Jagran Josh Logo

ग्रेजुएशन के बाद करियर विकल्प

Sep 7, 2018 12:51 IST
  • Read in English

ग्रेजुएशन के बाद करियर ऑप्शन्स

क्या आपने हाल ही में अपनी ग्रेजुएशन पूरी की है और आप परेशान हैं कि आगे क्या करें? जहां कुछ स्टूडेंट्स जानते हैं कि ग्रेजुएशन के बाद उन्हें कौन-सा करियर चुनना है और किस तरह अपना प्रोफेशनल करियर प्रमोट करना है वहींअधिकांश स्टूडेंट्स इस दौरान परफॉरमेंस प्रेशर महसूस करते हैं और उन्हें लगता है कि वे किसी अजीबोगरीब परिस्थिति में फंस गए हैं.

ग्रेजुएशन के बाद जब अपने लिए सही करियर चुनना हो तो किसी भी छात्र के लिए कंफ्यूज हो जाना बहुत स्वाभाविक बात है. आजकल, स्टूडेंट्स ढेरों करियर ऑप्शन्स में से अपने लिए एक उपयुक्त/सही करियर चुन सकते हैं और यही वह कारण है कि उन्हें अपने लिए एक उपयुक्त करियर चुनने में काफी मुश्किल होती है. यह वह समय होता है जब वे अपने पैशन और स्किल सेट्स में तालमेल कायम करने के लिए संघर्ष करते हैं.

फिर भी, महत्वपूर्ण प्रश्न यही  रहता है:ग्रेजुएशन के बाद मुझे क्या करना चाहिए?”. चिंता न करें! हमें फ़ॉलो करें और हम आपको उपयुक्त गाइडेंस और ऐसी सहायता प्रदान करेंगे जिसकी आप अपनी ग्रेजुएशन पूरी होने के बाद तलाश कर रहे हैं.

ग्रेजुएशन के बाद क्या करें: क्यों यह एक महत्वपूर्ण निर्णय है?

आप अपनी एकेडेमिक लाइफ में काफी आगे बढ़ चुके हैं और अब, यह बिलकुल सही समय है कि आप अपने लिए उपयुक्त करियर चुनने का निर्णय लें क्योंकि इससे ही वास्तव में आपके शानदार प्रोफेशनल फ्यूचर का रास्ता खुलेगा. यह सब इतना आसान नहीं है, जितना प्रतीत होता है. आजकल, जॉब मार्केट कई गुणा तेज़ी से बढ़ रही है और बहुत-सी ऑफ़-बीट जॉब्स काफी लोकप्रिय हो रही हैं. इसलिये, अब यह जरुरी नहीं रहा है कि कोई बीकॉम या बीटेक ग्रेजुएट क्रमशः एमबीए या सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग को ही केवल अपने करियर ऑप्शन्स के तौर पर चुनने के लिए बाध्य है .

उदाहरण के लिए, यदयपि किसी इंजीनियरिंग ग्रेजुएट ने अपने 4 कीमती वर्ष डिग्री प्राप्त करने के लिए लगाये हैं तो भी आजकल, इसका मतलब यह नहीं है कि वह केवल इंजीनियरिंग के कार्यक्षेत्र में कार्य करने के लिए बाध्य है जबकि उसका पैशन, एप्टीट्यूड और स्किल्स किसी अन्य कार्यक्षेत्र से संबद्ध हैं. इसलिये, अब यह बहुत आवश्यक हो गया है कि आप ग्रेजुएशन करने के बाद अपने पैशन, एप्टीट्यूड और स्किल सेट का पता लगायें. इससे न सिर्फ आपको अपनी हायर स्टडीज जारी रखने में मदद मिलेगी बल्कि, आप अपने मनचाहे कार्यक्षेत्र में एक शानदार करियर और भविष्य भी तैयार कर सकेंगे.

अगर आप अभी अपनी ग्रेजुएशन के फाइनल इयर में हैं या फिर, आपने बिलकुल अभी अपनी ग्रेजुएशन पूरी की है तो अपने काम को ध्यान से देखें और अपने उन खास ट्रेट्स का पता लगाने की कोशिश करें जो आपको बेहतर बनाते हैं. अगर यह तरीका आपके लिए कारगर साबित नहीं होता है तो आप करियर काउंसलर्स से सलाह ले सकते हैं या फिर, अपने मनचाहे कार्यक्षेत्र में इंटर्नशिप कर सकते हैं ताकि आपको अपने पैशन और संभावनाओं के बारे में बखूबी पता चल सके.

ग्रेजुएशन के बाद उपयुक्त करियर ऑप्शन चुनना एक मुश्किल निर्णय

हां! यह सच है. जब अपने लिए सही करियर ऑप्शन चुनने का समय आता है तो किसी भी छात्र के मन में कई सारी दुविधाएं पैदा हो जाती है. कई प्रश्न जैसेकि, “मैंने बीटेक की है, लेकिन मेरे पास बढ़िया राइटिंग स्किल्स हैं”, “क्या मैं हायर स्टडीज के लिए एडमिशन लूं या जॉब के लिए अप्लाई करूं?” और “क्या मुझे अमुक या अमुक डिग्री से कोई जॉब मिल जायेगी?” छात्रों के मन में काफी डाऊट्स पैदा कर देते हैं.

