Search

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा का निधन, तीन दिन का राजकीय शोक

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा के निधन पर शोक जताया है. डॉ. जगन्नाथ मिश्रा तीन बार बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके थे.

Aug 19, 2019 14:40 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. जगन्नाथ मिश्रा का 19 अगस्त 2019 को दिल्ली में निधन हो गया. वे 83 साल के थे. वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे. उनका दिल्ली के एक अस्पताल में इलाज चल रहा था.

उनके निधन की खबर मिलते ही पूरे बिहार में शोक की लहर व्याप्त है. उनकी पत्नी वीणा मिश्रा का भी जनवरी 2019 में गुड़गांव के एक हॉस्पीटल में 73 वर्ष की आयु में निधन हो गया था.

तीन दिन का राजकीय शोक

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा के निधन पर शोक जताया है. केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी जगन्नाथ मिश्रा के निधन पर शोक जताया है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा की उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा. बिहार में जगन्नाथ मिश्रा के निधन पर तीन दिन के राजकीय शोक का घोषणा किया गया है.

तीन बार बिहार के मुख्यमंत्री

डॉ. जगन्नाथ मिश्रा तीन बार बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके थे. वे साल 1975 में पहली बार बिहार के मुख्यमंत्री बने थे. वे दूसरी बार साल 1980 में बिहार के मुख्यमंत्री बने थे. वे फिर तीसरी बार साल 1989 से साल 1990 तक बिहार के मुख्यमंत्री रहे थे.

चारा घोटाले से बरी

सीबीआइ की कोर्ट ने साल 2013 में उन्हें चारा घोटाले में दोषी करार दिया था.  उन्हें बाद में जमानत पर बरी कर दिया गया था. सीबीआई अदालत ने डॉ जगन्नाथ मिश्रा को चार साल की सजा सुनाई थी. साथ ही दो लाख रुपये का आर्थिक जुर्माना भी लगाया गया था.

चारा घोटाला: चारा घोटाला बिहार का सबसे बड़ा भ्रष्टाचार घोटाला था जिसमें पशुओं को खिलाये जाने वाले चारे के नाम पर करीब 950 करोड़ रुपये सरकारी खजाने से फर्जीवाड़ा करके निकाल लिये गये थे.

जगन्नाथ मिश्रा के बारे में

जगन्नाथ मिश्रा का जन्म सुपौल जिले के बलुआ बाजार में 24 जून 1937 को हुआ हुआ था.

उन्होंने प्रोफेसर के रूप में अपना करियर शुरू किया था और बाद में बिहार विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर बने थे.

वे विश्वविद्याल में पढ़ाने के दौरान ही भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में शामिल हुए थे. उनकी रुचि राजनीति में बचपन से ही थी.

जगन्नाथ मिश्रा का नाम बिहार में बड़े नेताओं के रूप में जाना जाता है. वे कांग्रेस छोड़ने के बाद, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए और फिर जनता दल (यूनाइटेड) में भी शामिल हुए थे.

वे 90 के दशक के मध्य केंद्रीय कैबिनेट मंत्री भी रह चुके है. वे बिहार में कांग्रेस के आखिरी मुख्यमंत्री थे.

यह भी पढ़ें: पद्मश्री से सम्मानित समाजसेवी दामोदर गणेश बापट का निधन

करेंट अफेयर्स ऐप से करें कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी |अभी डाउनलोड करें|IOS