NCERT और Google ने छात्रों के लिए 'डिजिटल सिटीज़नशिप’ कोर्स आरंभ किया

Feb 8, 2018 09:56 IST

गूगल इंडिया ने 06 फरवरी 2018 को राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) के साथ भागीदारी में स्कूलों में सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) पाठ्यक्रम में 'डिजिटल सिटीज़नशिप और सुरक्षा' पर एक पाठ्यक्रम को एकीकृत करने की घोषणा की है.

इस कार्यक्रम का उद्देश्य छात्रों को जिम्मेदार नागरिक बनाना तथा उन्हें साइबर क्राइम से दूर रहने के लिए तैयार करना है. इस विषय पर एनसीईआरटी एवं गूगल द्वारा की जा रही इस पहल का विभिन्न स्कूलों में कार्यान्वयन किया जायेगा.

डिजिटल सिटीज़नशिप कार्यक्रम

•    इसके लिए देशभर के 14 लाख स्कूल्स में एक कोर्स शुरू किया जाएगा. इसकी शुरुआत अप्रैल 2018 से होगी.

•    इस कार्यक्रम के तहत कक्षा एक से लेकर कक्षा बारहवीं तक के छात्रों को इंटरनेट पर सेफ, स्मार्ट तरीके से इंटरनेट का इस्तेमाल और डिजिटल दुनिया में सकारात्मक सोच की शिक्षा दी जाएगी.

•    इस दौरान बच्चों को सोशल मीडिया के कानूनी पहलुओं के बारे में भी जानकारी भी दी जाएगी.

•    अलग-अलग आयु वर्ग के छात्रों के लिए विभिन्न कोर्सेज शुरू किए हैं जिनमें इंटरनेट सुरक्षा के सामाजिक, नैतिक और कानूनी पहलुओं के बारे में जानकारी दी जाएगी.

•    गूगल ने अध्यापकों के लिए भी पाठ्यक्रम बनाया है जिसकी सहायता से टीचर्स डिजिटल सिटिजनशिप को समझ सकेंगे.

•    गूगल की इस पहल जो लोग पहली बार ऑनलाइन हो रहे हैं उन्हें वेब पर संभावित नकारात्मक अनुभवों के बारे भी में पता लगेगा.

 

यह भी पढ़ें: यूजीसी ने 123 शिक्षण संस्थानों का 'विश्वविद्यालय' का दर्जा समाप्त किया

कैसा होगा पाठ्यक्रम

पाठ्यक्रम में प्रस्तुत ऑनलाइन सुरक्षा के पाठ्यक्रम को व्यवस्थित रूप से वर्गीकृत किया जाएगा और इसे चार व्यापक विषयों में बांटा जाएगा, जिसमें स्मार्ट होने, सुरक्षित होने, एक डिजिटल नागरिक होने और भविष्य के लिए तैयार होने के पाठ हैं. इस पाठ्यक्रम को बच्चों के विभिन्न आयु वर्ग के बौद्धिक और जिज्ञासा की जरूरतों के अनुरूप तैयार किया गया है.

एनसीईआरटी

राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद् (एन.सी.ई.आर.टी.) की स्थापना भारत सरकार द्वारा वर्ष 1961 में देश में विद्यालयी शिक्षा में गुणात्मक सुधार लाने की दृष्टि से की गई थी. या संगठन भारत में स्कूली शिक्षा से संबंधित सभी नीतियों पर कार्य करता है. शिक्षा

परिषद के मुख्य उद्देश्य हैं:

•    शैक्षिक अनुसंधान को बढ़ावा देने और अभिनव विचारों और अभ्यासों का प्रयोग करना.

•    राष्ट्रीय पाठ्यक्रम ढांचा (NCF 2005) को विकसित करना.

•    प्री-सर्विस और इन-सर्विस शिक्षक शिक्षा और राष्ट्रीय और राज्य स्तर के कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण प्रदान करना.

•    राज्य, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के साथ सहयोग करना.


यह भी पढ़ें: भारत ने पृथ्वी-2 मिसाइल का सफल प्रक्षेपण किया

Is this article important for exams ? Yes7 People Agreed

Commented

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below