले के सममूल्य (Par Value) के बराबर नहीं था। राष्ट्रीयकृत सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के क्लर्क और अधिकारी लंबे समय तक इस वेतन समझौते की मांग कर रहे थे। हालांकि श्रमिकों की सभी मांगें पूरी नहीं की गयी थीं लेकिन उनमें से कुछ को इस वेतन समझौते में मान लिया गया था जिससे देश भर में बैंक क्लेर्कों की वेतन संरचना अच्छी हो गयी है। द्विपक्षीय वेतन समझौते से सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में क्लर्क कैडर के उम्मीदवारों के मूल वेतन में 15% की वृद्धि की गयी हैं। इस समझौते में बैंक कर्मचारियों को हर महीने के दूसरे और चौथे शनिवार की छुट्टी भी दी गयी हैं। इसके साथ, वैकल्पिक शनिवार को अब पूर्ण कार्य दिवस माना जाएगा जो कि शुरुआत में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में अर्द्ध-दिवस था।

यूनियनों और IBA का लिखित वेतन समझौता

मई 2015 में यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियनस (UFBU) और इंडियन बैंक एसोसिएशन (IBA) द्वारा बैंक कर्मचारियों के लिए 10 वें द्विपक्षीय वेतन समझौते को पारित किया गया था। इस समझौते में 25 सार्वजनिक क्षेत्र के बैंको, 11 निजी क्षेत्रों के बैंको और सात विदेशी बैंको को शामिल किया गया हैं। नये समझौते को नवंबर 2012 से लागू किया जाएगा और यह अगले पांच साल तक प्रभावी होगा।

अधिसूचना के मुताबिक, बैंक में शामिल होने वाले अधीनस्थ कर्मचारियों का मासिक अनुदान 15, 000 रुपये होगा और नए नियुक्त स्नातक क्लर्क को 20,000 रुपये का प्रारंभिक वेतन दिया जायेगा। महंगाई भत्ते, गृह किराया भत्ते, योग्यता भत्ते, विशेष भत्ते इत्यादि को भी संशोधित किया जाएगा।

10 वें द्विपक्षीय समझौते के बाद वेतन संरचना

प्रारंभ में क्लर्क कैडर के उम्मीदवारों को रु० 8000 प्रतिमाह का मूल वेतन जिस पर अन्य भत्ते और महंगाई भत्ते को भी उचित गणना के बाद दिया गया था। नए समझौते के अनुसार पी०एस०यू० में क्लर्क उम्मीदवारों को संशोधित वृद्धि के बाद 60% डी०ए० के साथ रु० 12,812 का मूल वेतन प्रदान किया जाएगा। गृह किराए भत्ते को भी डी०ए० के 15% तक बढ़ा दिया गया है जो कि रु० 1921 प्रति माह हैं. उम्मीदवारों को रु० 5124 का महंगाई भत्ता भी प्रदान किया जाएगा। जो कि मूल वेतन का 40% है। इसके अलावा रु० 1908 को भी डी०ए० के रूप में जोड़ा जाएगा जो अंतिम वेतन स्लिप में 9 .5% की वृद्धि के रूप में एक घटक है। इन सबके अलावा, उम्मीदवारों को रु० 225 प्रति माह की निश्चित धनराशि को ईंधन खर्च के रूप में भुगतान किया जाएगा। अत: सकल वेतन जो समझौते से पहले रु० 17225 प्रति माह था इस समझौते के बाद क्लर्क उम्मीदवारों के लिए रु० 21909 प्रति माह हो गया हैं। यद्यपि क्लर्क उम्मीदवारों को प्रोविडेंट फंड, कर, यूनियन शुल्क, अन्य लाभ राशि इत्यादि के लिए अपनी मासिक सकल वेतन से धनराशि को जमा कराना होगा। जिससे इन-हैण्ड सैलरी लगभग रु० 19461 प्रति माह हो जाती हैं। SBI में काम कर रहे क्लर्क उम्मीदवारों को अन्य सभी राष्ट्रीयकृत वाणिज्यिक बैंकों की तुलना में रु० 2000 प्रति माह अधिक मिलते है क्योंकि SBI अपने क्लर्क कर्मचारियों को अखबार भत्ता, चिकित्सा सहायता भत्ता, क्लर्क भत्ता, खाद्य और पेय भत्तो का अतिरिक्त भुगतान भी करता हैं.

Related Stories