विश्व बैंक ने हिमाचल प्रदेश से संबंधित सामाजिक समावेश और सतत विकास पर रिपोर्ट जारी की

विश्व बैंक ने हिमाचल प्रदेश से संबंधित सामाजिक समावेश और सतत विकास पर एक रिपोर्ट 28 जनवरी 2015 को जारी किया.

Created On: Jan 30, 2015 06:06 ISTModified On: Jan 30, 2015 18:31 IST

विश्व बैंक ने हिमाचल प्रदेश से संबंधित सामाजिक समावेश और सतत विकास पर एक रिपोर्ट 28 जनवरी 2015 को जारी किया. इस रिपोर्ट का नाम ‘स्केलिंग दि हाइट्सः सोशल इन्क्लूजन एंड सस्टेनेबल डेवेलपमेंट इन हिमाचल प्रदेश’ (Scaling the Heights: Social Inclusion and Sustainable Development in Himachal Pradesh) है.

रिपोर्ट से संबधित मुख्य तथ्य

  • प्रति व्यक्ति आय के मामले में हिमाचल प्रदेश देश भर में दूसरे स्थान पर.
  • हिमाचल प्रदेश महिला शिक्षा के मामले में देश के अग्रणी राज्यों में शामिल.
  • हिमाचल प्रदेश का महिला कार्यबल के मामलों में देश के अग्रणी राज्यों में बेहतर स्थिति है, सिक्किम के बाद यह भारत का दूसरा सबसे बड़ा महिला कार्यबल वाला राज्य है. ग्रामीण क्षेत्र की 60 प्रतिशत महिलायें एवं शहरी क्षेत्र की 25 प्रतिशत  महिलायें कार्यबल में शामिल हैं, जिनका औसत भारत की राष्ट्रीय महिला कार्यबल 27 प्रतिशत से अधिक है.
  • रिपोर्ट के अनुसार महिला सशक्तीकरण की दिशा में भी यहां उल्लेखनीय कार्य हुआ है और यहां ग्रामीण क्षेत्रों में 63 प्रतिशत महिलाएं स्वयं के रोजगार से युक्त हैं जो 27 प्रतिशत की अखिल भारतीय औसत की तुलना में काफी अच्छी स्थिति है.
  • रिपोर्ट के अनुसार शिक्षा, स्वास्थ्य, ग्रामीण विकास के दृष्टि से हिमाचल अन्य राज्यों से बेहतर है. यहाँ की 90 प्रतिशत आबादी गावों में निवास करती है.
  • हिमाचल प्रदेश प्लास्टिक बैग पर पूर्ण रूप से पाबंदी लगाने वाला भारत का पहला राज्य.
  • हिमाचल प्रदेश उत्तर भारत में खुले में शौच से मुक्त पहला राज्य है.
  • हिमाचल प्रदेश के गरीबी का औसत, गरीबी के राष्ट्रीय औसत का मात्र 1/3 भाग है. मात्र 8.5 प्रतिशत लोग गरीबी रेखा के नीचे (वर्ष 2011) हैं जो की वर्ष 1993-94 में 36.8 था.
  • रिपोर्ट के अनुसार हिमाचल प्रदेश अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के माध्यमिक शिक्षा एवं उच्चतर माध्यमिक शिक्षा के मामले में तुलनात्मक रूप से कर्नाटक एवं तमिलनाडु से बेहतर स्थिति में है.
  • बेहतरीन स्वास्थ्य सुविधाओं के नतीजतन अन्य राज्यों की तुलना में यहां के लोग 3.4 वर्ष की ज्यादा आयु जी रहे हैं.
  • रिपोर्ट में बताया गया है कि हिमाचल प्रदेश ने आर्थिक उन्नति के साथ सामाजिक समावेश का प्रभावी संतुलन किया है.
  • हिमाचल प्रदेश पर्यावरण चेतना की भावना के प्रदर्शन में कई अन्य राज्यों से आगे है.
  • प्रदेश में भू-सुधारों से भूमि के संबंध में असमानता को कम किया है, जिससे सामाजिक समावेश को बढ़ावा मिला.
  • रिपोर्ट के अनुसार, मानव विकास परिणामों में हिमाचल ग्रामीण क्षेत्र में शहरी क्षेत्रों से आगे है.

 

 

 

 

 

 

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

9 + 7 =
Post

Comments