Search

ऊर्जा क्षेत्र में भारत और बेल्जियम के मध्य समझौता

समझौते पत्र का उद्देश्य दोनों देशों के बीच नई और नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में सहयोग के लिए परस्पर सहयोग के आधार पर सांस्थानिक संबंध का आधार तैयार करना है.

Nov 6, 2015 11:57 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में 5 नवम्बर 2015 को भारत और बेल्जियम के बीच संघीय और क्षेत्रीय स्तर पर ऊर्जा क्षेत्र में सहयोग पर समझौते पत्र को मंजूरी दे दी गई. समझौते पत्र पर भारत और बल्जियम सरकार के अधिकारियों की मौजूदगी में हस्ताक्षर किए गए.

समझौते पत्र का उद्देश्य दोनों देशों के बीच नई और नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में सहयोग के लिए परस्पर सहयोग के आधार पर सांस्थानिक संबंध का आधार तैयार करना है. इससे दोनों के बीच इस क्षेत्र में तकनीकी सहयोग का भी आधार तैयार हो सकेगा. इस समझौते के तहत पवन ऊर्जा, सौर ऊर्जा (ताप और फोटो वोल्टिक), स्मार्ट ग्रिड, जैव ताप ऊर्जा, समुद्री ऊर्जा में नई और नवीकरणीय ऊर्जा के विकास पर पूरा जोर होगा. साथ ही ऊर्जा की आपूर्ति और ऊर्जा सुरक्षा के विविधिकरण में नवीकरणीय ऊर्जा के योगदान और परस्पर सहमति के आधार पर अऩ्य क्षेत्रों में सहयोग पर काम होगा.
इस एमओयू से दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय सहयोग को मजबूत करने में मदद मिलेगी.

Now get latest Current Affairs on mobile, Download # 1  Current Affairs App