यूरोपीय संघ ने भारत को 20 करोड़ यूरो का ऋण देने का निर्णय लिया

International/World Current Affairs 2011. यूरोपीय संघ (ईयू) ने भारत को अक्षय ऊर्जा संसाधनों के विकास के लिए निजी क्षेत्र की परियोजनाओं को 20 करोड़ यूरो (1340 करोड़ रुपए) का ऋण देने का...

Created On: Aug 31, 2011 19:40 ISTModified On: Aug 31, 2011 19:48 IST

यूरोपीय संघ (ईयू) ने भारत को अक्षय ऊर्जा संसाधनों के विकास के लिए निजी क्षेत्र की परियोजनाओं को 20 करोड़ यूरो (1340 करोड़ रुपए) का ऋण देने का निर्णय लिया. ऋण की यह राशि यूरोपीय निवेश बैंक (ईआइबी) द्वारा आइसीआइसीआइ बैंक के माध्यम से दिया जाना है. दोनों वित्तीय संस्थानों के बीच इस तरह का यह पहला संपर्क है. इसका उद्देश्य ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन में कमी लाने के भारत के प्रयास में मदद देना है. इसके तहत विभिन्न निजी कंपनियों की बिजली परियोजनाओं खासकर सौर ऊर्जा, बायोमास और पवन ऊर्जा परियोजनाओं का वित्त पोषण किया जाना है.
 
यह कर्ज ईआइबी के एनर्जी सस्टेनबिलिटी एंड सिक्योरिटी ऑफ सप्लाई फैसेलिटी (ईएसएफ) के तहत उपलब्ध कराया जा रहा है. ईआइबी के 4.5 अरब डॉलर के इस कार्यक्रम को गैर-यूरोपीय देशों में अक्षय ऊर्जा और ऊर्जा दक्षता विकास को बढ़ावा देने के मकसद से तैयार किया गया है. ईएसएफ कार्यक्रम के तहत 27 सदस्यीय यूरोपीय संघ और भारत के बीच सहयोग का यह पहला मामला है.

ईआईबी के भारत के लिए कर्ज से यूरोपीय-संघ भारत रणनीति सहयोग को मजबूत बनाने में मदद मिलेगी. परियोजनाओं को मदद से क्षेत्र में अक्षय ऊर्जा साधनों के द्वारा ऊर्जा उत्पादन बढ़ेगा, आयातित ऊर्जा की लागत घटेगी तथा ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन में कटौती होगी.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

8 + 8 =
Post

Comments