टीकाकरण के बाद COVID-19 का टेस्ट करवाना चाहिए या नहीं...पढ़ें यहां   

विशेषज्ञों का अनुमान है कि कई वायरस और सामान्य सर्दी COVID-19 के लक्षणों से मिलते जुलते हो सकते हैं, जिससे पतझड़ के मौसम में परीक्षण में अनावश्यक वृद्धि होती है. इस आर्टिकल को पढ़कर यह जानिए कि पूरी तरह से टीकाकरण के बाद भी आपको कब परीक्षण करवाना चाहिए.

Created On: Jun 5, 2021 13:56 ISTModified On: Jun 5, 2021 13:59 IST

यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन द्वारा जारी किए गए नवीनतम दिशा-निर्देशों में यह कहा गया है कि, अगर किसी का टीकाकरण पूरा हो गया है, तो ऐसे किसी भी व्यक्ति को, एक COVID ​​​​-19 संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने के बावजूद भी, COVID टेस्ट या संगरोध (क्वारेंटाइन) या अलगाव की आवश्यकता नहीं है.

CDS के अनुसार, एक व्यक्ति को एक टीके का पूरा कोर्स पूरा होने के बाद, पूरी तरह से उसका टीकाकरण माना जाता है, चाहे फिर वह कोई एक-खुराक वाला या दो-खुराक वाला टीका हो.

क्या आपका टीकाकरण कोर्स पूरा होने के बावजूद आपको COVID-19 का टेस्ट करवाने की आवश्यकता है?

• बुखार, थकान और खांसी जैसे COVID-19 लक्षणों का अनुभव होने की स्थिति में पूरी तरह से टीकाकरण के बाद भी, संबद्ध व्यक्ति को अपना COVID-19 टेस्ट करवाना चाहिए.
• हालांकि अद्यतन दिशा-निर्देश और हाल के अध्ययनों से यह पता चलता है कि, पूरी तरह से टीकाकरण करवा चुके लोगों में गंभीर COVID-19 संक्रमण का जोखिम विकसित होने की संभावना कम होती है. लेकिन, इस संक्रमण के मामूली स्तर होने की संभावना बनी रहती है. हालांकि, पूरी तरह से अपना टीकाकरण करवा चुके लोगों से दूसरों को बीमारी फैलाने की संभावना कम होती है.
• इसलिए, यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन का यह कहना है कि, पूरी तरह से टीका लगवा चुके लोगों को नियमित कार्यस्थल स्क्रीनिंग से बाहर रखा जाए.
• ये अपडेट किए गए दिशानिर्देश ऐसे डॉक्टरों, नर्सों या अन्य स्वास्थ्य कर्मियों पर लागू नहीं होते हैं, जिनके नियोक्ताओं को अभी भी COVID टेस्ट की आवश्यकता हो सकती है. ये मार्गदर्शन नियम हर देश के लिए अलग हो सकते हैं.
• टीकाकरण कवर में वृद्धि के साथ, स्वास्थ्य विशेषज्ञ CDS से COVID-19 दिशानिर्देशों में ढील देने की उम्मीद कर रहे हैं, यहां तक कि ऐसे लोगों के लिए भी, जो अपना टीकाकरण पूरी तरह से करवा चुके हैं लेकिन, उनमें COVID-19 जैसे कुछ लक्षण दिख रहे हैं. विशेषज्ञों का ऐसा अनुमान है कि, कई वायरस और सामान्य सर्दी COVID-19 के लक्षणों से मिलते जुलते हो सकते हैं, जिससे पतझड़ के मौसम में ऐसे परीक्षणों में अनावश्यक वृद्धि हो सकती है.

विदेश यात्रा के मामले में

  • हालांकि कुछ मामलों में जैसेकि विदेश से लौटने वाले अमेरिकी नागरिक, किसी भी उड़ान में सवार होने से पहले उनेहं अपनी नेगेटिव COVID-19 टेस्ट रिपोर्ट प्रस्तुत करनी होगी, भले ही उनके टीकाकरण की स्थिति कुछ भी हो. CDS का कहना है कि अगर COVID ​​​​-19 के लिए किसी व्यक्ति की COVID टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आती है, तो उसे 10 दिनों के लिए अलग रखा जाएगा.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

6 + 4 =
Post

Comments