Search

एनसीडीईएक्स ने स्वर्ण अनुबंध हेतु गोल्ड नाउ प्लेटफ़ॉर्म की शुरुआत की

नेशनल कमोडिटी एंड डेरिवेटिव्स एक्सचेंज लिमिटेड (एनसीडीईएक्स) ने 27 मई 2015 को गोल्ड नाउ नामक प्लेटफ़ॉर्म शुरू किया

May 30, 2015 14:17 IST

नेशनल कमोडिटी एंड डेरिवेटिव्स एक्सचेंज लिमिटेड (एनसीडीईएक्स) ने 27 मई 2015 को गोल्ड नाउ नामक प्लेटफ़ॉर्म शुरू किया जिसके तहत स्वर्ण कारोबार को लाभ पहुँचाने हेतु कदम उठाये जायेंगे.

गोल्ड नाउ की विशेषताएं


-    यह भारत में निर्मित स्वर्ण को देश में ही खरीदने तथा बेचने के लिए बनाया गया है.

-    इसके तहत ग्राहक से तयशुदा अनुबंध के तहत डिलीवरी अनिवार्य होगी.

-    डिलीवरी के लिए 100 ग्राम से 1 किलोग्राम तक स्वर्ण मंगाया जा सकता है.

-    देश में डिलीवरी के छह केंद्र होंगे, दिल्ली, मुंबई, अहमदाबाद, हैदराबाद, कोचीन तथा चेन्नई.

-    एनसीडीईएक्स ने चार स्वर्ण उपभोक्ता संस्थाओं से अनुबंध किया है, जिनमे एमएमटीसी-पीएएमपी, कुंदन समूह, श्रीपुर स्वर्ण रिफाइनरी तथा एडेलवेइस शामिल हैं.


-    एनसीडीईएक्स शुद्धता जांच केंद्र स्थापित करने पर भी विचार कर रहा है.

गोल्ड नाउ का महत्व

अनुमानतः 20,000 मीट्रिक टन स्वर्ण भारत के मंदिरों, ट्रस्ट तथा लोगों के घरों में मौजूद है. यदि इसे प्रभावी तरीके से लागू किया जाए तो देश में स्वर्ण आयात की आवश्यकता काफी हद तक कम हो सकती है. गोल्ड नाउ प्लेटफ़ॉर्म केंद्रीय वित्त मंत्रालय द्वारा 19 मई 2015 को प्रस्तावित गोल्ड मुद्रीकरण योजना का ही पूरक है.

पहले इस योजना के तहत बैंकों को यह अधिकार प्राप्त था कि वे अनुपयुक्त स्वर्ण को ग्राहकों से लेकर उसे घरेलू शेयर बाज़ार में लगा सकते हैं.

वायदा अनुबंध


इसके अनुसार विक्रेता तथा खरीददार के बीच किसी वस्तु की डिलीवरी तथा उसके मूल्य के लिए अनुबंध निर्धारित किया जायेगा. यह विवाद का विषय है कि आमतौर पर किसी वस्तु की खरीद या बिक्री के लिए लिए अनुबंध तय करने के दो दिन बाद वस्तु की डिलीवरी कर दी जाती है.

Now get latest Current Affairs on mobile, Download # 1  Current Affairs App