बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ग्लोबल वीमेन्स लीडरशिप अवार्ड हेतु चयनित

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना को बांग्लादेश में लैंगिक समानता सुनिश्चित करने के लिए किये जा रहे कार्यों के मद्देनजर यह प्रतिष्ठित पुरस्कार दिया जा रहा है.

Apr 25, 2018 10:50 IST
शेख हसीना

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना को आस्ट्रेलिया में 27 अप्रैल को प्रतिष्ठित ग्लोबल वीमेन्स लीडरशिप अवार्ड से सम्मानित किया जायेगा. शेख हसीना 26 से 28 अप्रैल तक आस्ट्रेलिया के दौरे पर जायेंगी.

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना को बांग्लादेश में लैंगिक समानता सुनिश्चित करने के लिए किये जा रहे कार्यों के मद्देनजर यह प्रतिष्ठित पुरस्कार दिया जा रहा है तथा 2018 ग्लोबल समिट आफ वीमेन में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया है.

शेख हसीना को यह अवार्ड क्यों?


•    शेख हसीना को बांग्लादेश में महिलाओं की शिक्षा और उद्यमिता के लिए किये जा रहे प्रयासों के लिए सम्मानित किया जायेगा.

•    यह सम्मान शेख हसीना के महिलाओं की बेहतरी के लिए हमेशा कार्य करते रहने के मद्देनजर दिया जा रहा है.

•    शेख हसीना द्वारा जारी योजनाओं ने बांग्लादेश में आर्थिक रूप से कमजोर महिलाओं को शिक्षा एवं उद्यमिता के अवसर प्रदान किये.

•    वर्ष 2017 में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे को यह सम्मान प्रदान किया गया था.

•    यह सम्मान पाने वालों में संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून और यूनेस्को के पूर्व महासचिव इरिना बोकोवा शामिल हैं.

शेख हसीना 27 अप्रैल को सम्मान प्राप्त करने के बाद महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए किये जा रहे अपने प्रयासों और राष्ट्र के विकास में उनकी भागीदारी का उल्लेख करेंगी. उनके इस दौरे में ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री से 28 अप्रैल को द्विपक्षीय वार्ता भी शामिल होगी.

 

यह भी पढ़ें: एस जयशंकर ने टाटा समूह में बतौर ग्लोबल ऑफिसर ज्वाइन किया

 

ग्लोबल वीमेन्स लीडरशिप सम्मलेन के उद्देश्य

•    आर्थिक विकास एवं सामाजिक समावेश के मध्य समन्वय स्थापित करना.

•    महिलाओं के उद्यमों के लिए वैश्विक बाजार की स्थापना करना तथा नये अवसरों की तलाश करना.

•    भविष्य में विकास के लिए उर्जा स्रोतों की खोज करना.

•    स्टेम (STEM) एजुकेशन डिजिटल तकनीक तक महिलाओं की पहुंच सुनिश्चित करना.

•    सीमित प्राकृतिक स्रोतों को संरक्षित एवं सुरक्षित रखना.

•    ऐसे संगठनों का निर्माण करना जहां लैंगिक भेदभाव के बिना लोगों को लीडरशिप क्वालिटी के लिए तैयार किया जा सके.

 

 

Loading...