Search

इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता से परिवर्तित करने की योजना

इंडोनेशिया की नई संभावित राजधानी की घोषणा अभी नहीं की गई है लेकिन बोर्नियो द्वीप स्थित पलानकोराया के नई राजधानी बनने की खबरें चर्चा में बनी रही हैं.

May 1, 2019 13:02 IST

इंडोनेशिया सरकार द्वारा हाल ही में जकार्ता से हटकर नई राजधानी बनाने के लिए राष्ट्रपति जोको विडोडो द्वारा विभिन्न योजनाओं पर विचार किया गया है. विडोडो ने मंत्रिमंडल की एक विशेष बैठक में देश के सर्वाधिक आबादी वाले द्वीप जावा से राजधानी को बाहर ले जाने के बारे में फैसला किया है.

नई संभावित राजधानी की घोषणा अभी नहीं की गई है लेकिन बोर्नियो द्वीप स्थित पलानकोराया के नई राजधानी बनने की खबरें चर्चा में बनी हैं. पलानकोराया बोर्नियो द्वीप पर स्थित है और सेंट्रल कालिमैनटन के उत्तर-पूर्व में कुछ सौ किलोमीटर दूर है.

तीन विकल्प

  • पहला विकल्प जकार्ता को राजधानी के रूप में रखना था लेकिन दक्षता में सुधार के लिए राष्ट्रपति महल और राष्ट्रीय स्मारक के आसपास एक नया सरकारी कार्यालय स्थापित करना था.
  • दूसरा विकल्प जकार्ता के बाहर 50 से 70 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक नई राजधानी स्थापित करना था.
  • तीसरा विकल्प था कि किसी द्वीप पर नये सिरे से राजधानी बना दी जाये.
  • इंडोनेशिया के योजना मंत्री बमबैंग के अनुसार पहले दो विकल्प जकार्ता में बढ़ रहे जनसंख्या के दबाव को कम करने में असमर्थ हैं.

इंडोनेशिया की राजधानी बदलने के कारण

  • जकार्ता की जनसंख्या बढ़ने के कारण यहां संसाधनों पर दबाव बढ़ा है. माना जा रहा है कि जनसंख्या का बढ़ रहा दबाव भी इंडोनेशिया की राजधानी बदलने का एक मुख्य कारण है.
  • दूसरा, इंडोनेशिया समुद्री किनारों से घिरा है तथा जकार्ता के पास 13 नदियां मौजूद हैं. समुद्र के बढ़ते जलस्तर के कारण इसके डूबने का खतरा भी बढ़ गया है.
  • शोधकर्ताओं के मुताबिक इस शहर का बड़ा हिस्सा साल 2050 तक डूब सकता है. उत्तरी जकार्ता हर साल औसतन 1-15 सेंटीमीटर डूबता जा रहा है.
  • इसके अतिरिक्त, जकार्ता में ट्रैफिक के बढ़ रहे दबाव के कारण भी राजधानी बदली जा सकती है.