यहां इस मसले से निपटने के कुछ तरीके पेश किये जा रहे हैं:                                                                                      

डिग्री और जॉब के बीच टकराव

किसी ऐसी स्थिति में, जब आप यह सोचें कि आपकी डिग्री आपको कोई अच्छी जॉब प्राप्त करने के लिए काफी क्वालिफिकेशन नहीं है, आपको यह समझने की कोशिश करनी चाहिए कि आपके करियर में तरक्की के लिए आपकी ग्रेजुएशन की डिग्री कैसे मदद कर सकती है? अब, उक्त मसले पर अच्छी तरह गौर करने के बाद, आप अपने स्किल्स बढ़ाने के लिए कोई पेशेवर सर्टिफिकेट कोर्स जरुर करें. एक ऐसी दुनिया में, जहां संभावनायें लगातार बदलती रहती हैं; आप कोई डिग्री प्राप्त करने पर लंबे समय तक जॉब मार्केट में सरवाइव कर सकते हैं. इसलिये, खुद को अपडेट करते रहें और लेटेस्ट मार्केट ट्रेंड्स की अच्छी जानकारी रखें. आप अपने करियर को प्रमोट करने के नये-नये स्किल्स सीखते रहें.

खुद चुनी हुई स्टडी फील्ड में विश्वास की कमी

इस केटेगरी में अधिकांश छात्र आते हैं क्योंकि उन्हें अक्सर वह करियर चुनना पड़ जाता है जो उनके सहपाठी या दोस्त या पेरेंट्स चाहते हैं या फिर, केवल अवेयरनेस की कमी के कारण वे अपना करियर चुन लेते हैं. ऐसे किसी भी मामले में आप अपनी काबिलियत और संभावनाओं का सही पता लगाने के लिए करियर एक्सपर्ट्स से मदद ले सकते हैं. प्रोफेशनल करियर काउंसलर्स जैसे एक्सपर्ट्स अपने बेहतरीन एप्टीट्यूड और साइकोमेट्रिक टेस्ट्स की सहायता से आपको अपने वास्तविक स्किल सेट्स के बारे में पता लगाने में आपकी मदद करेंगे. इससे न आपको केवल यह पता लगेगा कि आप किस स्किल में बेहतरीन हैं बल्कि, आपको अपने लिए एक उपयुक्त करियर चुनने में भी मदद मिलेगी.

ग्रेजुएट्स के लिए कौन-कौन से करियर ऑप्शन्स मौजूद हैं?

आपके स्टडी स्ट्रीम और स्टडी एरिया के आधार पर, आजकल आपके लिए ढेरों करियर ऑप्शन्स मौजूद हैं. अगर आप एक आर्ट्स, कॉमर्स या साइंस ग्रेजुएट हैं तो आपके लिए जॉब प्रॉस्पेक्ट्स और हायर स्टडीज के संबंध में कुछ बढ़िया करियर ऑप्शन्स प्रस्तुत किये जा रहे हैं:

आर्ट्स ग्रेजुएट्स के लिए करियर ऑप्शन्स

आजकल, बीए ग्रेजुएट्स के लिए काफी इनोवेटिव करियर ऑप्शन्स हैं और इनसे एकेडेमिक्स के क्षेत्र में संतोष मिलने के साथ ही जॉब के बेहतरीन अवसर भी मिलते हैं. ट्रेडिशनल कोर्सेज और जॉब्स के अलावा, आर्ट्स ग्रेजुएट्स के लिए आजकल बहुत से बिलकुल नये लेकिन, फायदेमंद करियर ऑप्शन्स उपलब्ध हैं. अब हम इनकी चर्चा करते हैं. 

आर्ट्स ग्रेजुएट्स के लिए हायर स्टडीज के ऑप्शन्स

आर्ट्स ग्रेजुएट्स के लिए सबसे ज्यादा पसंदीदा ऑप्शन्स विभिन्न विषयों जैसेकि, इंग्लिश, इकोनॉमिक्स और हिस्ट्री में एमए प्रोग्राम्स हैं. ये एमए प्रोग्राम्स उन छात्रों के लिए उपयुक्त हैं जो एमफिल और डॉक्टरेट प्रोग्राम्स के जरिये अपनी पढ़ाई आगे जारी रखना चाहते हैं और अपनी फ़ील्ड्स में रिसर्चर्स बनना चाहते हैं. एमए की डिग्रीज उन कैंडिडेट्स के लिए बहुत अच्छी हैं जो टीचिंग को अपना प्रोफेशन बनाना चाहते हैं.

जो कैंडिडेट्स एजुकेशन के क्षेत्र में काम करना चाहते हैं, वे बीएड (बैचलर ऑफ़ एजुकेशन) प्रोग्राम चुन सकते हैं. यह प्रोग्राम स्टूडेंट्स को टीचिंग कार्य में ट्रेंड करने के लिए तैयार किया गया है. यह प्रोग्राम केवल थ्योरेटिकल ट्रेनिंग पर ही फोकस नहीं करता है बल्कि, स्टूडेंट्स की टीचिंग स्किल्स का विकास करने के लिए प्रैक्टिकल ट्रेनिंग पर भी काफी जोर देता है. ग्रेजुएशन के बाद बीएड की डिग्री प्राप्त करने के बाद आप किसी भी सरकारी स्कूल में टीचर बन सकते हैं. आजकल, सरकारी स्कूलों में किसी टीचर की जॉब प्राप्त करने के लिए आपको टेट (टीचर्स एलिजिबिलिटी टेस्ट) भी जरुर पास करना होता है.

