Search

चीन के सिचुआन प्रांत में भूकंप के तेज झटके, 6.0 रिक्टर का भूकंप

आपातकालीन प्रबंधन मंत्रालय और आपातकालीन प्रबंधन के प्रांतीय विभाग ने राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया है. सिचुआन प्रांत में दमकल विभाग की करीब 63 गाड़ियां और लगभग 302 बचावकर्मी मौके पर तैनात हैं.

Jun 18, 2019 13:34 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

चीन के सिचुआन प्रांत में 17 जून 2019 को रात में और 18 जून 2019 को सुबह भूकंप के तेज झटके आये. रिपोर्ट्स के अनुसार, इस झटके में लगभग 11 लोगों की जान चली गई और करीब 122 लोग घायल हो गये.

चीनी भूकंप केंद्र (सीईएनसी) के अनुसार रिक्टर पैमाने पर 6.0 की तीव्रता का पहला भूकंप 17 जून 2019 (सोमवार रात) को ईबिन शहर के चांगिंग इलाके में आया था. 18 जून 2019 (मंगलवार सुबह) को रिक्टर पैमाने पर 5.3 की तीव्रता का दूसरा झटका महसूस किया गया.

भूकंप का केंद्र

सीईएनसी के अनुसार, भूकंप का केंद्र 28.34 डिग्री उत्तरी अक्षांश और 104.90 डिग्री पूर्वी देशांतर में सतह से 16 किलोमीटर अंदर दर्ज किया गया.

सरकार द्वारा राहत एवं बचाव कार्य शुरू

आपातकालीन प्रबंधन मंत्रालय और आपातकालीन प्रबंधन के प्रांतीय विभाग ने राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया है. सिचुआन प्रांत में दमकल विभाग की करीब 63 गाड़ियां और लगभग 302 बचावकर्मी मौके पर तैनात हैं. वहीं ईबिन में भी स्थानीय दमकल विभाग ने बचाव कार्य के लिए अपने दल भेजे हैं.

भूकंप से प्रभावित क्षेत्रों में बचावकर्मियों को शुरुआती तौर पर 5000 तंबुओं और 10,000 फोल्डिंग चारपाई के साथ विभिन्न इलाकों में भेजा गया है. इसी इलाके में साल 2008 में 7.9 तीव्रता के भूकंप में करीब 87,000 लोगों की जान गई थी या वे लापता हो गए थे.

आर्टिकल अच्छा लगा? तो वीडियो भी जरुर देखें!

भूकंप आने पर क्‍या करें, क्या न करें

   भूकंप आने पर फौरन घर, स्कूल या दफ़्तर से निकलकर खुले मैदान में जाएं. बड़ी बिल्डिंग्स, पेड़ों, बिजली के खंबों आदि से दूर रहें. बाहर जाने के लिए लिफ्ट की बजाय सीढ़ियों का इस्तेमाल करें.

   भूकंप आने पर खिड़की, अलमारी, पंखे, ऊपर रखे भारी सामान से दूर हट जाएं ताकि इनके गिरने और शीशे टूटने से चोट न लगे.अगर आप बाहर नहीं निकल पा रहे है तो टेबल, बेड, डेस्क जैसे मजबूत फर्नीचर के नीचे घुस जाएं और उसके पैर कसकर पकड़ लें ताकि झटकों से वह खिसके नहीं.

   गाड़ी में हैं तो बिल्डिंग, होर्डिंग्स, खंबों, फ्लाईओवर, पुल आदि से दूर सड़क के किनारे या खुले में गाड़ी रोक लें तथा भूकंप रुकने तक इंतजार करें.

प्रांतीय राजधानी चेंगडू में पूर्व चेतावनी प्रणाली ने भूकंप से लगभग एक मिनट पहले ही अलार्म बजाना शुरू कर दिया था. जब करीब एक मिनट की उलटी गिनती खत्म हुई तो भूकंप के तेज झटके महसूस हुए. भूकंप आने के बाद आधे घंटे तक उन्हें भूकंप के हल्के झटके महसूस होते रहे हैं.

यह भी पढ़ें: मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद मुर्सी का अदालत में सुनवाई के दौरान निधन, जाने विस्तार से

For Latest Current Affairs & GK, Click here

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS