Search

कश्मीर का लानुरा देश का पहला कैशलेस गांव बना

इस गांव के प्रत्येक परिवार में से लगभग एक व्यक्ति इलेक्ट्रॉनिक भुगतान प्रणाली (ईपीएस) से प्रशिक्षित है, अब तक इस प्रणाली के तहत 150 लोगों को प्रशिक्षित किया जा चुका है.

Dec 19, 2016 11:34 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

Budgam district of Jammu and Kashmir

लानुरा: कश्मीर स्थित देश का पहला कैशलेस गांव

जम्मू एवं कश्मीर के बडगांव जिले में स्थित लानुरा गांव देश का पहला कैशलेस गांव बना.

रिपोर्ट के अनुसार इस गांव के प्रत्येक परिवार में से लगभग एक व्यक्ति इलेक्ट्रॉनिक भुगतान प्रणाली (ईपीएस) से प्रशिक्षित है, अब तक इस प्रणाली के तहत 150 लोगों को प्रशिक्षित किया जा चुका है.

एक अधिकारिक वक्ता के अनुसार यह सफलता राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र (एनआईसी) के प्रयासों के कारण ही प्राप्त हुई. इसके अतिरिक्त सीएससी ई-गवर्नेन्स सर्विसेज इंडिया लिमिटेड डिजिटल वित्तीय समावेशन के उद्देश्य के तहत भी इस लक्ष्य को प्राप्त किया जा सका. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 8 नवम्बर 2016 को नोटबंदी की घोषणा किये जाने के बाद से ही सरकार लोगों को डिजिटल भुगतान के लिए प्रेरित कर रही है.

लानुरा गांव श्रीनगर से 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. यह गांव ब्लॉक खानसाहब में बगरू-बी पंचायत के तहत आता है.

बड़गांव जिला

•    बड़गांव को वर्ष 1979 में जिला घोषित किया गया था.

•    इससे पूर्व यह श्रीनगर जिले का ही भाग था. इससे पहले जब श्रीनगर अनंतनाग जिले का भाग था उस समय बड़गांव बारामुला जिले के अंतर्गत आता था.

•    यह कश्मीर की शिया बहुल आबादी के क्षेत्रों में से एक है.

•    वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार बड़गांव जिले की आबादी 735753 है. इतनी ही आबादी अमेरिका के अलास्का राज्य की अथवा पूरे गुयाना देश की है.     

•    यहां के लिंग अनुपात के अनुसार प्रत्येक 1000 पुरुषों पर 883 महिलाएं हैं.

कैशलेस अर्थव्यवस्था

इस प्रणाली के तहत सभी प्रकार के भुगतान डिजिटल तरीके से अथवा कार्ड या अन्य माध्यम से किये जाते हैं. मौजूदा नरेंद्र मोदी सरकार इस प्रणाली को देश में लागू कराने हेतु भरसक प्रयास कर रही है. अब तक भारत की अर्थव्यवस्था कैश भुगतान पर निर्भर थी.

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS