Search

भारत रत्न 2019: प्रणब मुखर्जी, नानाजी देशमुख एवं भूपेन हज़ारिका सम्मानित

इस वर्ष गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर प्रणब मुखर्जी, नानाजी देशमुख एवं भूपेन हज़ारिका को भारत रत्न देने की घोषणा की गई थी.

Aug 9, 2019 10:40 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

Bharat Ratna 2019: पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, जनसंघ के नेता नाना जी देशमुख एवं प्रसिद्ध गायक भूपेन हज़ारिका को 08 अगस्त 2019 को भारत रत्न से सम्मानित किया गया. वर्ष 2019 के लिए भारत रत्न सम्मान की घोषणा गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर 25 जनवरी को की गई थी.

प्रणब मुखर्जी के बारे में जानकारी
• प्रणब मुखर्जी भारत के पूर्व राष्ट्रपति एवं वरिष्ठ राजनेता रहे हैं. उनका जन्म 11 दिसम्बर 1935 को पश्चिम बंगाल के बीरभूम ज़िले में हुआ था.
• वे वर्ष 1969 में जब पहली बार राज्यसभा सांसद बनकर आये तो वहीं से उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की थी.
• जब वे 35 वर्ष के थे उस समय तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने उन्हें राज्यसभा का सदस्य मनोनीत किया.
• वे 1975, 1981, 1993 और 1999 में राज्यसभा के लिए निर्वाचित हुए. वर्ष 1974 में केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री बने.
• राष्ट्रपति बनने से पहले आठ बार वे कैबिनेट मंत्री रहे. उन्होंने इस दौरान वित्त, विदेश, रक्षा और वाणिज्य जैसे मंत्रालय की जिम्मेदारी संभाली.
• प्रणब मुखर्जी 25 जुलाई 2012 से 25 जुलाई 2017 तक राष्ट्रपति पद पर रहे.

नानाजी देशमुख के बारे में जानकारी
• नानाजी देशमुख भारत के वरिष्ठ और प्रसिद्ध समाजसेवी थे उनका जन्म 11 अक्टूबर 1916 को हुआ था.
• नानाजी ने पिलानी के बिरला इंस्टीट्यूट से उच्च शिक्षा प्राप्त की थी इसके उपरांत वे वर्ष 1930 के दशक में आरएसएस में शामिल हो गये थे.
• वे लंबे समय से जनसंघ से जुड़े हुए थे उन्होंने वर्ष 1977 में जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद भी मंत्री पद स्वीकार नहीं किया और जीवनभर दीनदयाल शोध संस्थान के अंतर्गत चलने वाले विविध प्रकल्पों के विस्तार के लिए कार्य करते रहे.
• पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी सरकार द्वारा उन्हें राज्यसभा का सदस्य मनोनीत किया गया था. इसके अतिरिक्त उन्हें भारत सरकार द्वारा शिक्षा, स्वास्थ्य व ग्रामीण स्वालंबन के क्षेत्र में अनुकरणीय योगदान के लिए पद्म विभूषण भी प्रदान किया गया था.
• 27 फरवरी 2010 को चित्रकूट में उनका निधन हो गया था.

भूपेन हज़ारिका के बारे में जानकारी
• भूपेन हज़ारिका भारत के प्रसिद्ध गायक हैं उन्होंने मात्र 10 वर्ष की आयु में अपना पहला गाना रिकॉर्ड किया था.
• भूपेन ने 13 वर्ष की आयु में पहला गाना लिखा था जबकि उन्होंने ज्योतिप्रसाद की फिल्म 'इंद्रमालती' में दो गाने गाए थे.
• उन्होंने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर डिग्री हासिल की थी जबकि इससे पहले 1942 में उन्होंने कला विषयों में इंटर की पढ़ाई पूरी की थी.
• संगीत के क्षेत्र में उनके अविस्मरणीय योगदान के लिए उन्हें 1975 में राष्ट्रीय पुरस्कार और 1992 में सिनेमा जगत के सर्वोच्च पुरस्कार दादा साहब फाल्के सम्मान से सम्मानित किया गया.
• उन्होंने 'रुदाली', 'मिल गई मंजिल मुझे', 'साज', 'दरमियां', 'गजगामिनी', 'दमन' और 'क्यों' जैसी सुपरहिट फिल्मों में गीत दिए. हज़ारिका ने अपने जीवन में एक हजार गाने और 15 किताबें लिखीं.

भारत रत्न के बारे में जानकारी
• भारत रत्न भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है. यह सम्मान राष्ट्रीय सेवा के लिए दिया जाता है.
• इन सेवाओं में कला, साहित्य, विज्ञान, सार्वजनिक सेवा और खेल शामिल है.
• भारत रत्न की स्थापना 2 जनवरी 1954 में भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद द्वारा की गई थी.
• पहला भारत रत्न डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन को दिया गया था.

यह भी पढ़ें: राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों के लिए एक 12 सदस्यीय पैनल गठित, मैरी कॉम, बाइचुंग भूटिया भी शामिल

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS