Search

जानिए क्या है अंतरराष्ट्रीय नशा निषेध दिवस और इसे क्यों मनाया जाता है?

ड्रग्स के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय दिवस का मुख्य एजेंडा जनता में इसके अवैध उत्पादन और उनके सेवन के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित करना तथा इसकी अवैध तस्करी और इससे जुड़े खतरों के बारे में लोगों को अवगत कराना है.

Jun 26, 2019 15:19 IST

26 जून: नशीली दवाओं के सेवन और अवैध तस्करी के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय दिवस

विश्वभर में 26 जून 2019 को नशीली दवाओं के सेवन और अवैध तस्करी के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय दिवस मनाया गया. इस दिन नशे की चपेट में आने वाले लोगों को जागरुक किया जाता है. नशीली दवाओं के सेवन और अवैध तस्करी के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय दिवस मनाया जा रहा है. हाल के दिनों में नशा करने वालों की संख्या बढ़ी है.

ड्रग्स के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय दिवस का मुख्य एजेंडा जनता में इसके अवैध उत्पादन और उनके सेवन के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित करना तथा इसकी अवैध तस्करी और इससे जुड़े खतरों के बारे में लोगों को अवगत कराना है.

इस वर्ष की थीम:-


इस वर्ष अंतरराष्ट्रीय नशा निषेध दिवस की थीम न्याय के लिए स्वास्थ्य, स्वास्थ्य के लिए न्याय’ (health for justice, justice for health) है. इस बार की थीम लोगों से अपनी स्वास्थ्य के साथ न्याय करने की अपील करती है.

उद्देश्य

इस दिवस का मुख्य उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नशीली दवाओं से छुटकारा पाना है तथा समाज में सशक्तिकरण लाना है. इस दिन विभिन्न संगठन अवैध ड्रग्स की चुनौतियों को शांतिपूर्वक संबोधित करने पर जोर देते हैं. उनका मूल सिद्धांत युवाओं की रक्षा करना और मानव जाति के कल्याण को बढ़ावा देना है. यूएनओडीसी ने इस दिन वैश्विक दवा समस्या के बारे में जागरूकता बढ़ाने हेतु अभियान शुरू किया था. प्रत्येक वर्ष संयुक्त राष्ट्र ड्रग्स और क्राइम कार्यालय (यूएनओडीसी) इस दिन के लिए एक विषय (थीम) का चयन करता है.

यह भी पढ़ें: विश्व रक्तदाता दिवस 2019: आज करें रक्तदान

ड्रग्स के दुरूपयोग:

ड्रग्स का सेवन या ड्रग्स की लत एक सामाजिक और मनोवैज्ञानिक समस्या है. ड्रग्स की लत न केवल पूरे विश्व के युवाओं को प्रभावित करती है बल्कि विभिन्न आयु के लोगों को भी प्रभावित करती है. यह व्यक्तियों और समाज को कई क्षेत्रों में नष्ट कर देती है. ऐसे ड्रग्स की लत के कारण भूख एवं वजन, कब्ज, चिंता का बढ़ना और चिड़चिड़ापन, नींद आना और कामकाज की हानि का गंभीर नुकसान होता है.

ड्रग्स की अवैध तस्करी

नशीले पदार्थों की तस्करी एक अंतरराष्ट्रीय अवैध व्यापार है. इसमें मूलभूत कानूनों के मुताबिक निषिद्ध पदार्थ, उत्पादन, खेती, प्रसार और बिक्री शामिल है. अंतरराष्ट्रीय व्यापार का यह अवैध व्यापर करीब 1 प्रतिशत होने का अनुमान है. उत्तरी व्यापार मार्ग और बाल्कन क्षेत्र मुख्य ड्रग ट्रैफिकिंग क्षेत्र हैं जो पूर्वी और पश्चिमी महाद्वीपों में अन्य अंतरराष्ट्रीय दवा बाजारों के बड़े बाजार में अफगानिस्तान को लिंक करते हैं.

आर्टिकल अच्छा लगा? तो वीडियो भी जरुर देखें!

संयुक्त राष्ट्र ड्रग्स और क्राइम कार्यालय (यूएनओडीसी):

संयुक्त राष्ट्र ड्रग्स और क्राइम कार्यालय (यूएनओडीसी) एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है. यह संगठन अवैध मादक पदार्थों के दुरुपयोग और उसके उत्पादन के खिलाफ लड़ रहा है जिसे एक अंतरराष्ट्रीय अपराध माना जाता है. इस संगठन को साल 1997 में संयुक्त राष्ट्र ड्रग कंट्रोल कार्यक्रम के साथ अंतर्राष्ट्रीय अपराध निवारण केंद्र में विलय करके स्थापित किया गया था.

अवैध नशीली दवाओं की तस्करी, अपराध दर में वृद्धि और अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद के खिलाफ संघर्ष में सदस्यों की सहायता करने में मदद के लिए संयुक्त राष्ट्र ड्रग्स और क्राइम कार्यालय अनिवार्य है.

संयुक्त राष्ट्र प्रस्ताव:

संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) द्वारा 07 दिसम्बर 1987 को प्रस्ताव 42/112 द्वारा 26 जून को नशीली दवाओं के सेवन के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय दिवस मनाये जाने की घोषणा की गयी. इस प्रस्ताव से साल 1987 के नशीली दवाओं के सेवन और अवैध तस्करी पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन को भी मजबूती प्राप्त हुई.

यह भी पढ़ें: विश्व पर्यावरण दिवस 05 जून को विश्व भर में मनाया गया

यह भी पढ़ें: विश्व तंबाकू निषेध दिवस 31 मई को विश्व भर में मनाया गया

For Latest Current Affairs & GK, Click here