Search

आईएमएफ ने वैश्विक वृद्धि दर के अनुमान के साथ ब्रेक्सिट से खतरे की चेतावनी दी

यह मांग यूरोप में हो रहे प्रवास एवं यूरो के गिरते स्तर के कारण भी अधिक उठी. हाल ही में किये गये विभिन्न सर्वेक्षणों में पाया गया कि ब्रिटेन के अधिकतर लोग यूरोपियन यूनियन से बाहर होना चाहते हैं.

Apr 14, 2016 11:25 IST

ब्रेक्सिट: ब्रिटेन एवं एग्जिट से मिलकर बना शब्द

‘ब्रिटेन’ एवं ‘एग्जिट’ से मिलकर बना शब्द ब्रेक्सिट अप्रैल 2016 में चर्चा में रहा. यह उस समय चर्चा में आया जब अन्तरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने 12 अप्रैल 2016 को ब्रिटेन द्वारा यूरोपियन यूनियन से बाहर होने पर वैश्विक वृद्धि दर हेतु चेतावनी जारी की गयी.

आईएमएफ के अनुसार ब्रिटेन की जनता ने जनमत संग्रह द्वारा यूरोपियन यूनियन से बाहर होने का निर्णय लिया जिससे क्षेत्रीय एवं वैश्विक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है.

ब्रेक्सिट दरअसल कुछ चुनिंदा राजनैतिक व्यक्तियों एवं पार्टियों जैसे जस्टिस सेक्रेटरी मिशेल गोव, लंदन के मेयर बोरिस जॉनसन द्वारा उठाया गया मुद्दा है. उनके अनुसार ब्रिटेन के यूरोपियन यूनियन के बाहर होने से ब्रिटेन को फायदा होगा.


यह मांग यूरोप में हो रहे प्रवास एवं यूरो के गिरते स्तर के कारण भी अधिक उठी. हाल ही में किये गये विभिन्न सर्वेक्षणों में पाया गया कि ब्रिटेन के अधिकतर लोग यूरोपियन यूनियन से बाहर होना चाहते हैं.

इसके परिणामस्वरूप ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरून ने 20 फरवरी 2016 को घोषणा की कि ब्रिटेन द्वारा यूरोपियन यूनियन में बने रहने या ना बने रहने के लिए 23 जून 2016 को जनमत संग्रह कराया जायेगा.

Now get latest Current Affairs on mobile, Download # 1  Current Affairs App