आर्ट्स ग्रेजुएट्स के लिए एक अन्य अच्छा ऑप्शन डिप्लोमा प्रोग्राम है. ये डिप्लोमा प्रोग्राम्स ऐसे शॉर्ट-टर्म प्रोग्राम्स होते हैं जो विभिन्न फ़ील्ड्स में प्रोफेशनल ट्रेनिंग देते हैं ताकि स्टूडेंट्स भावी जॉब्स के लिए तैयार हो सकें. आर्ट्स स्टूडेंट्स अपने इंटरेस्ट के अनुसार एक्टिंग, एनीमेशन, फिल्म-मेकिंग, कंप्यूटर टेक्नोलॉजी, पेंटिंग और ऐसी किसी अन्य फील्ड में डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं.

इसी तरह, ग्रेजुएशन के बाद एमबीए की डिग्री प्राप्त करना आजकल सबसे बढ़िया ऑप्शन बन गया है और आप भी एमबीए की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं. लेकिन, उस ग्लैमर, कैंपस लाइफ और कॉरपोरेट सफलता के शिकार बिलकुल न बनें जिसकी कोई भी कॉलेज गारंटी देता है. केवल अपने लक्ष्य पर ध्यान दें और अच्छी तरह जांच करें कि क्या एमबीए की डिग्री आपके लक्ष्य को पाने में फायदेमंद रहेगी. इसके बाद ही आप किसी एमबीए कॉलेज को ज्वाइन करने का फैसला करें.    

आर्ट्स ग्रेजुएट्स के लिए जॉब प्रॉस्पेक्ट्स

आर्ट्स ग्रेजुएट्स के लिए ढेरों आकर्षक और फायदेमंद जॉब प्रॉस्पेक्ट्स हैं. इनमें सबसे पहले तो बैंकिंग, एग्रीकल्चर, सेंट्रल सेक्रेटेरिएट, रेलवे और अन्य सभी सरकारी ऑफिसेज में सरकारी जॉब्स प्राप्त करना है. इन जॉब्स के लिए आपको आईबीपीएस और एसएससी एग्जाम जैसे अलग-अलग एंट्रेंस टेस्ट पास करने होते हैं. इसी तरह, अगर आपके कम्युनिकेशन स्किल्स और पर्सनालिटी ट्रेट्स काफी अच्छे हैं तो आप किसी बीपीओ में एक कस्टमर सर्विस एसोसिएट या रिलेशनशिप एग्जीक्यूटिव के तौर पर काम कर सकते हैं. अच्छी पर्सनालिटी वाले आर्ट्स ग्रेजुएट्स के लिए एक अन्य ऑप्शन पब्लिक रिलेशन सेक्टर में है. इस फील्ड में भी बहुत अच्छी सैलरी के साथ बेहतरीन जॉब प्रॉस्पेक्ट्स मौजूद हैं. अगर आप काफी अच्छा लिख सकते हैं तो आप किसी भी मीडिया हाउस में सब-एडिटर या किसी एड एजेंसी में कॉपी-राइटर के तौर पर काम कर सकते हैं.

कॉमर्स ग्रेजुएट्स के लिए हायर स्टडीज के ऑप्शन्स

बीकॉम करने के बाद सबसे ज्यादा पसंदीदा करियर ऑप्शन सीए का करियर है. सीए का एग्जाम इंस्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स (आईसीएआई) आयोजित करता है और इस एग्जाम के ये 3 लेवल मोड्यूल हैं – सीपीटी, आईपीसीसी और फाइनल सीए. बीकॉम ग्रेजुएट्स के अतिरिक्त, अन्य कैंडिडेट्स आईपीसीसी एग्जाम में सीधे शामिल हो सकते हैं. बीकॉम ग्रेजुएट्स के लिए अन्य ऑप्शन एमकॉम प्रोग्राम है. यह 2 वर्ष की अवधि का प्रोग्राम है और हरेक मान्यता-प्राप्त यूनिवर्सिटी यह प्रोग्राम ऑफर करती है. इस प्रोग्राम में बिज़ने स, एकाउंटिंग, फाइनेंस, स्टेटिस्टिक्स, इकोनॉमिक्स, मार्केटिंग और मैनेजमेंट विषय पढ़ाये जाते हैं.

कॉमर्स स्टूडेंट्स के लिए एक अन्य बढ़िया ऑप्शन फाइनेंस में एमबीए की डिग्री प्राप्त करना है. यह डिग्री बीकॉम ग्रेजुएट्स के बीच सबसे पोपुलर करियर ऑप्शन है. अगर आप भविष्य में किसी कंपनी में एक चीफ फाइनेंशल ऑफिसर के तौर पर खुद को देखना चाहते हैं तो यह कोर्स आपके लिए ही बना है. CAT, XAT, MAT और MHCET कुछ फेमस एंट्रेंस टेस्ट्स हैं जो किसी प्रसिद्ध एमबीए कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए आपको पास करने होते हैं.

कॉमर्स ग्रेजुएट्स के लिए जॉब प्रॉस्पेक्ट्स

बीकॉम करने के बाद, आप एकाउंट्स की पोस्ट के लिए किसी भी कंपनी में अप्लाई कर सकते हैं. हरेक कंपनी को अपने बिज़नस की बैलेंस शीट तैयार करने के लिए एक अकाउंटेंट की जरूरत होती है. अगर आपके पास कॉस्ट एकाउंटिंग, बेसिक प्रिंसिपल्स ऑफ़ एकाउंटिंग और मैनेजमेंट एकाउंटिंग की अच्छी जानकारी है तो आपको फाइनेंशल सेक्टर में आसानी से कोई बढ़िया नौकरी मिल सकती है.

आप किसी कंसल्टेंसी, इंडस्ट्रियल हाउस या पब्लिक एकाउंटिंग फर्म में ऑडिटर, जूनियर फाइनेंशल एनालिस्ट, टैक्स अकाउंटेंट, एनालिस्ट के तौर पर भी जॉब प्राप्त कर सकते हैं.

