Search

भारत और लिथुवानिया के मध्य दोहरे कराधान से बचने और वित्तीय अपवंचना को रोकने संबंधी समझौता

International/World Current Affairs 2011. भारत और लिथुवानिया ने दोहरे कराधान से बचने और आय तथा पूंजी पर लगने वाले कर (डीटीएए Taxes on Income and on Capital, DTAA) की वित्तीय अपवंचना को रोकने संबंधी समझौते पर हस्ताक्षर किया. यह हस्ताक्षर 26 जुलाई 2011 को नई दिल्ली में किया...

Jul 28, 2011 19:37 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

भारत और लिथुवानिया ने दोहरे कराधान से बचने और आय तथा पूंजी पर लगने वाले कर (डीटीएए Taxes on Income and on Capital, DTAA) की वित्तीय अपवंचना को रोकने संबंधी समझौते पर हस्ताक्षर किया. यह हस्ताक्षर 26 जुलाई 2011 को नई दिल्ली में किया गया. लि‍थुवानिया पहला बाल्टिक देश है जिसके साथ भारत ने डीटीएए पर समझौता किया.
 
भारत सरकार की ओर से केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड के अध्यक्ष प्रकाश चन्द्र और लिथुवानिया की ओर से भारत में लिथुवानिया के राजदूत पेट्रास साइमेल्युनास ने इस समझौते और प्रोटोकॉल पर हस्तालक्षर किए. इस समझौते से भारत और लिथुवानिया के लोगों को कर स्थिरता मिल पाएगी और दोनों देशों में आपसी आर्थिक सहयोग बढ़ाने में मदद मिलेगी. इससे दोनों देशों में निवेश, प्रौद्योगिकी और सेवा का भी प्रवाह बढ़ेगा.

विदित हो की डीटीएए के तहत व्यापार में लाभ पर स्रोत वाले देश में ही कर लगाने का प्रावधान है यदि यह उपक्रम स्रोत वाले देश में ही स्थाई रूप से स्थित है.

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS