Search

इंग्लैंड ने पहली बार जीता क्रिकेट विश्व कप का खिताब, विश्व कप फाइनल में पहली बार सुपर ओवर

इंग्लैंड ने क्रिकेट विश्व कप के 44 वर्षों के इतिहास में पहली बार विश्व कप जीता है. इंग्लैंड ने इससे पहले कभी इस मुकाम तक नहीं पहुंच पाया था. इंग्लैंड को अपने घर पर विश्व कप जीतने का सुनहरा मौका मिला.

Jul 15, 2019 11:59 IST

इंग्लैंड क्रिकेट टीम ने इतिहास रचते हुए पहली बार विश्व चैम्पियन बन गई है. इंग्लैंड ने फाइनल में न्यूजीलैंड टीम को हराते हुए आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 की ट्रॉफी पर कब्जा जमाया है.

इंग्लैंड ने क्रिकेट विश्व कप के 44 वर्षों के इतिहास में पहली बार विश्व कप जीता है. इंग्लैंड ने इससे पहले कभी इस मुकाम तक नहीं पहुंच पाया था. इंग्लैंड को अपने घर पर विश्व कप जीतने का सुनहरा मौका मिला.

एक नजर मैच पर

इंग्लैंड के लॉर्ड्स में विश्व कप 2019 का फाइनल मुकाबला मेजबान इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया. न्यूजीलैंड की टीम ने मैच में पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवरों में 8 विकेट पर 241 रन बनाए. इंग्लैंड की टीम ने भी निर्धारित 50 ओवरों में 9 विकेट पर 241 रन ही बना सकी. इसके बाद सुपर ओवर का सहारा लिया गया.

इंग्लैंड के लिए बेन स्टोक्स और जोस बटलर ने ट्रेंट बोल्ट के सुपर ओवर में 15 रन स्कोर किए. न्यूजीलैंड की ओर से जेम्स नीशम और मार्टिन गप्टिल सुपर ओवर में जोफ्रा आर्चर का सामना करते हुए दोनों ने भी 6 गेंदों में 15 रन ही बनाए. इस तरह मैच फिर सुपर ओवर टाई पर छूटा. लेकिन इंग्लैंड की टीम ने बाउंड्री काउंट के आधार पर बाजी मार गई. न्यूजीलैंड का पहली बार विश्व विजेता बनने का सपना फिर से टूट गया.

विश्वकप फाइनल में पहली बार सुपर ओवर का प्रयोग

ये वनडे क्रिकेट के इतिहास में पहला सुपर ओवर था. उसमें में भी ये पहला ही मौका था जब कोई सुपर ओवर भी टाई हुआ हो. इससे पहले किसी भी आईसीसी टूर्नामेंट के फाइनल में सुपर ओवर से फैसला नहीं हुआ था.

जो भी टीम सुपर ओवर में ज्यादा रन बनाती है वो जीत जाती है. लेकिन यदि सुपर ओवर में भी स्कोर बराबर हो जाए तो वो टीम जीतती है, जिसने अपनी पारी के दौरान ज्यादा बाउंड्री लगाई थी. सुपर ओवर मिलाकर जो टीम ज्यादा बाउंड्री लगाती है, जीत उसकी होती है.

फाइनल में लगातार दूसरी हार

न्यूजीलैंड को विश्व कप के फाइनल में ये लगातार दूसरी हार है. न्यूजीलैंड को इससे पहले विश्व कप 2015 के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार का सामना करना पड़ा था. बहरहाल, इंग्लैंड की टीम ने चौथी बार फाइनल खेलने उतरी थी. इंग्लैंड टीम को इससे पहले तीन बार फाइनल में हार झेलने पड़ी है. इंग्लैंड को साल 1979 विश्व कप के फाइनल में वेस्टइंडीज, साल 1987 विश्व कप के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया और साल 1992 विश्व कप के फाइनल में पाकिस्तान ने मात दी थी.

यह भी पढ़ें: राशिद खान बने अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान

विश्व कप में सबसे ज्यादा खिताब जीतने वाली टीम

ऑस्ट्रेलिया विश्व कप में सबसे ज्यादा खिताब जीतने वाली टीम है. ऑस्ट्रेलिया ने पांच बार क्रिकेट विश्व कप का खिताब जीता है. ऑस्ट्रेलिया ने साल 1987, साल 1999, साल 2003, साल 2007 और साल 2015 में ये पांच खिताब जीते हैं. वहीं, इस मामले में दूसरे नंबर पर भारतीय टीम और वेस्टइंडीज का नाम हैं, जिन्होंने दो-दो खिताब जीते हैं. वेस्टइंडीज ने साल 1975 और साल 1979 का खिताब जीता था. भारतीय टीम ने साल 1983 और साल 2011 के विश्व कप की विजेता है.

पाकिस्तान और श्रीलंका ने भी एक-एक खिताब अपने नाम किया है. पाकिस्तान ने साल 1992 में और श्रीलंका ने साल 1996 में विश्व कप का खिताब अपने नाम किया था. वहीं, इंग्लैंड की टीम ने इस बार बाजी मारकर पहला खिताब जीता है.

आर्टिकल अच्छा लगा? तो वीडियो भी जरुर देखें!

अपनी ही देश में फाइनल जीतने वाला तीसरा देश बना इंग्लैंड

भारत ने साल 2011 में इसकी शुरुआत की थी. भारत ने मुंबई के वानखेड़े में हुए फाइनल मुकाबले में श्रीलंका को हराकर विश्व कप पर कब्जा किया था. ऑस्ट्रेलिया ने साल 2015 में न्यूजीलैंड को हराते हुए विश्व कप का खिताब जीता था. साल 2015 का विश्व कप का फाइनल मुकाबला ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर खेला गया था.

यह भी पढ़ें: महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास की चर्चाएं हुईं तेज, जानें उनके पांच रिकार्ड जिन्हें तोड़ना लगभग असंभव

यह भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलिया विश्व कप इतिहास में पहली बार सेमीफाइनल में हारा

For Latest Current Affairs & GK, Click here