साइंस ग्रेजुएट्स के लिए हायर स्टडीज के ऑप्शन्स

बीएससी करने के बाद स्टूडेंट्स सीधे अपनी पसंद के विषय में एमएससी कर सकते हैं. जो स्टूडेंट्स रिसर्च और डॉक्टरेट लेवल की स्टडी करना चाहते हैं, उनके लिए एमएससी रोज़गार के नये अवसर मुहैया करवायेगी. इसके अलावा, बीएससी स्टूडेंट्स मैनेजमेंट के क्षेत्र में अपने करियर को प्रमोट करने के लिए विभिन्न एमबीए प्रोग्राम्स में से अपनी पसंद का कोई कोर्स कर सकते हैं. आजकल, एमबीए कोर्सेज हॉस्पिटल मैनेजमेंट, आईटी मैनेजमेंट और लेबोरेटरी मैनेजमेंट में स्पेशलाइजेशन के साथ ऑफर किये जा रहे हैं और ये साइंस ग्रेजुएट्स के लिए एक बेहतरीन कोर्स मोड्यूल साबित हो रहे हैं.

मैथ्स विषय सहित साइंस ग्रेजुएट्स आईटी फील्ड में अपने करियर को प्रमोट करने के लिए कंप्यूटर एप्लीकेशन में मास्टर डिग्री कर सकते हैं. इसके अलावा, बीएससी स्टूडेंट्स बीएड भी कर सकते हैं और टीचिंग प्रोफेशन अपना सकते हैं. साइंस ग्रेजुएट्स के लिए एक अन्य बढ़िया ऑप्शन कंप्यूटर साइंस, एनीमेशन और कंप्यूटर लैंग्वेजेज में डिप्लोमा कोर्स करना है. ये न केवल शॉर्ट-टर्म कोर्सेज हैं बल्कि इन्हें करने के बाद आपको काफी अच्छे सैलरी पैकेज मिलते हैं.

साइंस ग्रेजुएट्स के लिए जॉब प्रॉस्पेक्ट्स

बीएससी ग्रेजुएट्स के लिए जॉब के काफी ज्यादा अवसर मौजूद हैं. साइंस ग्रेजुएट्स अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करने के बाद एजुकेशन इंस्टिट्यूट्स, स्पेस रिसर्च इंस्टिट्यूट्स, हॉस्पिटल्स, हेल्थ सर्विस प्रोवाइडर्स, केमिकल इंडस्ट्रीज, टेस्टिंग इंस्टिट्यूट्स, जियोलाजिकल सर्वे इंस्टिट्यूट्स और अन्य कई इंस्टिट्यूट्स में जॉब प्राप्त कर सकते हैं. उक्त टेक्निकल फ़ील्ड्स के अलावा, साइंस ग्रेजुएट्स मार्केटिंग, और अन्य कई रिसर्च फ़ील्ड्स में भी काम कर सकते हैं. साइंस ग्रेजुएट्स मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव, कंसलटेंट, जूनियर क्लिनिकल रिसर्च इंजीनियर, टीचर्स और अन्य कई संबद्ध पोस्ट्स पर काम कर सकते हैं.  

कैसे चुनें अपने लिए उपयुक्त करियर?

ग्रेजुएशन के बाद जब आप बहुत ज्यादा कन्फ्यूज्ड होते हैं कि आगे क्या करें? ......तो आपके लिए उपयुक्त करियर ऑप्शन के बारे में फैसला करना काफी कठिन होता है. यह कंफ्यूजन तब और अधिक बढ़ जाता है जब स्टूडेंट्स यह फैसला नहीं कर पाते हैं कि वे किसी जॉब के लिए अप्लाई करें या हायर स्टडीज का ऑप्शन चुनें.

घबरायें नहीं! हम आपके लिए कुछ फायदेमंद तरीके यहां पेश कर रहे हैं ताकि आप अपने लिए उपयुक्त करियर चुन सकें:

अपने कोर एरिया ऑफ़ इंटरेस्ट का पता करें

आपको सबसे पहले अपने कोर एरिया ऑफ़ इंटरेस्ट का पता करना चाहिए. जो अनुभव आपने अपने कॉलेज के दिनों में प्राप्त किया है, उससे आपको जरुर अपने एरिया ऑफ़ इंटरेस्ट के बारे में बढ़िया से अनुमान हो गया होगा. इस अनुमान के आधार पर, अपनी हॉबीज और पैशन के साथ-साथ अपने स्किल्स, टैलेंट और काबिलियत पर अच्छी तरह ध्यान दें. इससे आप अपनी काबिलियत और संभावना को खुद जज कर सकेंगे और फिर, बहुत सोच-समझ कर अपने लिए एक उपयुक्त करियर चुन सकेंगे.

अपनी फील्ड में करें इंटर्नशिप

किसी भी करियर ऑप्शन को जांचने का सबसे बढ़िया तरीका उस करियर में वास्तिवक अनुभव प्राप्त करना है. इसलिये, अगर आपको अपने स्किल सेट्स या पैशन के बारे में निश्चित तौर पर पता नहीं है और आप एक्सपेरिमेंट करना चाहते हैं तो आप अपनी पसंद की करियर फील्ड में इंटर्नशिप के लिए अप्लाई कर दें. ऐसा करने पर, आपको न सिर्फ अपने एरिया ऑफ़ इंटरेस्ट और पैशन के बारे में पता चलेगा बल्कि, आप अपनी पढ़ाई आगे जारी रखने या ग्रेजुएशन के ठीक बाद जॉब ज्वाइन करने के बारे में भी सही फैसला कर सकेंगे.

