कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने मधुकांति पोर्टल किया लॉन्च

मधुक्रांति पोर्टल को ऑनलाइन पंजीकरण के लिए निर्मित किया गया है ताकि डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म पर शहद के ट्रेसेबिलिटी स्रोत के साथ-साथ अन्य मधुमक्खी उत्पादों को प्राप्त किया जा सके.

Created On: Apr 9, 2021 17:22 ISTModified On: Apr 9, 2021 17:23 IST

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने 07 अप्रैल, 2021 को देश में शहद मिशन को बढ़ावा देने के लिए मधुक्रांति पोर्टल और NAFED के हनी कॉर्नर का शुभारंभ किया है.

एक आधिकारिक बयान के अनुसार, यह मधुक्रांति पोर्टल राष्ट्रीय मधुमक्खी पालन और हनी मिशन के तहत राष्ट्रीय मधुमक्खी बोर्ड की एक पहल है. जबकि शहद की बिक्री के लिए नेशनल एग्रीकल्चरल कोऑपरेटिव मार्केटिंग फेडरेशन (NAFED) का हनी कॉर्नर विशेष स्थान हैं.

उद्देश्य

इस मधुक्रांति पोर्टल को ऑनलाइन पंजीकरण के लिए निर्मित किया गया है ताकि डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म पर शहद के ट्रेसेबिलिटी स्रोत के साथ-साथ अन्य मधुमक्खी उत्पादों को प्राप्त किया जा सके. यह शहद की गुणवत्ता और मिलावट के स्रोत की जांच करने में भी मदद करेगा.

मधुक्रांति पोर्टल का महत्व क्या होगा?

इस लॉन्चिंग समारोह को संबोधित करते हुए, केंद्रीय मंत्री ने यह कहा कि, यह शहद मिशन किसानों की आय बढ़ाने, निर्यात और रोजगार सृजन को बढ़ाने में मदद करेगा.

मधुक्रांति पोर्टल पर आवश्यक कार्यक्षमताओं का विकास किया जा रहा है ताकि उन सभी हितधारकों का डाटाबेस बनाया जा सके जो शहद के साथ-साथ अन्य मधुमक्खी उत्पादन, विपणन श्रृंखला और बिक्री में भी शामिल हैं.

मधुमक्खी पालकों के ऑनलाइन पंजीकरण का शुभारंभ

07 अप्रैल को इस पहले चरण में मधुमक्खी पालकों का ऑनलाइन पंजीकरण भी शुरू किया गया. इसके बाद इस व्यापार में शामिल अन्य हितधारकों ने भी अपना पंजीकरण करवाया.

हनी कॉर्नर्स का विकास

• किसान उत्पादक संगठनों को विपणन में सहायता प्रदान करने के लिए NAFED ने 14-15 हनी कॉर्नर्स भी निर्मित किए हैं और 05 NAFED हरेक बाजार में एक हनी कार्नर है.
• फेडरेशन द्वारा आगामी 200 प्रमुख NAFED स्टोरों में भी अधिक हनी कॉर्नर्स निर्मित किए जाएंगे जो शहद के लिए बाजार समर्थन को बढ़ावा देंगे.
• FPOs द्वारा आपूर्ति किए जाने वाले शहद के विपणन को बढ़ावा देने के लिए एक मंच प्रदान करने के लिए ऑनलाइन विपणन विकल्पों की भी खोज की जाएगी.

राष्ट्रीय मधुमक्खी पालन और हनी मिशन योजना के बारे में और जानकारी

राष्ट्रीय मधुमक्खी पालन और हनी मिशन (NBHM) योजना एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना है जिसे सरकार द्वारा आत्मनिर्भर भारत पहल के तहत 500 करोड़ रुपये आवंटित किये गये हैं.

मधुमक्खी पालन के महत्व के साथ ही वैज्ञानिक मधुमक्खी पालन के समग्र विकास और संवर्धन और ’मीठी क्रांति’ के लक्ष्य हासिल करने के लिए इस योजना की शुरुआत की गई थी.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

0 + 8 =
Post

Comments