Search

भूतपूर्व सैनिकों के लिए एक रैंक,एक पेंशन योजना

एक रैंक एक पेंशन योजना : एक रैंक और समान अवधि तक राष्ट्र सेवा करने वाले भूतपूर्व सैनिकों के लिए एक समान पेंशन योजना

Jun 18, 2015 10:07 IST

एक रैंक, एक पेंशन योजना : एक रैंक और समान अवधि तक राष्ट्र सेवा करने वाले भूतपूर्व सैनिकों के लिए एक समान पेंशन योजना.
यह योजना 16 जून 2015 को उस समय चर्चा में आई जब आगामी चुनाव को देखते हुए बिहार विधान सभा में इसकी पुनः चर्चा की गयी.
एक ही रैंक और समान सेवा अवधि वाले भूतपूर्व सैनिकों को उनके सेवानिवृति की समय सीमा पर विचार नहीं करते हुए समान पेंशन देने की योजना 2014 में बनायीं गयी थी लेकिन कुछ तकनीकी कारणों से इसे अभी तक लागू नहीं किया जा सका है.
इस योजना के तहत 1995 में सेवानिवृत होने वाला सैनिक भी उतना ही पेंशन प्राप्त करेगा जितना कि 1996 में सेवानिवृत सैनिक. इस योजना से 2006 से पूर्व सेवानिवृत हुए सैनिक पूर्णतः लभान्वित होंगें.
गौरतलब है कि 2006 से पूर्व सेवानिवृत हुए सैनिक अपने कनिष्ठ सैनिकों की अपेक्षा कम पेंशन प्राप्त करते हैं.
इस योजना से तीनों सेवाओं वायु सेना, नौसेना और थल सेना सभी को लाभ होगा.राजग सरकार ने 2015 के बजट में इस योजना के लिए 1000 करोड़ रुपये आवंटित किए.

एक रैंक, एक पेंशन योजन के लागू होने में व्यवधान के मुख्य कारण


वित्तीय, प्रशासनिक और कानूनी बाधाओं का हवाला देते हुए रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों द्वारा इसका विरोध किया जाना.
2011 में रक्षा मंत्रालय के भूतपूर्व सैनिक कल्याण विभाग ने संसदीय समिति से कहा कि यह  योजना व्यावहारिक इसलिए नहीं है क्यों कि भूतपूर्व सैनिकों के दस्तावेज 25 साल के बाद हटा दिए जाते हैं जो कि सच नहीं है.
वस्तुतः सैनिकों के पद पर कार्यरत व्यक्तियों से सम्बंधित जानकारी जैसे पेंशन,पेंशन भुगतान,आदेश,सेवा कि अवधि आदि सभी का विवरण प्रत्येक पेंशनर के जीवन काल के दौरान सेना के लिए विनियम 592 के तहत रोल नामक एक दस्तावेज में रखा जाता.

Now get latest Current Affairs on mobile, Download # 1  Current Affairs App