एक्सपर्ट्स से लें सलाह

आपको अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करने के बाद अपनी पढ़ाई आगे जारी रखनी चाहिए या फिर, जॉब करनी चाहिए......इस बात का पता लगाने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप अपने सीनियर्स और करियर काउंसलर्स से इस विषय में सलाह लें. लिंकडीन और फेसबुक जैसी सोशल मीडिया साइट्स पर अपने प्रोफेशनल नेटवर्क्स बनाएं और अपनी पसंदीदा फील्ड में काम करने वाले लोगों के साथ संपर्क बनाये रखें. उनका अनुभव और समझ आपको अपने लिए शानदार भविष्य तैयार करने के लिए बहुत उम्दा आईडिया प्रदान कर सकते हैं.

ग्रेजुएशन के बाद क्या करें: क्यों यह एक महत्वपूर्ण निर्णय है?

आप अपनी एकेडेमिक लाइफ में काफी आगे बढ़ चुके हैं और अब, यह बिलकुल सही समय है कि आप अपने लिए उपयुक्त करियर चुनने का निर्णय लें क्योंकि इससे ही वास्तव में आपके शानदार प्रोफेशनल फ्यूचर का रास्ता खुलेगा. यह सब इतना आसान नहीं है, जितना प्रतीत होता है. आजकल, जॉब मार्केट कई गुणा तेज़ी से बढ़ रही है और बहुत-सी ऑफ़-बीट जॉब्स काफी लोकप्रिय हो रही हैं. इसलिये, अब यह जरुरी नहीं रहा है कि कोई बीकॉम या बीटेक ग्रेजुएट क्रमशः एमबीए या सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग को ही केवल अपने करियर ऑप्शन्स के तौर पर चुनने के लिए बाध्य है .

उदाहरण के लिए, यदयपि किसी इंजीनियरिंग ग्रेजुएट ने अपने 4 कीमती वर्ष डिग्री प्राप्त करने के लिए लगाये हैं तो भी आजकल, इसका मतलब यह नहीं है कि वह केवल इंजीनियरिंग के कार्यक्षेत्र में कार्य करने के लिए बाध्य है जबकि उसका पैशन, एप्टीट्यूड और स्किल्स किसी अन्य कार्यक्षेत्र से संबद्ध हैं. इसलिये, अब यह बहुत आवश्यक हो गया है कि आप ग्रेजुएशन करने के बाद अपने पैशन, एप्टीट्यूड और स्किल सेट का पता लगायें. इससे न सिर्फ आपको अपनी हायर स्टडीज जारी रखने में मदद मिलेगी बल्कि, आप अपने मनचाहे कार्यक्षेत्र में एक शानदार करियर और भविष्य भी तैयार कर सकेंगे.

अगर आप अभी अपनी ग्रेजुएशन के फाइनल इयर में हैं या फिर, आपने बिलकुल अभी अपनी ग्रेजुएशन पूरी की है तो अपने काम को ध्यान से देखें और अपने उन खास ट्रेट्स का पता लगाने की कोशिश करें जो आपको बेहतर बनाते हैं. अगर यह तरीका आपके लिए कारगर साबित नहीं होता है तो आप करियर काउंसलर्स से सलाह ले सकते हैं या फिर, अपने मनचाहे कार्यक्षेत्र में इंटर्नशिप कर सकते हैं ताकि आपको अपने पैशन और संभावनाओं के बारे में बखूबी पता चल सके.

ग्रेजुएशन के बाद उपयुक्त करियर ऑप्शन चुनना एक मुश्किल निर्णय

हां! यह सच है. जब अपने लिए सही करियर ऑप्शन चुनने का समय आता है तो किसी भी छात्र के मन में कई सारी दुविधाएं पैदा हो जाती है. कई प्रश्न जैसेकि, “मैंने बीटेक की है, लेकिन मेरे पास बढ़िया राइटिंग स्किल्स हैं”, “क्या मैं हायर स्टडीज के लिए एडमिशन लूं या जॉब के लिए अप्लाई करूं?” और “क्या मुझे अमुक या अमुक डिग्री से कोई जॉब मिल जायेगी?” छात्रों के मन में काफी डाऊट्स पैदा कर देते हैं.

यहां इस मसले से निपटने के कुछ तरीके पेश किये जा रहे हैं:      

डिग्री और जॉब के बीच टकराव

किसी ऐसी स्थिति में, जब आप यह सोचें कि आपकी डिग्री आपको कोई अच्छी जॉब प्राप्त करने के लिए काफी क्वालिफिकेशन नहीं है, आपको यह समझने की कोशिश करनी चाहिए कि आपके करियर में तरक्की के लिए आपकी ग्रेजुएशन की डिग्री कैसे मदद कर सकती है? अब, उक्त मसले पर अच्छी तरह गौर करने के बाद, आप अपने स्किल्स बढ़ाने के लिए कोई पेशेवर सर्टिफिकेट कोर्स जरुर करें. एक ऐसी दुनिया में, जहां संभावनायें लगातार बदलती रहती हैं; आप कोई डिग्री प्राप्त करने पर लंबे समय तक जॉब मार्केट में सरवाइव कर सकते हैं. इसलिये, खुद को अपडेट करते रहें और लेटेस्ट मार्केट ट्रेंड्स की अच्छी जानकारी रखें. आप अपने करियर को प्रमोट करने के नये-नये स्किल्स सीखते रहें.

