साहित्यकार राजेन्द्र यादव का नई दिल्ली में निधन

हिन्दी के साहित्यकार राजेन्द्र यादव का नई दिल्ली में 28 अक्टूबर 2013 को निधन हो गया.

राजेन्द्र यादवहिन्दी के साहित्यकार राजेन्द्र यादव का नई दिल्ली में 28 अक्टूबर 2013 को निधन हो गया. वह 84 वर्ष के थे.  राजेन्द्र यादव को हिन्दी साहित्य में ‘नई कहानी’ के दौर को गढ़ने वालों में से एक माना जाता है. उन्होंने कमलेश्वर और मोहन राकेश के साथ नई कहानी आंदोलन की शुरुआत की. उपन्यास, कहानी, कविता और आलोचना सहित साहित्य की तमाम विधाओं पर उनकी समान पकड़ थी.

राजेन्द्र यादव ने वर्ष 1986 में हंस पत्रिका का संपादन किया. हंस पत्रिका को वर्ष 1930 में हिन्दी के उपन्यासकार मुंशी प्रेमचंद ने शुरू किया था, लेकिन 1953 में यह बंद हो गई थी, जिसे राजेन्द्र यादव ने 1986 में लॉन्च किया.
 
राजेन्द्र यादव से सम्बंधित मुख्य तथ्य  
• राजेन्द्र यादव का जन्म उत्तर प्रदेश के आगरा शहर में 28 अगस्त 1929 को हुआ था.
•राजेन्द्र यादव का पहला उपन्यास ’प्रेत बोलते हैं’ वर्ष 1951 में प्रकाशित हुआ.
• इसके बाद उनका बहुचर्चित उपन्यास ‘सारा आकाश’ वर्ष 1960 में प्रकाशित हुआ. इस उपन्यास पर वर्ष 1969 में बासु भट्टाचार्य ने 'सारा आकाश' फिल्म बनाई.
• इसके अलावा उन्होंने 'उखड़े हुए लोग', 'कुल्टा', 'शह और मात' नामक उपन्यास लिखा. इसके अलावा उन्होंने कई कहानी संग्रहों का संपादन भी किया.
• इन्होंने चेखव तुर्ग नेव सहित कई रूसी साहित्यकारों की कहानियों का हिन्दी में अनुवाद किया.
• राजेन्द्र यादव ने अपनी पत्नी मन्नू भंडारी के साथ मिलकर 'एक इंच मुस्कान' नाम का उपन्यास लिखा, जो काफी मशहूर हुआ.
• वर्ष 1986 से राजेन्द्र यादव हंस पत्रिका का संपादन कर रहे थे. हंस पत्रिका को वर्ष 1930 में हिन्दी के उपन्यासकार मुंशी प्रेमचंद ने शुरू किया था, लेकिन 1953 में यह बंद हो गई, जिसे राजेन्द्र यादव ने 1986 में लॉन्च किया.
• वर्ष 1999 से लेकर 2001 तक वह प्रसार भारती के सदस्य रहे.

उपन्यास
• “प्रेत बोलते हैं” प्रगति प्रकाशन दिल्ली 1951
• "सारा आकाश" वर्ष 1960 में प्रकाशित
• “उखड़े हुए लोग”, राजकमल दिल्ली 1956
• “कुल्टा मसीजीवी” प्रकाशन इलाहाबाद 1958
• “सह और मात” ज्ञानपीठ दिल्ली 1959
• “अनदेखा अनजान पल” राजपाल दिल्ली 1963
• “एक इंच मुस्कान” मनु भंडारी के साथ, राजपाल 1963

कथा संग्रह
• “देवताओं की मृत्यु”, आलोक प्रकाशन, बीकानेर, 1951
• “खेल खिलौने”, ज्ञानपीठ, दिल्ली, 1953
• “जहाँ लक्ष्मी कैद है”, राजकमल, दिल्ली, 1957
• “छोटे-छोटे ताजमहल” राजपाल, दिल्ली, 1961
• “किनारे से किनारे तक”, राजपाल, दिल्ली, 1962
• “वहाँ तक पहुँचने की दौड़”, राधाकृष्ण, दिल्ली

कविता
• “आवाज तेरी है”, ज्ञानपीठ, दिल्ली, 1960

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Read the latest Current Affairs updates and download the Monthly Current Affairs PDF for UPSC, SSC, Banking and all Govt & State level Competitive exams here.
Jagran Play
खेलें हर किस्म के रोमांच से भरपूर गेम्स सिर्फ़ जागरण प्ले पर
Jagran PlayJagran PlayJagran PlayJagran Play