Search

सऊदी अरब ने ईरान के साथ राजनयिक संबंध समाप्त किये

शेख निम्र अल-निम्र एवं 46 अन्य लोगों को सऊदी अरब द्वारा 2 जनवरी 2016 को आतंक सम्बन्धी गतिविधियों में लिप्त पाए जाने पर फांसी की सज़ा दी गयी. उसके बाद यह निर्णय लिया गया.

Jan 4, 2016 12:15 IST

सऊदी अरब के विदेश मंत्री अबेल अल-जुबेर ने 3 जनवरी 2016 को ईरान के साथ सभी राजनयिक संबंध समाप्त करने की घोषणा की. यह घोषणा सऊदी अरब द्वारा एक शिया मुस्लिम को फांसी दिए जाने के बाद उत्पन्न हुए गतिरोध के उपरांत की गयी.

शेख निम्र अल-निम्र एवं 46 अन्य लोगों को सऊदी अरब द्वारा 2 जनवरी 2016 को आतंक सम्बन्धी गतिविधियों में लिप्त पाए जाने पर फांसी की सज़ा दी गयी. पिछले चार वर्षों में सऊदी अरब द्वारा सामूहिक रूप से इतने लोगों को पहली बार दी गयी सज़ा है.

यह घोषणा तेहरान स्थित सऊदी अरब दूतावास में हुए हमले एवं आग लगाये जाने की घटना के पश्चात् की गयी. इसके बाद सभी ईरानियों को सऊदी अरब से अगले 48 घंटे में निकल जाने के लिए कहा गया. सऊदी अरब ने तेहरान से अपने सभी राजदूतों को वापस बुला लिया है.

इससे पहले ईरान के सर्वोच्च नेता, अयातुल्लाह अली खौमेनी ने कहा था कि सऊदी अरब को इस बात का खामियाजा भुगतना पड़ेगा.

अनेक शिया बहुल राष्ट्र जैसे बहरीन एवं पाकिस्तान में भी निम्र अल-निम्र को फांसी की सज़ा दिए जाने का विरोध किया गया.

ईरान-सऊदी अरब संबंध

ईरान एवं सऊदी अरब के मध्य संबंध कभी मधुर नहीं रहे. ईरान शिया बहुल देश है जबकि सऊदी अरब में सुन्नी समुदाय का प्रभुत्व है. इसके अतिरिक्त दोनों ही देश पश्चिम एशिया क्षेत्र में बड़ी ताकत के रूप में उभरे हैं.

पिछले कुछ दशकों में ईरान और सऊदी अरब के बीच द्विपक्षीय संबंध तनावपूर्ण रहे हैं जिनमें विभिन्न भौगोलिक-राजनीतिक मुद्दे शामिल हैं, जैसे :

•    इस्लाम की व्याख्या
•    विश्व में इस्लाम समुदाय का नेतृत्व करने की महत्वकांक्षा
•    तेल निर्यात नीति
•    अमेरिका एवं पश्चिमी देशों से संबंध
•    ईरान का परमाणु कार्यक्रम
•    वर्ष 1987 एवं 2015 में ईरान से गये हज यात्रियों की मृत्यु

Now get latest Current Affairs on mobile, Download # 1  Current Affairs App