Search

नेपाल ने भारत का ओपन स्काई ऑफर अस्वीकार किया

नेपाल के पश्चिमी भाग में स्थित लुम्बिनी में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का विकास किया जा रहा है.

Dec 30, 2016 10:35 IST

नेपाल ने 20 दिसंबर 2016 को भारत द्वारा प्रस्तावित ओपन स्काई ऑफर को अस्वीकार कर दिया. इसके तहत भारत और नेपाल के मध्य असीमित हवाई उड़ानों को प्रस्तावित किया गया था.

नेपाल ने अपने निर्णय के पक्ष में कहा कि वह अभी इस प्रस्ताव के लिए तैयार नहीं है लेकिन दो वर्ष बाद इस पर विचार किया जा सकता है.

मुख्य बिंदु

•    भारत एवं नेपाल ने तकनीकी विकास के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये गये जिसके तहत नेपाल के लिए इसके क्षेत्रों भैरहवा, जनकपुर एवं नेपालगंज में नये हवाई रूट आरंभ किये जाने का आग्रह किया गया था.

•    इस समिति द्वारा फरवरी 2017 में उपयुक्त मार्गों पर अपनी राय रखी जाएगी.

•    नेपाल वर्तमान में अपने देश के हवाई मार्गों में सुधार लाने के लिए प्रयासरत है. नए मार्ग खुलने से से समय एवं लागत दोनों की बचत होगी.

•    नेपाल के पश्चिमी भाग में स्थित लुम्बिनी में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का विकास किया जा रहा है.

•    इसके अतिरिक्त अंतरराष्ट्रीय मानदंडों के अनुरूप पोखरा में भी हवाई अड्डे का निर्माण किया जा रहा है.

•    हवाई मार्ग एवं विमानन सेवाएं बढ़ाने के लिए पुष्प कमल दहल की भारत यात्रा के दौरान संयुक्त वक्तव्य जारी किया गया.

राष्ट्रीय नागरिक विमानन नीति के अनुसार भारत सभी सार्क देशों के साथ ओपन स्काई अनुबंध करना चाहता है. यह ऑफर नई दिल्ली से 5000 किलोमीटर की दूरी तक स्थित देशों के लिए भी प्रस्तावित है.

CA eBook

ओपन स्काई

•    इसके तहत चुनिंदा देश आपस में विमान सेवाओं के लिए अनुबंध करते हैं.

•    ओपन स्काई अनुबंध का अर्थ नियमों में ढील है. इसके तहत समझौता किये गये देशों के मध्य उड़ानों में कोई सीमा नहीं होती.

•    भारत का फ़िलहाल किसी भी देश के साथ ओपन स्काई समझौता नहीं हुआ है.