Search

कोलंबिया में फ़ार्क विद्रोहियों ने काटाटुम्बो तेल पाइपलाइन को उड़ाया

फ़ार्क 17 जून 2015 को चर्चा में था क्योंकि इस विद्रोही समूह ने कोलंबिया के उत्तर में स्थित काटाटुम्बो क्षेत्र में तेल पाइपलाइन को उड़ा दिया

Jun 24, 2015 14:42 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

फ़ार्क -  कोलंबिया स्थित एक गोरिल्ला विद्रोही समूह

फ़ार्क 17 जून 2015 को चर्चा में रहा क्योंकि इस विद्रोही समूह ने कोलंबिया के उत्तर में स्थित काटाटुम्बो क्षेत्र में तेल पाइपलाइन को उड़ा दिया था.

रेवोलुशनरी आर्म्ड फोर्सेज़ ऑफ़ कोलंबिया – पीपल्स आर्मी (फार्क-ईपी) वर्ष 1964 में स्थापित एक वामपंथी उग्रवादी संगठन है.

यह कोलंबिया का सबसे बड़ा विद्रोही समूह तथा लैटिन अमेरिका का सबसे पुराना वामपंथी उग्रवादी संगठन है. यह कोलंबिया, वेनेजुएला, पनामा और इक्वाडोर में सक्रिय है.

किसी भी अन्य वामपंथी उग्रवादी संगठन की तरह इसका उद्देश्य सत्ताधारी सरकार को उखाड़ फेंकना है.


इसकी स्थापना कम्युनिस्ट प्रेरित किसान सेना के रूप में अमीर और गरीब लोगों के बीच भूमि सुधार कार्यों को लेकर की गयी थी.

पिछले कुछ समय में फ़ार्क की नशीली दवाओं के अवैध व्यापार, अपहरण तथा जबरन वसूली में लिप्तता के कारण आलोचना हुई है.

कोलम्बिया विश्व में कोकेन का सबसे बड़ा उत्पादक देश है एवं फ़ार्क इसके अवैध व्यापार से लगभग 500 मिलियन डॉलर का वार्षिक मुनाफा कमाता है.

फ़ार्क नवम्बर 2012 से कोलम्बिया सरकार के साथ शांति वार्ता कर रहा है जिसका उद्देश्य 50 वर्ष पुराने संघर्ष को विराम देना है.

इसमें विभिन्न बिन्दुओं पर समझौता किया गया है तथा क्यूबा की राजधानी हवाना में अगली वार्ता जारी रहेगी.

22 मई 2015 से सेना तथा आम जनता के इंफ्रास्ट्रक्चर पर फ़ार्क के हमले बढ़े हैं, इससे पहले दिसम्बर 2014 में घोषित किये गए युद्धविराम को फ़ार्क ने नकार दिया था.

Now get latest Current Affairs on mobile, Download # 1  Current Affairs App