खुद चुनी हुई स्टडी फील्ड में विश्वास की कमी

इस केटेगरी में अधिकांश छात्र आते हैं क्योंकि उन्हें अक्सर वह करियर चुनना पड़ जाता है जो उनके सहपाठी या दोस्त या पेरेंट्स चाहते हैं या फिर, केवल अवेयरनेस की कमी के कारण वे अपना करियर चुन लेते हैं. ऐसे किसी भी मामले में आप अपनी काबिलियत और संभावनाओं का सही पता लगाने के लिए करियर एक्सपर्ट्स से मदद ले सकते हैं. प्रोफेशनल करियर काउंसलर्स जैसे एक्सपर्ट्स अपने बेहतरीन एप्टीट्यूड और साइकोमेट्रिक टेस्ट्स की सहायता से आपको अपने वास्तविक स्किल सेट्स के बारे में पता लगाने में आपकी मदद करेंगे. इससे न आपको केवल यह पता लगेगा कि आप किस स्किल में बेहतरीन हैं बल्कि, आपको अपने लिए एक उपयुक्त करियर चुनने में भी मदद मिलेगी.

 

ग्रेजुएट्स के लिए कौन-कौन से करियर ऑप्शन्स मौजूद हैं?

आपके स्टडी स्ट्रीम और स्टडी एरिया के आधार पर, आजकल आपके लिए ढेरों करियर ऑप्शन्स मौजूद हैं. अगर आप एक आर्ट्स, कॉमर्स या साइंस ग्रेजुएट हैं तो आपके लिए जॉब प्रॉस्पेक्ट्स और हायर स्टडीज के संबंध में कुछ बढ़िया करियर ऑप्शन्स प्रस्तुत किये जा रहे हैं:

आर्ट्स ग्रेजुएट्स के लिए करियर ऑप्शन्स

आजकल, बीए ग्रेजुएट्स के लिए काफी इनोवेटिव करियर ऑप्शन्स हैं और इनसे एकेडेमिक्स के क्षेत्र में संतोष मिलने के साथ ही जॉब के बेहतरीन अवसर भी मिलते हैं. ट्रेडिशनल कोर्सेज और जॉब्स के अलावा, आर्ट्स ग्रेजुएट्स के लिए आजकल बहुत से बिलकुल नये लेकिन, फायदेमंद करियर ऑप्शन्स उपलब्ध हैं. अब हम इनकी चर्चा करते हैं. 

आर्ट्स ग्रेजुएट्स के लिए हायर स्टडीज के ऑप्शन्स

आर्ट्स ग्रेजुएट्स के लिए सबसे ज्यादा पसंदीदा ऑप्शन्स विभिन्न विषयों जैसेकि, इंग्लिश, इकोनॉमिक्स और हिस्ट्री में एमए प्रोग्राम्स हैं. ये एमए प्रोग्राम्स उन छात्रों के लिए उपयुक्त हैं जो एमफिल और डॉक्टरेट प्रोग्राम्स के जरिये अपनी पढ़ाई आगे जारी रखना चाहते हैं और अपनी फ़ील्ड्स में रिसर्चर्स बनना चाहते हैं. एमए की डिग्रीज उन कैंडिडेट्स के लिए बहुत अच्छी हैं जो टीचिंग को अपना प्रोफेशन बनाना चाहते हैं.

जो कैंडिडेट्स एजुकेशन के क्षेत्र में काम करना चाहते हैं, वे बीएड (बैचलर ऑफ़ एजुकेशन) प्रोग्राम चुन सकते हैं. यह प्रोग्राम स्टूडेंट्स को टीचिंग कार्य में ट्रेंड करने के लिए तैयार किया गया है. यह प्रोग्राम केवल थ्योरेटिकल ट्रेनिंग पर ही फोकस नहीं करता है बल्कि, स्टूडेंट्स की टीचिंग स्किल्स का विकास करने के लिए प्रैक्टिकल ट्रेनिंग पर भी काफी जोर देता है. ग्रेजुएशन के बाद बीएड की डिग्री प्राप्त करने के बाद आप किसी भी सरकारी स्कूल में टीचर बन सकते हैं. आजकल, सरकारी स्कूलों में किसी टीचर की जॉब प्राप्त करने के लिए आपको टेट (टीचर्स एलिजिबिलिटी टेस्ट) भी जरुर पास करना होता है.

आर्ट्स ग्रेजुएट्स के लिए एक अन्य अच्छा ऑप्शन डिप्लोमा प्रोग्राम है. ये डिप्लोमा प्रोग्राम्स ऐसे शॉर्ट-टर्म प्रोग्राम्स होते हैं जो विभिन्न फ़ील्ड्स में प्रोफेशनल ट्रेनिंग देते हैं ताकि स्टूडेंट्स भावी जॉब्स के लिए तैयार हो सकें. आर्ट्स स्टूडेंट्स अपने इंटरेस्ट के अनुसार एक्टिंग, एनीमेशन, फिल्म-मेकिंग, कंप्यूटर टेक्नोलॉजी, पेंटिंग और ऐसी किसी अन्य फील्ड में डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं.

इसी तरह, ग्रेजुएशन के बाद एमबीए की डिग्री प्राप्त करना आजकल सबसे बढ़िया ऑप्शन बन गया है और आप भी एमबीए की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं. लेकिन, उस ग्लैमर, कैंपस लाइफ और कॉरपोरेट सफलता के शिकार बिलकुल न बनें जिसकी कोई भी कॉलेज गारंटी देता है. केवल अपने लक्ष्य पर ध्यान दें और अच्छी तरह जांच करें कि क्या एमबीए की डिग्री आपके लक्ष्य को पाने में फायदेमंद रहेगी. इसके बाद ही आप किसी एमबीए कॉलेज को ज्वाइन करने का फैसला करें.

