Search

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा वित्तवर्ष 2012-13 की पहली तिमाही मौद्रिक नीति की समीक्षा रिपोर्ट जारी

Economy Current Affairs 2012. भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने वित्तवर्ष 2012-13 की पहली तिमाही मौद्रिक नीति की समीक्षा रिपोर्ट...

Jul 31, 2012 06:55 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने वित्तवर्ष 2012-13 की पहली तिमाही मौद्रिक नीति की समीक्षा रिपोर्ट (First Quarter Review of Monetary Policy for 2012-13) 31 जुलाई 2012 को जारी किया. समीक्षा के बाद ब्याज दरों में कोई बदलाव न करने का निर्णय लिया.

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने रेपो दर और रिवर्स रेपो दर में कोई बदलाव नहीं किया है. रेपो दर 8 प्रतिशत जबकि रिवर्स रेपो दर 7 प्रतिशत पर बनाए रखा गया.
आरबीआई की 2012-13 की मौद्रिक नीति की पहली तिमाही समीक्षा के मुख्य बिंदु निम्नलिखित हैं.

• आरबीआई ने नीतिगत ब्याज दरों को मौजूदा स्तर पर बनाए रखा.
• अल्पकालिक ऋण दर (रेपो) 8 प्रतिशत पर अपरिवर्तित.
• बैंकिंग क्षेत्र में नकदी बढ़ाने के लिए आरबीआई ने वैधानिक तरलता अनुपात (एसएलआर) को 24 प्रतिशत से घटाकर 23 प्रतिशत कर दिया है.
• आरक्षित नकद अनुपात (सीआरआर) 4.75 प्रतिशत पर बरकरार.
• वित्तवर्ष 2012-13 में आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान 7.3 प्रतिशत से घटाकर 6.5 प्रतिशत किया.
• आरबीआई ने वित्तवर्ष 2012-13 में मंहगाई दर का अनुमान 6.5 प्रतिशत से बढ़ाकर 7 प्रतिशत कर दिया.
• वृद्धि दर में कमी.
• यूरो क्षेत्र की स्थिति चिंता का विषय
• चालू खाते का घाटा व राजकोषीय घाटा अर्थव्यवस्था के लिए बड़ा जोखिम.
• रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने सरकार को उर्वरक एवं ईंधन सब्सिडी के मामले में तुरंत पहल करने की सलाह दी.
• रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया बैंकों के पास नकदी के स्तर को संतुलित रखने के लिए खुले बाजार में प्रतिभूतियों की खरीद फरोख्त जारी रखेगा.
• वित्तवर्ष 2012-13 की मौद्रिक नीति की मध्य तिमाही समीक्षा 17 सितंबर 2012 को और दूसरी तिमाही समीक्षा 30 अक्टूबर 2012 को करने का निर्णय लिया गया.
 
विदित हो कि रेपो दर वह ब्याज दर है जिस पर कोई कारोबारी बैंक आरबीआई से छोटी अवधि के कर्ज लेता है. जबकि रिवर्स रेपो दर वह ब्याज दर है जो बैंकों को आरबीआई के पास अपना पैसा जमा रखने पर मिलता है.

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS