हिमा दास ने 400 मीटर दौड़ में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचा

भारतीय धाविका हिमा दास से पहले भारत की कोई महिला या पुरुष खिलाड़ी जूनियर या सीनियर किसी भी स्तर पर विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण या कोई मेडल नहीं जीत सका था.

Created On: Jul 13, 2018 10:08 ISTModified On: Jul 13, 2018 10:17 IST
हिमा दास

भारतीय तेज धाविका हिमा दास ने 12 जुलाई 2018 को इतिहास रचा. उन्होंने आईएएएफ वर्ल्ड अंडर-20 ऐथलेटिक्स चैंपियनशिप के 400 मीटर फाइनल में गोल्ड स्वर्ण पदक जीता. वह ट्रैक इवेंट में स्वर्ण पदक जीतने वालीं पहली भारतीय एथलीट हैं.

हिमा दास से पहले भारत की कोई महिला या पुरुष खिलाड़ी जूनियर या सीनियर किसी भी स्तर पर विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण या कोई मेडल नहीं जीत सका था.

मुख्य बिंदु

•    चौथे नंबर की लेन में दौड़ रही हिमा दास अंतिम राउंड में रोमानिया की आंद्रिया मिकलोस से पिछड़ रही थी लेकिन फिनिश लाइन के नजदीक आकार उन्होंने तेज़ी दिखाते हुए पहला स्थान हासिल किया.

•    अठारह वर्षीय दास ने 51.46 सेकंड का समय निकालकर टॉप पोजीशन हासिल की.

•    उन्होंने सेमीफाइनल में भी 52.10 सेकंड का समय निकालकर टॉप किया था. पहले राउंड में  उन्होंने 52.25 सेकंड का रेकॉर्ड समय निकाला था.

•    हिमा हालांकि 51.13 सेकेंड के अपने निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन से पीछे रही.

•    मिकलोस ने 52 .07 सेकेंड के साथ रजत पदक हासिल किया जबकि अमेरिका की टेलर मेनसन ने 52 .28 सेकेंड के साथ कांस्य पदक जीता.

स्मरणीय तथ्य

आईएएएफ में स्वर्ण पदक जीतकर हिमा, भाला फेंक के स्टार खिलाड़ी नीरज चोपड़ा की सूची में शामिल हो गई जिन्होंने 2016 में विश्व रिकार्ड प्रयास के साथ स्वर्ण पदक जीता था. विश्व जूनियर चैंपियनशिप में भारत के लिए इससे पहले सीमा पूनिया (2002 में चक्का फेंक में कांस्य) और नवजीत कौर ढिल्लो (2014 में चक्का फेंक में कांस्य) पदक जीत चुके हैं.


हिमा दास के बारे में जानकारी

•    18 वर्षीय हिमा दास का जन्म 9 जनवरी 2000 को असम के नोगांव में हुआ.

•    उन्होंने स्थानीय विद्यालय से ही स्कूली शिक्षा प्राप्त की. उनके पिता धान की खेती करते हैं.

•    हिम दास ने आईएएएफ में स्वर्ण पदक जीतने से केवल 18 माह पहले ही जिला स्तर पर दौड़ प्रतियोगिताओं में भाग लेना आरंभ किया था.

•    हिमा ने स्थानीय लड़कों के साथ फुटबॉल, किक बॉल आदि खेलना आरंभ किया था.

•    हिमा को एक जिला प्रतियोगिता में दौड़ते हुए देखने पर उनके वर्तमान कोच निपोन ने उन्हें एथलेटिक्स में प्रशिक्षित किया.

 

यह भी पढ़ें: हरियाणा सरकार द्वारा महिलाओं की सुरक्षा और सशक्तिकरण हेतु दस घोषणाएं

 

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

1 + 3 =
Post

Comments