आर्ट्स ग्रेजुएट्स के लिए जॉब प्रॉस्पेक्ट्स

आर्ट्स ग्रेजुएट्स के लिए ढेरों आकर्षक और फायदेमंद जॉब प्रॉस्पेक्ट्स हैं. इनमें सबसे पहले तो बैंकिंग, एग्रीकल्चर, सेंट्रल सेक्रेटेरिएट, रेलवे और अन्य सभी सरकारी ऑफिसेज में सरकारी जॉब्स प्राप्त करना है. इन जॉब्स के लिए आपको आईबीपीएस और एसएससी एग्जाम जैसे अलग-अलग एंट्रेंस टेस्ट पास करने होते हैं. इसी तरह, अगर आपके कम्युनिकेशन स्किल्स और पर्सनालिटी ट्रेट्स काफी अच्छे हैं तो आप किसी बीपीओ में एक कस्टमर सर्विस एसोसिएट या रिलेशनशिप एग्जीक्यूटिव के तौर पर काम कर सकते हैं. अच्छी पर्सनालिटी वाले आर्ट्स ग्रेजुएट्स के लिए एक अन्य ऑप्शन पब्लिक रिलेशन सेक्टर में है. इस फील्ड में भी बहुत अच्छी सैलरी के साथ बेहतरीन जॉब प्रॉस्पेक्ट्स मौजूद हैं. अगर आप काफी अच्छा लिख सकते हैं तो आप किसी भी मीडिया हाउस में सब-एडिटर या किसी एड एजेंसी में कॉपी-राइटर के तौर पर काम कर सकते हैं.

कॉमर्स ग्रेजुएट्स के लिए हायर स्टडीज के ऑप्शन्स

बीकॉम करने के बाद सबसे ज्यादा पसंदीदा करियर ऑप्शन सीए का करियर है. सीए का एग्जाम इंस्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स (आईसीएआई) आयोजित करता है और इस एग्जाम के ये 3 लेवल मोड्यूल हैं – सीपीटी, आईपीसीसी और फाइनल सीए. बीकॉम ग्रेजुएट्स के अतिरिक्त, अन्य कैंडिडेट्स आईपीसीसी एग्जाम में सीधे शामिल हो सकते हैं. बीकॉम ग्रेजुएट्स के लिए अन्य ऑप्शन एमकॉम प्रोग्राम है. यह 2 वर्ष की अवधि का प्रोग्राम है और हरेक मान्यता-प्राप्त यूनिवर्सिटी यह प्रोग्राम ऑफर करती है. इस प्रोग्राम में बिज़ने स, एकाउंटिंग, फाइनेंस, स्टेटिस्टिक्स, इकोनॉमिक्स, मार्केटिंग और मैनेजमेंट विषय पढ़ाये जाते हैं.

कॉमर्स स्टूडेंट्स के लिए एक अन्य बढ़िया ऑप्शन फाइनेंस में एमबीए की डिग्री प्राप्त करना है. यह डिग्री बीकॉम ग्रेजुएट्स के बीच सबसे पोपुलर करियर ऑप्शन है. अगर आप भविष्य में किसी कंपनी में एक चीफ फाइनेंशल ऑफिसर के तौर पर खुद को देखना चाहते हैं तो यह कोर्स आपके लिए ही बना है. CAT, XAT, MAT और MHCET कुछ फेमस एंट्रेंस टेस्ट्स हैं जो किसी प्रसिद्ध एमबीए कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए आपको पास करने होते हैं.

कॉमर्स ग्रेजुएट्स के लिए जॉब प्रॉस्पेक्ट्स

बीकॉम करने के बाद, आप एकाउंट्स की पोस्ट के लिए किसी भी कंपनी में अप्लाई कर सकते हैं. हरेक कंपनी को अपने बिज़नस की बैलेंस शीट तैयार करने के लिए एक अकाउंटेंट की जरूरत होती है. अगर आपके पास कॉस्ट एकाउंटिंग, बेसिक प्रिंसिपल्स ऑफ़ एकाउंटिंग और मैनेजमेंट एकाउंटिंग की अच्छी जानकारी है तो आपको फाइनेंशल सेक्टर में आसानी से कोई बढ़िया नौकरी मिल सकती है.

आप किसी कंसल्टेंसी, इंडस्ट्रियल हाउस या पब्लिक एकाउंटिंग फर्म में ऑडिटर, जूनियर फाइनेंशल एनालिस्ट, टैक्स अकाउंटेंट, एनालिस्ट के तौर पर भी जॉब प्राप्त कर सकते हैं.

साइंस ग्रेजुएट्स के लिए हायर स्टडीज के ऑप्शन्स

बीएससी करने के बाद स्टूडेंट्स सीधे अपनी पसंद के विषय में एमएससी कर सकते हैं. जो स्टूडेंट्स रिसर्च और डॉक्टरेट लेवल की स्टडी करना चाहते हैं, उनके लिए एमएससी रोज़गार के नये अवसर मुहैया करवायेगी. इसके अलावा, बीएससी स्टूडेंट्स मैनेजमेंट के क्षेत्र में अपने करियर को प्रमोट करने के लिए विभिन्न एमबीए प्रोग्राम्स में से अपनी पसंद का कोई कोर्स कर सकते हैं. आजकल, एमबीए कोर्सेज हॉस्पिटल मैनेजमेंट, आईटी मैनेजमेंट और लेबोरेटरी मैनेजमेंट में स्पेशलाइजेशन के साथ ऑफर किये जा रहे हैं और ये साइंस ग्रेजुएट्स के लिए एक बेहतरीन कोर्स मोड्यूल साबित हो रहे हैं.

