Search

Google Doodle: चांद पर अमेरिकी मिशन अपोलो 11 के 50 साल पूरे

अपोलो 11 मिशन के तहत नील आर्मस्ट्रांग ने पहली बार चंद्रमा की सतह पर कदम रखा था. ये विश्वभर के लिए गर्व का दिन था. गूगल ने इसी मौके पर एक खास डूडल बनाया है.

Jul 19, 2019 12:31 IST

गूगल ने अपोलो 11 मिशन के 50 साल पूरे होने पर डूडल बनाकर याद किया है. नासा के इस मिशन में पहली बार चंद्रमा पर इंसान को उतरा गया था. अपोलो 11 मिशन के तहत नील आर्मस्ट्रांग ने पहली बार चंद्रमा की सतह पर कदम रखा था. ये विश्वभर के लिए गर्व का दिन था. गूगल ने इसी मौके पर एक खास डूडल बनाया है.

अपोलो का शुरुआती सफर 16 जुलाई 1969 को शुरू हुआ था और आज इसको पूरे 50 साल हो गए हैं. इस मिशन को नेडी स्पेस सेंटर के केप कनावेरल, फ्लोरिडा स्थित पैड से लॉन्च किया गया था.

गूगल ने डूडल बनया

गूगल ने अपने डूडल में एक प्ले का बटन दिया है. इस बटन को दबाने से अपोलो 11 मिशन के सफर एक वीडियो के तहत दिखाया गया है. इस वीडियो में अपोलो 11 मिशन से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी को दिखाया है. इसमें अपोलो 11 के पायलट माइकल कोलिन्स ने अवाज दी है. गूगल डूडल पर शेयर किया गया यह वीडियो करीब 4 मिनट 37 सेकेंड का है.

चांद की सतह पर पहला कदम

नासा ने नील आर्मस्ट्रांग के साथ बज एल्ड्रिन को अपोलो 11 मिशन पर भेजा था. नील आर्मस्ट्रांग ने चांद की सतह पर अपना पहला कदम रखा था. इस मिशन को सफल बनाने में नील आर्मस्ट्रांग के साथ हजारों वैज्ञानिकों ने मेहनत की थी. अमेरिका 1960 के दशक में एक ऐसा देश था, जिसने चांद पर पहली बार किसी इंसान को भेजा था. अमेरिका ने यह उपलब्धि जॉन एफ कैनेडी के समय पूरी की थी.

आर्टिकल अच्छा लगा? तो वीडियो भी जरुर देखें!

अपोलो 11: चांद की सतह पर निरीक्षण करने वाला पहला मिशन

अपोलो 11 में चांद की सतह पर वैज्ञानिक घटनाओं का निरीक्षण करने वाला पहला मिशन था. यह मिशन अमेरिका का मानव इतिहास और अंतरिक्ष अनुसंधान के इतिहास में एक बडी उपलब्धी के रूप में देखा जाता है. अपोलो 11 को 1969 में कैनेडी स्पेस सेंटर लॉन्च कॉम्प्लेक्स 39A से भारतीय समयानुसार सुबह 08:32 पर लॉन्च किया गया था. इस मिशन का उद्देश्य तीन अंतरिक्षयात्री द्वारा पृथ्वी की वृत्तीय कक्षा में परिक्रमा और संभव होने पर चन्द्रमा पर अवतरण था.

नासा ने अपोलो 11 मिशन में कमांड मॉड्यूल कोलिंस ने चांद से लगभग 60 मील दूर कक्षा में स्थापित किया है. अपोलो 11 का मिशन उद्देश्य मानव को चांद की सतह पर ले जाने और फिर उन्हें सुरक्षित रूप से पृथ्वी पर वापस लाने का था. अंतरिक्ष यान में तीन चालक दलों को ले जाया गया. इसमें मिशन कमांडर नील आर्मस्ट्रांग, कमांड मॉड्यूल पायलट माइकल कोलिन्स तथा लूनर मॉड्यूल पायलट एडविन ई. एल्ड्रिन जूनियर शामिल थे.

यह भी पढ़ें:अमरीश पूरी की 87वीं जयंती पर गूगल ने डूडल बनाकर किया याद

यह भी पढ़ें:अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 2019: हर महिला को समर्पित एक दिन

For Latest Current Affairs & GK, Click here