Search

विश्व बैंक के अध्यक्ष बने डेविड माल्पास

डेविड माल्पास फिलहाल वित्त विभाग में अंतरराष्ट्रीय मामलों के उप मंत्री है. उनका कार्यकाल 09 अप्रैल 2019 से पांच साल के लिये होगा.

Apr 6, 2019 13:30 IST

अमेरिकी सरकार ने 05 अप्रैल 2019 को अमेरिकी वित्त विभाग के डेविड माल्पास को विश्व बैंक के 13वें अध्यक्ष के तौर पर चुना है. विश्व बैंक के कार्यकारी बोर्ड ने आम सहमति से डेविड माल्पास को विश्वबैंक के अध्यक्ष के रूप में चयन किया.

डेविड माल्पास फिलहाल वित्त विभाग में अंतरराष्ट्रीय मामलों के उप मंत्री है. उनका कार्यकाल 09 अप्रैल 2019 से पांच साल के लिये होगा. गौरतलब है कि सभी 13 अध्यक्ष अमेरिकी हैं. विश्वबैंक का अध्यक्ष अंतरराष्ट्रीय पुनर्निर्माण एवं विकास बैंक (आईबीआरडी) तथा अंतरराष्ट्रीय विकास संघ (आईडीए) के निदेशक मंडल के अध्यक्ष होते हैं.

जिम योंग किम

विश्व बैंक के अध्यक्ष जिम योंग किम ने हाल ही में अचानक इस्तीफा दे दिया था. वे एक दक्षिण कोरियन-अमेरिकन डॉक्टर एवं मानवविज्ञानी हैं. वे 01 जुलाई 2012 को विश्व बैंक के 12वें निदेशक बने थे. इससे पहले वे हार्वर्ड मेडिकल स्कूल में विश्व स्वास्थ्य और सामाजिक चिकित्सा विभाग में निदेशक पद पर कार्यरत थे. वे आइवी लीग इंस्टिट्यूशन के पहले एशियन-अमेरिकन निदेशक बने. वे वर्ष 2013 में फ़ोर्ब्स द्वारा विश्व के सबसे ताकतवर लोगों की सूची में 50वें स्थान पर रहे.

विश्व बैंक में जवाबदेही के मजबूत समर्थक:

मालपास विश्व बैंक में जवाबदेही के मजबूत समर्थक रहे हैं. अब विश्व बैंक के कार्यकारी निदेशकों के बोर्ड ने माल्पास को नए अध्यक्ष के तौर पर मंजूरी दे दी है. मालूम हो कि अमरीका विश्व बैंक का सबसे बड़ा शेयरधारक है और उसके पास 16 फीसदी वोटिंग अधिकार है.

डेविड माल्‍पास के बारे में

डेविड माल्पास साल 2016 में अमेरिका के राष्ट्रपति के चुनाव में ट्रंप के आर्थिक सलाहकार के रूप में काम किया था. उनका जन्म 8 मार्च 1956 को हुआ था. गौरतलब है कि ट्रंप द्वारा नामित मालपास इस पद के लिए अकेले दावेदार थे. डेविड माल्पास विश्व बैंक के प्रखर आलोचक भी रहे हैं.

माल्पास अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष और विश्व बैंक का कामकाज देखते हैं. प्रख्यात अर्थशास्त्री डेविड माल्पास के पास अर्थशास्त्र, वित्त, सरकार और विदेश नीति में 40 साल का अनुभव है. माल्पास ने पूर्व राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन और जॉर्ज एचडब्ल्यू बुश साथ भी काम किया है.

विश्व बैंक के बारे में जानकारी


विश्व बैंक संयुक्त राष्ट्र की विशिष्ट संस्था है. इसका मुख्य उद्देश्य सदस्य राष्ट्रों को पुनर्निमाण और विकास के कार्यों में आर्थिक सहायता देना है. विश्व बैंक समूह पांच अन्तरराष्ट्रीय संगठनों का एक ऐसा समूह है जो सदश्य देशों को वित्त और वित्तीय सलाह देता है. इसका मुख्यालय वॉशिंगटन, डी॰ सी॰ में है. विश्व बैंक और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की स्थापना एक साथ 1944 में ब्रेटन वुड्स सम्मेलन के दौरान हुई थी. उस समय इसका उद्देश्य द्वितीय विश्व युद्ध और विश्ववयापी आर्थिक मंदी से जूझ रहे देशों में आई आर्थिक मंदी से निपटना था. वर्तमान में 180 देश इस संस्थाथ के सदस्ये हैं विश्व बैंक के सदस्यी बनने के लिए देश को आईएमएफ का सदस्यइ होना भी जरूरी है. भारत को सबसे पहली बार विश्व बैंक द्वारा वर्ष 1948 में 64 बिलियन अमेरिकी डॉलर का ऋण दिया गया था.