मैथ्स विषय सहित साइंस ग्रेजुएट्स आईटी फील्ड में अपने करियर को प्रमोट करने के लिए कंप्यूटर एप्लीकेशन में मास्टर डिग्री कर सकते हैं. इसके अलावा, बीएससी स्टूडेंट्स बीएड भी कर सकते हैं और टीचिंग प्रोफेशन अपना सकते हैं. साइंस ग्रेजुएट्स के लिए एक अन्य बढ़िया ऑप्शन कंप्यूटर साइंस, एनीमेशन और कंप्यूटर लैंग्वेजेज में डिप्लोमा कोर्स करना है. ये न केवल शॉर्ट-टर्म कोर्सेज हैं बल्कि इन्हें करने के बाद आपको काफी अच्छे सैलरी पैकेज मिलते हैं.

साइंस ग्रेजुएट्स के लिए जॉब प्रॉस्पेक्ट्स

बीएससी ग्रेजुएट्स के लिए जॉब के काफी ज्यादा अवसर मौजूद हैं. साइंस ग्रेजुएट्स अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करने के बाद एजुकेशन इंस्टिट्यूट्स, स्पेस रिसर्च इंस्टिट्यूट्स, हॉस्पिटल्स, हेल्थ सर्विस प्रोवाइडर्स, केमिकल इंडस्ट्रीज, टेस्टिंग इंस्टिट्यूट्स, जियोलाजिकल सर्वे इंस्टिट्यूट्स और अन्य कई इंस्टिट्यूट्स में जॉब प्राप्त कर सकते हैं. उक्त टेक्निकल फ़ील्ड्स के अलावा, साइंस ग्रेजुएट्स मार्केटिंग, और अन्य कई रिसर्च फ़ील्ड्स में भी काम कर सकते हैं. साइंस ग्रेजुएट्स मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव, कंसलटेंट, जूनियर क्लिनिकल रिसर्च इंजीनियर, टीचर्स और अन्य कई संबद्ध पोस्ट्स पर काम कर सकते हैं.

कैसे चुनें अपने लिए उपयुक्त करियर?

ग्रेजुएशन के बाद जब आप बहुत ज्यादा कन्फ्यूज्ड होते हैं कि आगे क्या करें? ......तो आपके लिए उपयुक्त करियर ऑप्शन के बारे में फैसला करना काफी कठिन होता है. यह कंफ्यूजन तब और अधिक बढ़ जाता है जब स्टूडेंट्स यह फैसला नहीं कर पाते हैं कि वे किसी जॉब के लिए अप्लाई करें या हायर स्टडीज का ऑप्शन चुनें.

घबरायें नहीं! हम आपके लिए कुछ फायदेमंद तरीके यहां पेश कर रहे हैं ताकि आप अपने लिए उपयुक्त करियर चुन सकें:

अपने कोर एरिया ऑफ़ इंटरेस्ट का पता करें

आपको सबसे पहले अपने कोर एरिया ऑफ़ इंटरेस्ट का पता करना चाहिए. जो अनुभव आपने अपने कॉलेज के दिनों में प्राप्त किया है, उससे आपको जरुर अपने एरिया ऑफ़ इंटरेस्ट के बारे में बढ़िया से अनुमान हो गया होगा. इस अनुमान के आधार पर, अपनी हॉबीज और पैशन के साथ-साथ अपने स्किल्स, टैलेंट और काबिलियत पर अच्छी तरह ध्यान दें. इससे आप अपनी काबिलियत और संभावना को खुद जज कर सकेंगे और फिर, बहुत सोच-समझ कर अपने लिए एक उपयुक्त करियर चुन सकेंगे.

अपनी फील्ड में करें इंटर्नशिप

किसी भी करियर ऑप्शन को जांचने का सबसे बढ़िया तरीका उस करियर में वास्तिवक अनुभव प्राप्त करना है. इसलिये, अगर आपको अपने स्किल सेट्स या पैशन के बारे में निश्चित तौर पर पता नहीं है और आप एक्सपेरिमेंट करना चाहते हैं तो आप अपनी पसंद की करियर फील्ड में इंटर्नशिप के लिए अप्लाई कर दें. ऐसा करने पर, आपको न सिर्फ अपने एरिया ऑफ़ इंटरेस्ट और पैशन के बारे में पता चलेगा बल्कि, आप अपनी पढ़ाई आगे जारी रखने या ग्रेजुएशन के ठीक बाद जॉब ज्वाइन करने के बारे में भी सही फैसला कर सकेंगे.

एक्सपर्ट्स से लें सलाह

आपको अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करने के बाद अपनी पढ़ाई आगे जारी रखनी चाहिए या फिर, जॉब करनी चाहिए......इस बात का पता लगाने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप अपने सीनियर्स और करियर काउंसलर्स से इस विषय में सलाह लें. लिंकडीन और फेसबुक जैसी सोशल मीडिया साइट्स पर अपने प्रोफेशनल नेटवर्क्स बनाएं और अपनी पसंदीदा फील्ड में काम करने वाले लोगों के साथ संपर्क बनाये रखें. उनका अनुभव और समझ आपको अपने लिए शानदार भविष्य तैयार करने के लिए बहुत उम्दा आईडिया प्रदान कर सकते हैं.

 

DISCLAIMER: JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.

Newsletter Signup
Follow us on
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK