Search

तुलसी गेबार्ड 2020 में अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव लड़ेंगी

तुलसी गेबार्ड अमेरिका के हाउस ऑफ़ रिप्रेजेन्टेटिव में हवाई का प्रतिनिधित्व करती हैं. उन्होंने अपने राष्ट्रपति अभियान की शुरुआत अमेरिका के हवाई से कर दी है.

Feb 5, 2019 09:44 IST
तुलसी गेबार्ड

अमेरिका में वर्ष 2020 में होने वाले राष्ट्रपति चुनावों के लिए अमेरिकी कांग्रेस की पहली हिन्दू महिला सांसद तुलसी गेबार्ड ने अधिकारिक रूप से 2020 का राष्ट्रपति चुनाव लड़ने की घोषणा की है. वे एलिज़ाबेथ वारेन के बाद डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्ट्रपति चुनाव में हिस्सा लेने वाली दूसरी महिला सीनेटर होंगी.

तुलसी गेबार्ड अमेरिका के हाउस ऑफ़ रिप्रेजेन्टेटिव में हवाई का प्रतिनिधित्व करती हैं. उन्होंने अपने राष्ट्रपति अभियान की शुरुआत अमेरिका के हवाई से कर दी है. वे अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव लड़ने वाली पहली हिन्दू महिला होंगी. विदित है कि निकी हेली अमेरिकी कैबिनेट में शामिल होने वाली भारतीय मूल की पहली अमेरिकी नागरिक हैं.

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों में महिला उम्मीदवारों का इतिहास

वर्ष

नाम

पार्टी

2016

हिलेरी क्लिंटन

डेमोक्रेटिक पार्टी

2016

जिल स्टीन

ग्रीन पार्टी

2012

रोज़ीन बार

पीस एंड फ्रीडम पार्टी

2012

जिल स्टीन

ग्रीन पार्टी

2008

सिंथिया मेकिनी

ग्रीन पार्टी

1988

लेनोरा फ्युलानी

न्यू अलायंस पार्टी

1972

लिंडा जोन्स

सोशलिस्ट वर्कर्स पार्टी

1992

लेनोरा फ्युलानी

न्यू अलायंस पार्टी

1984

सोनिया जॉनसन

सिटीजन्स पार्टी

1976

मारग्रेट राईट

पीपल्स पार्टी

1940

ग्रेसी एलेन

सरप्राइज़ पार्टी


तुलसी गेबार्ड के बारे में जानकारी

•    तुलसी गेबार्ड का जन्म 12 अप्रैल 1981 को अमेरिका में हुआ था.

•    वे अमेरिकन कांग्रेस की सदस्य बनने वाली पहली हिन्दू सदस्य हैं.

•    वर्ष 2004-05 में तुलसी ने हवाई आर्मी नेशनल गार्ड की फील्ड मेडिकल यूनिट में कार्य किया था.

•    राजनीति में आने से पहले गेबार्ड अमेरिकी सेना की ओर से 12 महीने के लिए इराक में तैनात रह चुकी हैं.

•    उन्हें वर्ष 2002 से 2004 के बीच हवाई हाउस ऑफ़ रिप्रेजेन्टेटिव के लिए चुना गया था, उस समय वे केवल 21 वर्ष की थी.

•    वे अमेरिका के किसी राज्य की विधायिका के सबसे युवा सदस्य बनीं थीं.

•    उन्होंने हवाई से सीनेटर पद पर काबिज होने के बाद भगवद गीता पर हाथ रखकर शपथ ली थी. वे पहली बार 2011 में प्रतिनिधि सभा में चुनी गई थीं.

•    तुलसी गेबार्ड, हाउस की आर्म्ड सर्विस कमेटी और विदेश मामलों की कमेटी की सदस्य हैं. चार बार की सांसद भारत अमेरिका के संबंधों की बड़ी समर्थक हैं.


यह भी पढ़ें: जानिए INF संधि क्या है और अमेरिका क्यों इससे अलग हुआ?