Search

हिमाचल प्रदेश में कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए ‘अजन्मी बेटी के लिए दौड़’ प्रतियोगिता का आयोजन

मानव अधिकार और न्याय फोरम (शिमला) द्वारा 27 मई 2015 को अजन्मी लड़की की रक्षा के लिए अजन्मी बेटी के लिए दौड़ नाम से एक मैराथन का आयोजन किया गया.

May 30, 2015 10:01 IST

मानव अधिकार और न्याय फोरम (शिमला) द्वारा 27 मई 2015 को अजन्मी लड़की की रक्षा के लिए अजन्मी बेटी के लिए दौड़ नाम से एक मैराथन का आयोजन किया गया. उपरोक्त मैराथन का उद्देश्य बालिकाओं को बचाने और पहाड़ी राज्य में गिरते लिंगानुपात को नियंत्रित करना था.

हिमाचल प्रदेश लिंगानुपात  के मामले में निम्नतम  स्तर पर है और दस सबसे खराब लिंगानुपात वाले राज्यों में से एक है. यहाँ 1000 के सापेक्ष 906 महिलाओ का लिंगानुपात है.

900 से कम लिंगानुपात के क्रम में हिमाचल के जिले क्रमशः हैं -ऊना (875), कांगड़ा (876), हमीरपुर (887), सोलन (899) और बिलासपुर (900).

हिमाचल प्रदेश के 900 से अधिक लिंगानुपात वाले जिले- (916), शिमला (925), सिरमौर (928) चंबा (953), कुल्लू (962), ऊना (963) हैं. केवल लाहौल स्पीति 1033 के लिंगानुपा के साथ शीर्ष पर है.