Search

Jammu and Kashmir में पर्यटकों की आवाजाही पर दो महीने से जारी प्रतिबंध हटा

केंद्र सरकार ने 02 अगस्त 2019 को बड़े आतंकी हमले की आशंका पर एडवाइजरी जारी की थी. इस एडवाइजरी में पर्यटकों और अमरनाथ यात्रियों को तत्काल घाटी से लौटने हेतु कहा गया था.

Oct 10, 2019 17:01 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

जम्मू और कश्मीर सरकार ने 10 अक्टूबर 2019 से कश्मीर यात्रा पर लगा प्रतिबंध हटा दिया है. जम्मू-कश्मीर में पर्यटकों की आवाजाही पर पिछले दो महीने से प्रतिबंध लगा था. जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने कहा की पर्यटकों को प्रत्येक जरूरी सहायता मुहैया कराई जायेगी. जम्मू और कश्मीर को अब पहले की तरह ही पर्यटकों के लिए खोला जायेगा.

जम्मू और कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने 07 अक्टूबर 2019 को सुरक्षा समीक्षा बैठक के बाद पर्यटकों के प्रवेश पर प्रतिबंध हटाने का घोषणा किये थे. केंद्र सरकार ने 02 अगस्त 2019 को बड़े आतंकी हमले की आशंका पर एडवाइजरी जारी की थी. इस एडवाइजरी में पर्यटकों और अमरनाथ यात्रियों को तत्काल घाटी से लौटने हेतु कहा गया था.

केंद्र सरकार ने संसद में आर्टिकल 370 को रद्द करने का फैसला किया था. केंद्र सरकार ने इसी के साथ दो केंद्र शासित प्रदेशों का भी घोषणा किया था. सरकार ने किसी भी अप्रिय घटना से बचने हेतु घाटी में सभी फोन लाइन और मोबाइल सेवाओं पर भी रोक लगा दी थी. राज्य के काफी नेताओं को इस दौरान गिरफ्तार कर लिया गया था तथा किसी भी बवाल से बचने हेतु ज्यादा से ज्यादा सैनिकों को तैनात किया था.

फैसले से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा

राज्य सरकार के इस फैसले से पर्यटन को फिर से बढ़ावा मिलेगा. अब फिर से घरेलू पर्यटकों की संख्या में बढ़ोतरी होगी. घरेलू पर्यटकों ने घाटी के हालात को देखते हुए कश्मीर की ओर जाना लगभग बंद कर दिया है. राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने घाटी के हालात को सामान्य बनाने पर जोर दिया है. राज्यपाल ने बैठक में यह भी बताया कि हायर सेकेंडरी स्कूल, कॉलेज तथा विश्वविद्यालय खोल दिये गये हैं.

पृष्ठभूमि

केंद्र सरकार द्वारा अगस्त 2019 में बड़े पैमाने पर सुरक्षा प्रतिबंध लगाए गये थे. यह सुरक्षा प्रतिबंध जम्मू-कश्मीर के विशेष राज्य का दर्जा वापस लेने के बाद होने वाली किसी भी अनहोनी को रोकने हेतु लगाया गया था. हालांकि अब कुछ प्रतिबंधों में ढील दी गई है, लेकिन मोबाइल और इंटरनेट सेवाएं काफी हद तक अवरुद्ध हैं.

यह भी पढ़ें:जम्मू-कश्मीर के विभाजन की देखरेख हेतु तीन सदस्यीय समिति का गठन

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, जून में जम्मू और कश्मीर में लगभग 1.74 लाख पर्यटक तथार जुलाई में 1.52 लाख पर्यटक आये थे. हालांकि, अगस्त में प्रतिबंध लगाये जाने के बाद, कोई भी पर्यटक दो महीने से घाटी में नहीं गया है.

यह भी पढ़ें:श्रीनगर और जम्मू के मेयरों को राज्य मंत्री का दर्जा मिला

यह भी पढ़ें:सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर पर जल्द सुनवाई से किया इनकार

करेंट अफेयर्स ऐप से करें कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी,अभी डाउनलोड करें| Android|IOS

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS