Search

संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम के प्रमुख एरिक सोलहेम ने दिया इस्तीफा

न्यूयार्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक संयुक्त राष्ट्र के आंतरिक निगरानी सेवा कार्यालय द्वारा आधिकारिक यात्राओं की जांच में खर्चीले विमान यात्रा मार्ग, ज्यादा महंगी एयरलाइंस के चुनाव जैसी खामियां सामने आई थीं.

Nov 22, 2018 15:42 IST

संयुक्त राष्ट्र के पर्यावरण कार्यक्रम (यूएनईपी) के प्रमुख एरिक सोलहेम ने 20 नवम्बर 2018 को यात्रा पर काफी समय व धन खर्च करने के लगातार लगते आरोपों के बीच अपने पद से इस्तीफा दे दिया है.

एरिक सोलहेम ने यात्रा के दौरान काफी अधिक खर्च करने के आरोपों के बाद संयुक्त राष्ट्र (यूएन) महासचिव एंटोनियो गुटेरेस को अपना इस्तीफा सौंपा है. एंटोनियो गुटेरेस ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है.

न्यूयार्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक संयुक्त राष्ट्र के आंतरिक निगरानी सेवा कार्यालय द्वारा आधिकारिक यात्राओं की जांच में खर्चीले विमान यात्रा मार्ग, ज्यादा महंगी एयरलाइंस के चुनाव जैसी खामियां सामने आई थीं.

यात्रा पर खर्च:

संयुक्त राष्ट्र के एक जांच में पाया गया कि एरिक सोलहेम ने अपनी यात्रा पर लगभग करीब 5,00,000 अमेरिकी डॉलर (लगभग 3.56 करोड़ रुपए) खर्च किए. वे भी ऐसे समय में जब संस्था बजट कम करने के लिए संघर्ष कर रही है. यह रिपोर्ट संयुक्त राष्ट्र के ‘इंटरनल ओवरसाइट सर्विसेज’ (ओआईओएस) के कार्यालय द्वारा तैयार की गई थी.

                            एरिक सोलहेम:

एरिक सोलहेम का जन्म 18 जनवरी 1955 को हुआ था. एरिक सोलहेम ने जून 2016 में यूएनईपी के प्रमुख पद संभाला था. एरिक सोलहेम ने काफी विचार करने और महासचिव के साथ परामर्श के बाद इस्तीफा देने का फैसला किया.

जानकारी के मुताबिक आगामी 22 नवम्बर 2018 को एरिक सोलहेम का यूएनईपी प्रमुख के रूप में आखिरी दिन होगा. उनकी जगह यूएनईपी के डिप्टी निदेशक जॉयस मसूया अंतरिम निदेशक के रूप में पद संभालेंगी.

उन्होंने अपना 79 फीसदी समय नैरोबी स्थित यूएनईपी मुख्यालय को छोड़कर अन्य जगहों पर बिताया. प्रवक्ता स्टीफन डुजारिक ने कहा कि महासचिव ने सोलहेम की सेवाओं के लिए आभार जताया है और कहा कि वे प्लास्टिक प्रदूषण, जलवायु परिवर्तन, पर्यावरण संरक्षकों के अधिकार, जैवविविधता और पर्यावरण सुरक्षा सहित पर्यावरण संबंधी गंभीर चुनौतियों पर विश्व का ध्यान आकर्षित करने के लिए प्रमुख आवाज बने.

एरिक ने विज्ञान आधारित जलवायु लक्ष्यों को अपनाने वाली कंपनियों में व्यावसायिक मूल्य पर ध्यान दिया था.

एरिक सोलहेम ने प्लास्टिक से फैलने वाले प्रदूषण पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा था कि यह पर्यावरण के लिए सबसे बड़ा खतरा है और सभी देशों को पानी और पर्यावरण में मिलने वाले प्लास्टिक के कचरे से निपटने के लिए बेहतर अपशिष्ट प्रबंधन अपनाने की जरूरत है.

यह भी पढ़ें: फ्लिपकार्ट के सह-संस्थापक एवं सीईओ बिन्नी बंसल ने इस्तीफ़ा दिया