भारत एमटीसीआर (MTCR) का 35वां सदस्य बना

इसके तहत भारत मिसाइल प्रौद्योगिकी नियंत्रण व्यवस्था (एमटीसीआर) में पूर्ण सदस्य के तौर पर शामिल हो गया. भारत की ओर से विदेश सचिव जयशंकर ने इस पर हस्ताक्षर किए.

Created On: Jun 27, 2016 19:09 ISTModified On: Jun 28, 2016 17:49 IST

MTCR

भारत 27 जून 2016 को मिसाइल प्रौद्योगिकी नियंत्रण व्यवस्था/एमटीसीआर (MTCR) का 35वां सदस्य बना. भारत की ओर से विदेश सचिव जयशंकर ने इसपर हस्ताक्षर किए.

इसके तहत भारत मिसाइल प्रौद्योगिकी नियंत्रण व्यवस्था (एमटीसीआर) में पूर्ण सदस्य के तौर पर शामिल हो गया. भारत के विदेश सचिव एस जयशंकर ने फ्रांस के राजदूत एलेग्जेंडर जीगलर, नीदरलैंड के राजदूत एल्फोनस स्टोलिंगा और लग्जमबर्ग के प्रभारी (चार्ज डी एफेयर्स) लॉरे हुबर्टी की मौजूदगी में इसके सदस्यता पत्र पर हस्ताक्षर किए.

महत्वपूर्ण तथ्य:
•    भारत की सदस्यता का 34 सदस्य देशों ने समर्थन किया.
•    चीन एमटीसीआर का सदस्य नहीं है.
•    अमेरिका के साथ असैन्य परमाणु संधि के बाद से ही भारत एनएसजी, एमटीसीआर, द ऑस्ट्रेलिया ग्रुप और वासेनार अरेंजमेंट जैसे निर्यात नियंत्रण समूहों में प्रवेश की कोशिश करता रहा है.
•    ये समूह पारंपरिक, परमाणु, जैविक एवं रासायनिक हथियारों और प्रौद्योगिकियों का नियमन करते हैं.
•    एमटीसीआर की सदस्यता अब भारत को उच्च स्तरीय मिसाइल प्रौद्योगिकी खरीदने और रूस के साथ अपने साझा उपक्रमों को बढ़ाने का अवसर देगी.
•    एमटीसीआर का उद्देश्य मिसाइलों, पूर्ण रॉकेट तंत्रों, मानवरहित वायुयानों और कम से कम 300 किलोमीटर तक 500 किलो वजन का पेलोड ले जा सकने वाली प्रणालियों के प्रसार को रोकना है.
•    इसके साथ ही इसका उद्देश्य सामूहिक जनसंहार के हथियारों की आपूर्ति के लिए बनी प्रणालियों को भी रोकना है.

 

Now get latest Current Affairs on mobile, Download # 1  Current Affairs App

 

भारत कॉरपोरेट धोखाधड़ी की 'मेरिट लिस्ट' में तीसरे स्थान पर


पनामा नहर को विस्तार कार्य के बाद पुनः व्यापारिक यातायात हेतु खोला गया

 

 

 

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Related Stories

Post Comment

3 + 3 =
Post

Comments