Search

एससीओ शिखर सम्मेलन 2019: पीएम मोदी समेत सदस्य देशों के नेताओं की बैठक शुरू

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैठक से पहले किर्गिस्तान के राष्ट्रपति सोरोनबे जीनबेकोव से भी मुलाकात की. राष्ट्रपति सोरोनबे जीनबेकोव ने एससीओ सम्‍मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गर्मजोशी से स्‍वागत किया.

Jun 14, 2019 11:58 IST

किर्गिस्‍तान के बिश्‍केक में आयोजित दो दिवसीय एससीओ सम्‍मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत संघाई सहयोग संगठन के सदस्‍य देशों के नेताओं की बैठक शुरू हो गई है. इस बैठक में आतंकवाद, व्‍यापार, रक्षा-सुरक्षा, आपसी सहयोग और विश्व के समक्ष उभरती नई चुनौतियों पर बातचीत की संभावना है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैठक से पहले किर्गिस्तान के राष्ट्रपति सोरोनबे जीनबेकोव से भी मुलाकात की. राष्ट्रपति सोरोनबे जीनबेकोव ने एससीओ सम्‍मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गर्मजोशी से स्‍वागत किया. राष्ट्रपति सोरोनबे जीनबेकोव एससीओ सम्‍मेलन 2019 की अध्‍यक्षता भी कर रहे हैं.

प्रधानमंत्री के रूप में दूसरे कार्यकाल में पहला अहम सम्मेलन:

किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक नरेंद्र मोदी के लिए प्रधानमंत्री के रूप में दूसरे कार्यकाल में पहला अहम सम्मेलन है. इस सम्मेलन कई देश शामिल हो रहे हैं. एससीओ की बैठक के दौरान पीएम मोदी ने चीन और रूस के शासनाध्यक्षों के साथ बैठक की. 

एससीओ एक बड़ा मंच:

बहुत लंबे समय से सार्क यानी दक्षेस की बैठक नहीं हो पा रही है इसलिए भारत के लिए एससीओ एक बड़ा मंच है. इस सम्मेलन वह पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद का मुद्दा उठा रहा है. पीएम मोदी ने चीन के राष्ट्रपति से मुलाकात की और पाकिस्‍तान प्रायोजित आतंकवाद का मुद्दा उठाया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शी चिनफिंग से कहा कि पाकिस्‍तान आतंकवाद के मुद्दे पर खास सुधार करता नहीं दिखाई दे रहा है. चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा कि दोनों देशों को एक-दूसरे के लिए खतरा पैदा नहीं करना चाहिए और आपसी मतभेदों को स्वीकार कर विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ाना चाहिए.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए 13 जून 2019 को किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक पहुंचे थे. प्रधानमंत्री का विमान बिश्केक पहुंचने के लिए लंबा रास्ता तय किया. पीएम के विमान को उड़ने की इजाजत इस्लामाबाद से मिलने के बावजूद पाकिस्तानी वायुक्षेत्र को बाईपास करते हुए विमान ओमान, ईरान और मध्य एशियाई देशों के रास्ते बिश्केक पहुंचा.

पीएम मोदी ने राष्ट्रपति पुतिन के साथ की द्विपक्षीय वार्ता:

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में आयोजित एससीओ सम्मेलन में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता की. पीएम मोदी ने पुतिन से कहा की अमेठी में राइफल यूनिट लगाने के लिए आपकी मदद करने को लेकर मैं आपका आभार व्यक्त करता हूं.

बिश्केक में एससीओ की 19वीं बैठक:

यह शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) का 19वां सम्मेलन है, जिसका आयोजन किर्गिस्तान के बिश्केक में 13 से 14 जून तक किया जा रहा है. एससीओ, चीन के नेतृत्व वाला आठ सदस्यीय आर्थिक और सुरक्षा समूह है, जिसमें भारत और पाकिस्तान को साल 2017 में शामिल किया गया था.

आर्टिकल अच्छा लगा? तो वीडियो भी जरुर देखें!

शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के बारे में:

शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) का गठन 15 जून 2001 को हुआ था. तब उस समय चीन, रूस और चार मध्य एशियाई देशों कज़ाकस्तान, किर्ग़िस्तान, ताजिकिस्तान और उज़बेकिस्तान के नेताओं ने शंघाई सहयोग संगठन की स्थापना की. इस संगठन का मुख्य उद्देश्‍य नस्लीय और धार्मिक चरमपंथ से निबटने और व्यापार-निवेश बढ़ाना था.

वर्तमान में एससीओ के आठ सदस्य देश चीन, कज़ाकस्तान, किर्गिस्तान, रूस, तज़ाकिस्तान, उज़्बेकिस्तान, भारत और पाकिस्तान हैं. इसके अलावा चार ऑब्जर्वर देश अफ़ग़ानिस्तान, बेलारूस, ईरान और मंगोलिया हैं. एससीओ में चीन, रूस के बाद भारत तीसरा सबसे बड़ा देश है. भारत का कद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ रहा है. एससीओ को इस समय विश्व का सबसे बड़ा क्षेत्रीय संगठन माना जाता है.

यह भी पढ़ें: विश्व रक्तदाता दिवस 2019: आज करें रक्तदान

यह भी पढ़ें: 2030 तक भारत अंतरिक्ष में अपना स्पेस स्टेशन स्थापित करेगा: इसरो

For Latest Current Affairs & GK, Click here