Search

FASTag in India: 01 दिसंबर से सभी वाहन मालिकों के लिए फास्टैग अनिवार्य

फास्टैग एक इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक है जो नेशनल हाईवे के टोल प्लाजा पर उपलब्ध है. यह तकनीक रेडिया ​फ्रिक्वेंसी आइडेन्टिफिकेशन (आरएफआईडी) के प्रिंसिपल पर काम करता है. 

Nov 22, 2019 09:00 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह (फास्टैग) कार्यक्रम, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय और भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) की एक बड़ी पहल, टोल प्लाजा पर बाधाओं को खत्म करने तथा यातायात की बेरोकटोक आवाजाही सुनिश्चित करने हेतु अखिल भारतीय स्‍तर पर लागू किया गया है. फास्टैग का उद्देश्य रेडियो फ्रीक्‍वेंसी आइडेंटिफिकेशन (आरएफआईडी) टेक्‍नोलॉजी का इस्‍तेमाल करते हुए अधिसूचित दरों के अनुसार उपयोग शुल्‍क एकत्र किया जा सके.

समय सीमा: मंत्रालय ने डिजीटल भुगतान को प्रोत्‍साहन देने तथा पारदर्शिता बढ़ाने हेतु राष्‍ट्रीय राजमार्गों पर शुल्‍क प्‍लाजा की सभी लेनों को 01 दिसंबर 2019 से ‘फास्‍टैग लेनों’ के रुप में घोषित करने का आदेश दिया है.  मंत्रालय ने एक लेन को हाइब्रिड लेन के रूप में रखने का प्रावधान किया है ताकि फास्‍टैग और अन्‍य तरीकों से अदायगी की जा सके.

01 दिसंबर 2019 से फास्टैग के लिए ऑनलाइन भुगतान करना अनिवार्य कर दिया गया है. 01 नवम्‍बर 2019 से कुछ पहचाने गए राष्‍ट्रीय राजमार्ग शुल्‍क प्‍लाजाओं पर ‘फास्‍टैग’ आदेश का ट्रायल शुरू करने का फैसला किया गया तथा यह धीरे-धीरे सभी शुल्‍क प्‍लाजाओं की ओर बढ़ रहा है.

जुर्माना: सरकार के राजपत्र की अधिसूचना के मुताबिक, राष्‍ट्रीय राजमार्ग शुल्‍क प्‍लाजा पर ‘फास्‍टैग’ के बिना अगर कोई भी वाहन ‘फास्‍टैग लेन’ में प्रवेश कर रहा है, तो उसे वाहन की उस श्रेणी हेतु लागू शुल्‍क के दोगुना शुल्‍क का भुगतान करना पड़ेगा.

फास्टैग कैसे खरीदें?

फास्‍टैग को विभिन्‍न बैंकों और आईएचएमसीएल/एनएचएआई द्वारा स्‍थापित 28,500 बिक्री केन्‍द्रों से खरीदा जा सकता है. इनमें राष्‍ट्रीय राजमार्ग के सभी शुल्‍क प्‍लाजा, आरटीओ, साझा सेवा केन्‍द्र, परिवहन केन्‍द्र, बैंक की शाखाएं और कुछ चुने हुए पेट्रोल पम्‍प आदि शामिल हैं.

खुदरा खंड (कार/जीप/वैन) हेतु फास्‍टैग एमेजोन और भिन्न-भिन्न सदस्‍य बैंकों जैसे एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, पैटीएम पेमेंट बैंक, एचडीएफसी बैंक, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक आदि की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन खरीदे जा सकते हैं. फास्‍टैग कुछ प्रमुख निजी बैंक जैसे आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक की शाखाओं पर भी उपलब्‍ध हैं.

फास्‍टैग के फायदे

फास्टैग का उपयोग करने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि टोल प्लाजा पर रुकने की कोई आवश्यकता नहीं होगी. भुगतान की सुविधा के कारण किसी को भी नकदी रखने की आवश्यकता नहीं है. यदि फास्टैग का उपयोग किया जाता है, तो टोल प्लाजा पर कागज का उपयोग भी कम होता है. लेन में वाहनों की लंबी लाइने कम होने के कारण से प्रदूषण भी कम होता है. फास्टैग के उपयोग पर कई तरह का कैशबैक और अन्य ऑफर भी मिलता है.

यह भी पढ़ें:केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लद्दाख क्षेत्र हेतु विंटर ग्रेड डीजल लॉन्च किया

My FASTag App

एनएचएआई के अनुसार, नजदीकी बिक्री केन्‍द्र का पता लगाने हेतु कोई भी My FASTag App डाउनलोड कर सकता है, www.ihmcl.com  वेबसाइट पर जा सकता है अथवा राष्‍ट्रीय राजमार्ग हेल्‍पलाइन नम्‍बर 1033 पर फोन कर सकता है.

भारतीय राष्‍ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण/आईएचएमसीएल ने रीचार्ज सुविधा हेतु My FASTag App के जरिए यूपीआई रीचार्ज सुविधा विकसित की है. फास्‍टैग को नेटबैंकिंग, क्रेडिट/डेबिट कार्ड, यूपीआई तथा अदायगी के अन्‍य लोकप्रिय तरीकों के जरिए सम्‍बद्ध बैंक के पोर्टल पर जाकर भी रीचार्ज कराया जा सकता है.

यह भी पढ़ें:जाने क्या है सबरीमाला केस, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने बड़ी बेंच को सौंपा 

यह भी पढ़ें:अब RTI के दायरे में आएगा भारत के चीफ जस्टिस का ऑफिस: सुप्रीम कोर्ट

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS