Search

यदुवीर कृष्णदत्त की मैसूर के 27वें महाराजा के रूप में ताजपोशी

यदुवीर कृष्णदत्त वॉडेयार की 28 मई 2015 को मैसूर के राजघराने के 27वें महाराजा के रूप में ताजपोशी की गयी

May 30, 2015 15:25 IST

यदुवीर कृष्णदत्त वॉडेयार की 28 मई 2015 को मैसूर के राजघराने के 27वें महाराजा के रूप में ताजपोशी की गयी.

23 वर्षीय यदुवीर कृष्णदत्त वॉडेयार ने अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ मेसाचुसेट्स से इंग्लिश और इकोनोमिक्स में स्नातक डिग्री प्राप्त की है.

उन्होंने श्रीकांतदत्त नरसिंहराज वॉडेयार के स्थान पर यह पद ग्रहण किया है, उनका दिसंबर 2013 में निधन हो गया था. श्रीकांतदत्त की कोई संतान नहीं थी लेकिन उनकी पत्नी प्रमोद देवी वॉडेयार ने यदुवीर को गोद लिया था.


यदुवीर की ताजपोशी का कार्यक्रम लगभग 118 मिनट तक चला, इस दौरान मैसूर महल में स्थित 15 मंदिरों में कुल 40 पुजारियों ने पूजा-अर्चना की.

इस समारोह में देश-विदेश से आए क़रीब 1,000 अतिथि मौजूद थे. इसमें पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा और कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया भी मौजूद थे.

इससे पहले महल में 41 वर्ष पूर्व ताजपोशी हुई थी जब श्रीकांतदत्त नरसिंहराज वॉडेयार का 21 वर्ष की आयु में राजतिलक किया गया था.


वॉडेयार राजवंश

वॉडेयार राजवंश ने मैसूर पर वर्ष 1399 से 1947 तक शासन किया. अंतिम शासक जयचमराजेंद्र वॉडेयार ने 1940 से 1947 तक तक शासन किया किन्तु वर्ष 1950 में भारत को गणराज्य का दर्जा मिलने तक उन्होंने महाराजा के पद पर शासन किया.

Now get latest Current Affairs on mobile, Download # 1  Current Affairs App